अगस्ता वेस्टलैंड : बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल को पांच दिन की सीबीआई हिरासत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 5 दिसंबर 2018

अगस्ता वेस्टलैंड : बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल को पांच दिन की सीबीआई हिरासत

agustawestland-intermediaries-christian-mitchell-gets-five-day-cbi-custody
नयी दिल्ली, 05 दिसम्बर, केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की विशेष अदालत ने अगस्ता वेस्टलैंड मामले में बिचौलिये क्रिश्चियन मिशेल को पांच दिन की सीबीआई हिरासत में भेजा है। मिशेल को मंगलवार रात दुबई से प्रत्यर्पित कर भारत लाया गया था। उसे बुधवार को पटियाला हाउस स्थित सीबीआई की विशेष अदालत में पेश किया गया। अदालत ने मिशेल को पांच दिन की सीबीआई हिरासत में भेज दिया। सीबीआई की तरफ से अदालत में पेश हुए अधिवक्ता डी पी सिंह ने कहा कि इस मामले की जांच चल रही है और वह मिशेल से पूछताछ के लिए हिरासत चाहते हैं। मिशेल के प्रत्यर्पण की मंजूरी पिछले महीने ही मिली थी। मिशेल की तरफ से अदालत में हाजिर हुए वकील अल्जो के जोसफ ने जमानत याचिका पेश की। अदालत ने अगली सुनवाई तक जमानत याचिका लंबित रखी। अदालत ने वकील को मिशेल से सुबह एक घंटे और शाम को एक घंटे मुलाकात करने की इजाजत दी है। इस दौरान वह मुवक्किल से परामर्श कर सकेंगे। यह मामला इटली की कंपनी अगस्ता वेस्टलैंड के साथ हेलिकाॅप्टर सौदे से जुड़ा हुआ है। मिशेल पर आरोप है कि इस सौदे में उसे कथित रिश्वत के रुप में सवा दो सौ करोड़ रुपए मिले हैं। सीबीआई ने उससे मंगलवार रात अपने मुख्यालय में पूछताछ की। अगस्ता वेस्टलैंड हेलिकाॅप्टर का सौदा केंद्र में मनमोहन सिंह की अगुआई वाली संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन(संप्रग) सरकार के कार्यकाल के दौरान 2007 में हुआ। इसके तहत कुल 12 वीवीआईपी हेलिकाॅप्टर खरीदने का सौदा किया गया था। रिश्वत का आरोप लगने पर छह साल बाद हेलिकाॅप्टर खरीद सौदे को तोड़ दिया गया था। चौवन वर्षीय मिशेल को इंटरपोल के नोटिस के बाद पिछले साल गिरफ्तार किया गया था। उसे भारत लाने में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल की अहम भूमिका रही। श्री डोभाल की देखरेख में ही मिशेल के प्रत्यर्पण की कार्रवाई पूरी की गई है ।  इस मामले में 2016 में पूर्व वायुसेना प्रमुख एस पी त्यागी गिरफ्तार भी किए जा चुके हैं। फिलहाल वह जमानत पर हैं। राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर विपक्ष के आरोपों से घिरी नरेंद्र मोदी सरकार को मिशेल के प्रत्यर्पण से कुछ राहत मिलने की उम्मीद है। 
एक टिप्पणी भेजें