भाजपा ने छत्तीसगढ़ को नक्सल मुक्त बनाने समेत किए कई वादे संकल्प पत्र में - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 11 नवंबर 2018

भाजपा ने छत्तीसगढ़ को नक्सल मुक्त बनाने समेत किए कई वादे संकल्प पत्र में

bjp-makes-several-promises-including-making-naxalites-free-chhattisgarh
रायपुर, 10 नवम्बर, सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी ने अपने संकल्प पत्र में छत्तीसगढ़ को नक्सल मुक्त बनाने,60 वर्ष से अधिक के किसानों को एक हजार रूपए की पेंशन देने,मेधावी छात्राओं को स्कूटी देने तथा मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना में 50 हजार रूपए की मौजूदा बीमा राशि को बढ़ाकर एक लाख करने का वादा किया है। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने आज यहां प्रेस कान्फ्रेस में नवा छत्तीसगढ़ संकल्प पत्र जारी किया।इस मौके पर मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह,घोषणा पत्र समिति के अध्यक्ष बृजमोहन अग्रवाल,समिति के सदस्यगण भी मौजूद थे।श्री शाह ने इस अवसर पर पिछले 15 वर्षों में रमन सरकार की विभिन्न क्षेत्रों में उपलब्धियों का जहां जिक्र किया,वहीं मुख्यमंत्री डा.सिंह ने इसमें किए गए वादों का ब्योरा दिया।  संकल्प पत्र में 60 वर्ष के ऊपर के किसानों को एक हजार रूपए मासिक पेंशन देने,पांच वर्ष में दो लाख नए पम्प कनेक्शन देने,दलहन और तिलहन फसलों की न्यूनतम सर्मथन मूल्य पर खरीद करने,लघु वनोपज का न्यूनतम सर्मथन मूल्य बढ़ाकर डेढ़ गुना करने,प्रदेश को नक्सलवाद सें पूरी तरह से मुक्त बनाने का वादा किया गया है।  इसमें अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लिए गुरू घासी दास एवं अमर शहीद गुन्डूराव छात्रवृत्ति शुरू करने,निराश्रित पेंशन में वृद्धि करने,शहरी एवं ग्रामीण के लोगो को आवास मुहैया करवाने,नोनी सुरक्षा योजना में मिलने वाली एक लाख रूपए की राशि को बढ़ाकर दो लाख रूपए करने,कक्षा 9वीं में प्रवेश करने वाले छात्र छात्राओं को निशुल्क साईकिल देने,मेधावी छात्राओं को स्कूटी देने,कक्षा एक से 12 वी तक सभी छात्रो को निशुल्क पुस्तक एवं गणवेश देने का तथा महिलाओं को व्यापार के लिए दो लाख एवं महिला स्व सहायता समूहों पांच लाख रूपए बगैर ब्याज के देने का वादा किया गया है।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...