देश की थोक महंगाई दर अक्टूबर में 5.38 फीसदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 14 नवंबर 2018

देश की थोक महंगाई दर अक्टूबर में 5.38 फीसदी

inflation-rate-in-october-more-than-5-percent
नई दिल्ली 14 नवंबर,  थोक मूल्य सूचकांक (डब्ल्यूपीआई) पर आधारित देश की सालाना मुद्रास्फीति दर अक्टूबर में बढ़कर 5.28 फीसदी रही है, जबकि सितंबर में यह 5.13 फीसदी थी। केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक, साल-दर-साल आधार पर भी थोक मूल्य सूचकांक में वृद्धि दर्ज की गई है, जोकि साल 2017 के इसी महीने में 3.68 फीसदी थी। आंकड़ों से पता चलता है, "मासिक डब्ल्यूपीआई पर आधारित सालाना मुद्रास्फीति दर (अनंतिम) अक्टूबर में (साल 2017 के अक्टूबर की तुलना में) 5.28 फीसदी रही, जबकि इसके पिछले महीने यह 5.13 फीसदी (अनंतिम) और पिछले साल के अक्टूबर में 3.68 फीसदी रही थी।" वाणिज्य मंत्रालय के आधिकारिक बयान में कहा गया है, "चालू वित्त वर्ष में अबतक बिल्ड अप मुद्रास्फीति दर 4.64 फीसदी रही है, जबकि पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में यह 2.12 फीसदी थी।" क्रमिक आधार पर, प्राथमिक वस्तुओं पर खर्च 1.79 फीसदी बढ़ा है, जिसका सूचकांक में 22.62 फीसदी भार है। यह सितंबर में 2.97 फीसदी पर था। इसी प्रकार खाद्य पदार्थो की कीमतें गिरी हैं। इस श्रेणी का डब्ल्यूपीआई सूचकांक में भार 15.26 फीसदी है। हालांकि ईंधन और बिजली खंड, जिसका सूचकांक में भार 13.15 फीसदी है, में अक्टूबर में तेजी दर्ज की गई, जोकि 18.44 फीसदी रही। जबकि एक महीने पहले इसमें 16.65 फीसदी तेजी दर्ज की गई थी।

एक टिप्पणी भेजें