वादों पर खरा नहीं उतरे मोदी व उनकी सरकार : गुलाम नबी आजाद - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 3 नवंबर 2018

वादों पर खरा नहीं उतरे मोदी व उनकी सरकार : गुलाम नबी आजाद

modi-government-fail-ghulam-nabi-azad
जयपुर, तीन नवंबर, राज्यसभा में प्रतिपक्ष के नेता व कांग्रेस महासचिव गुलाम नबी आजाद ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व उनकी सरकार अपने वादों पर खरी नहीं उतरी है । इसके साथ ही उन्होंने मोदी की विदेश यात्राओं की उपयोगिता पर सवाल खड़ा किया और कहा कि प्रधानमंत्री घोटाला कर विदेश भागे एक भी आरोपी को वापस लाने में विफल रहे हैं। आजाद ने यहां संवाददाताओं से कहा,‘ दुर्भाग्य से हमारे मौजूदा प्रधानमंत्री व उनकी सरकार अपने वादों पर खरा नहीं उतरी। उसने लगभग कोई वादा भी पूरा नहीं किया। दर्जनों वादे थे । कालाधन वापस लाने का वादा बड़ा था। कालाधन तो आया नहीं बल्कि नीरव मोदी, (मेहुल) चौकसी व हवाई जहाज (विजय माल्या) वाले जैसे लोग सफेद धन भी यहां से लेकर चले गए।’ उन्होंने कहा कि मौजूदा प्रधानमंत्री की विदेश यात्राओं व विदेशों में उनके ‘प्रभाव’ की बड़ी चर्चा होती है लेकिन वह अपने इस कथित प्रभाव का इस्तेमाल कर एक भी भगोड़े अपराधी को वापस लाने में नहीं कर पाए हैं। 

आजाद ने कहा, ‘ सत्तर साल के इतिहास में पंडित नेहरू से लेकर अबतक जितने भी प्रधानमंत्री हुए हैं, उनमें मोदी अकेले ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने सबसे अधिक विदेश यात्रा की है । हमें उनके विदेश भ्रमण पर आपत्ति नहीं है । लेकिन प्रधानमंत्री कोई तफरीह के लिए नहीं घूमते । वह वहां देश का नेतृत्व करते हैं और उसकी प्रतिष्ठा बढ़ाते हैं .... तो इतना प्रभाव प्रधानमंत्री का होना चाहिए कि उसका लाभ देश को मिले।’ कांग्रेस नेता ने कहा,‘लोग करोड़ों करोड़ रुपये लेकर भाग गए और उनमें से एक को भी केंद्र सरकार वापस नहीं ला पायी, तो प्रधानमंत्री के इतना घूमने का क्या फायदा? लोग जनता के खून पसीने की कमाई बैंकों से लेकर भाग गए और प्रधानमंत्री उनमें से एक को भी वापस लाने के लिए अपने प्रभाव का इस्तेमाल सम्बद्ध देश के राष्ट्राध्यक्षों पर नहीं बना सके।’ इसके साथ ही गुलाम नबी आजाद ने रोजगार, स्मार्ट सिटी, महिला सुरक्षा व किसानों की समस्याओं जैसे मुद्दों का जिक्र करते हुए केंद्र की मोदी व राज्य की वसुंधरा राजे सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकार वादे एक ही तरह से करते हैं लेकिन उनको पूरा नहीं कर पाते। राज्य के पढ़े लिखे युवाओं का केंद्र व राज्य सरकार में कोई भरोसा नहीं रहा।’ इस बीच प्रदेश कांग्रेस ने 'राजस्थान का रिपोर्ट कार्ड' श्रृंखला में पहली रिपोर्ट शनिवार को जारी की जो सादुलशहर विधानसभा क्षेत्र पर है। पार्टी का कहना है कि इस श्रृंखला में वह राज्य की सभी विधानसभा क्षेत्रों में वसुंधरा सरकार के पांच साल के कार्यकाल के दौरान 'प्रशासन की कथनी और करनी‘ की वास्तविकता को बताएगी।
एक टिप्पणी भेजें