दुमका : भीम राव अंबेडकर आवास योजना लाभुक सम्मेलन का आयोजन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 8 दिसंबर 2018

दुमका : भीम राव अंबेडकर आवास योजना लाभुक सम्मेलन का आयोजन

बाबा साहेब भीमराव अंबेदकर की 125 वीं जयंति के अवसर पर अंबेदकर आवास योजना लाभुक सम्मेलन में एकमुश्त 1712 विधवा माताओं-बहनो को आवास की दी गई स्वीकृति
ambedkar-awas-yojna-dumka
दुमका (अमरेन्द्र सुमन)  बाबा साहेब भीमराव अंबेदकर की 125 वीं जयंति के अवसर पर आउटडोर स्टेडियम, दुमका में बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर आवास योजना लाभुक सम्मेलन का आयोजन किया गया। मुख्य अतिथि के रूप में समाज कल्याण मंत्री डॉ लुईस मरांडी इस अवसर पर उपस्थित थीं। बाबा साहेब भीमराव अंबेदकर आवास योजना लाभुक सम्मेलन के दौरान एक मुश्त शत प्रतिशत 1712 विधवा माताओं-बहनो को आवास की स्वीकृति प्रदान की गई। कुछ लाभुकों को मुख्य अतिथि मंत्री डाॅ. लुईस मराण्डी द्वारा स्वीकृति पत्र भी वितरित किया गया। इस अवसर पर समाज कल्याण मंत्री ने कहा कि सरकार विधवा माताआ,ें बहनों को सम्मान देने का कार्य कर रही है। मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व में विधवा माताओं-बहनों को अंबेडकर आवास योजना के तहत रहने के लिए छत उपलब्ध कराने का कार्य किया जा रहा है। देश की आधी आबादी महिलाओं की है। देश और समाजकी उन्नति तभी हो सकती है जब महिलाओं की उन्नति हो। उनके सम्मान की रक्षा की जाए। मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से महिलाओं को सम्मान देने का कार्य किया है। उज्जवला योजना के माध्यम से योग्य महिलाओं को गैस कनेक्शन व राज्य सरकार द्वारा गैस कनेक्शन के साथ मुफ्त चूल्हा भी दिया जा रहा है। कोई भी योग्य महिला किसी भी जन कल्याणकारी योजनाओं से वंचित नहीं रहेंगी। जिन्हें उज्जवला योजना के तहत गैस नहीं मिल सका है, उन्हें भी जल्द गैस उपलब्ध कराया जाएगा। 

शौचालय, आवास, गैस यह सभी बुनियादी जरूरतें हैं। सरकार सभी बुनियादी जरूरतों को पूरा करने का कार्य कर रही है। सरकार गरीबों के लिए समर्पित है। इस तरह का आयोजन सरकार की विश्वसनीयता को बनाने में मील का पत्थर साबित होगा। जिला प्रशासन की टीम को धन्यवाद देती हूं। आप की हर परेशानियों को दूर करना सरकार की प्राथमिकता है। अंबेडकर आवास विधवा बहनों का सहारा है। समस्याओ का समाधान व लोगों की परेशानियों को दूर करना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। जब 100 प्रतिषत उपलब्धियाँ धरातल पर दिखने लगती है तो लोग सरकार को दिल से धन्यवाद देते हैं। उन्होंने कहा कि सरकार की सभी कल्याणकारी योजनाएँ लाभुकों को आच्छादित करने के लिये ही है। दुमका राज्य का पहला जिला होगा जहां अंबेडकर आवास योजना के श््रात प्रतिषत 1712 लाभुकों को एकमुश्त स्वीकृति दी गई है। सरकार की योजनओं को जन जन तक पहुचाने की जिला प्रशासन की गंभीरता इससे साफ पता चलती है। उन्होंने कहा कि सभी विधवा बहनों के पेंशन की समस्या को भी जल्द से जल्द दूर किया जायेगा। विधवा पेंशन योजना  में राशि की कमी नहीं होने दी जाएगी। अभियान के रूप में विधवा बहनों के पेंशन की स्वीकृति दी जाएगी। विधवा बहनों को सरकार की विभिन्न योजनाओं से जोड़ने की जरूरत है। एक समूह बनाकर इन्हें ट्रेनिंग दी जाएगी ताकि वे आत्मनिर्भर बन सकें। जो भी सरकारी लाभ आपके लिए हैं वह आपको जरूर मिलेगा। उन्होंने कहा जिला प्रशासन विधवा माताओं-बहनों के लिए योजना बनाएं। जो भी सहयोग की जरूरत होगी, हर हाल में उसे पूरा करूंगी। उन्होंने कहा कि आवास निर्माण के क्रम में किसी प्रकार की परेशानी हो तो इसकी सूचना जिला प्रशासन को दें, जिला प्रशासन द्वारा सीधे आपके खाते में पैसे दिए जाएंगे। घर को मजबूत बनाएं। बिचैलिए के चक्कर में ना पड़ें। जरमुंडी विधायक बादल पत्रलेख ने कहा कि इस तरह के कार्यक्रम से एक छत के नीचे इतने लाभुकों को लाभ देना अपने आप में बड़ी बात है। यह दूसरे जिलों के लिए भी एक मॉडल बनेगा। उन्होंने कहा कि जल है जहान है 2.0 के तहत जिस प्रकार जिला प्रशासन ने एक साथ 2, 500 लाभुकों का चयन किया है, उसकी जितनी भी प्रशंसा की जाए कम है। 

इससे किसान भाइयों-बहनों को बहुत लाभ मिलेगा। अंबेडकर आवास योजना के तहत विधवा माताओं बहनों को 1 ,20, 000 की राशि दी जानी है। मेला लगा कर इस प्रकार से विधवा माताओं-बहनों को आवास देना विकास के प्रति जिप्र की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। उन्होंने कहा कि महिलाओं को जल्द से जल्द विधवा पेंशन भी मिले।  इसे सुनिश्चित करने की जरूरत है। इनके जीवन के दुख को कम करना हम सभी का दायित्व है। जिला प्रशासन द्वारा पिछले दिनों उज्जवला योजना के तहत एकमुश्त 51, 000 लाभुकों को गैस कनेक्शन दिया गया था। लोगों को सरकार की योजनाओं का लाभ मिले इस दिशा में कार्य करने की जरूरत है। विधवा बहने आत्मनिर्भर बनें, हम सभी को प्रयास करने की जरूरत है। दुमका के उपायुक्त मुकेश कुमार ने कहा कि पिछले दिनों दुमका जिले में आयोजित जन चैपाल कार्यक्रम के में मुख्यमंत्री द्वारा अंबेडकर आवास योजना के तहत लाभुकों को शत प्रतिशत आच्छादित करने का निर्देश दिया गया था। मुख्यमंत्री के निर्देश के आलोक में जिला प्रशासन द्वारा यह आयोजन किया गया है। उन्होंने कहा कि दुमका जिला राज्य का इकलौता जिला होगा जहां शत प्रतिषत अंबेडकर आवास योजना के लाभुकों को एक छत के नीचे स्वीकृति पत्र प्रदान की जा रही है। उन्होंने लाभुकों से कहा कि अंबेडकर आवास योजना के तहत आवास बनाने के लिए 1,20,000 की राशि सरकार द्वारा दी जा रही है। उस राशि से अगर कोई भी बिचैलिया आपसे 20 पैसे की भी मांग करता है, तो इसकी सूचना जिला प्रशासन को दे। सूची से नाम कटवाने के नाम पर अगर कोई आपको धमकी देता है, तो वैसे लोगों की सूचना जल्द से जल्द जिला प्रशासन को देने का कार्य करें। उन्होंने कहा कि आवास को पूरे मजबूती के साथ बनाएं। हर गरीब तक गरीब का हक पहुंचे समाज के अंतिम व्यक्ति तक सरकार की योजनाओं का लाभ पहुंचे इसके लिए जिला प्रशासन निरंतर कार्य कर रहा है। उन्होंने कहा कि इस योजना के पैसे सीधे आपके खाते में भेजे जाएंगे ताकि कोई भी बिचैलिया आपसे पैसे की मांग ना कर सके। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन की भावना विकास के प्रति बिल्कुल साफ है। विधवा पेंशन को लेकर विशेष कैंप का आयोजन किया जाएगा।

बहुत जल्द अलग अलग प्रखंड में कैंप लगाकर आप सभी को इस योजना के तहत लाभ दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि मैं विश्वास दिलाता हूं कि आप के घर निर्माण कार्य पूर्ण होने से पूर्व पेंशन की सुविधा आप तक पहुंचेगी। जिनका गैस कनेक्शन अब तक नहीं मिल सका है उन्हें भी उज्जवला योजना के तहत गैस जिला प्रशासन उपलब्ध कराएगा। उसी गैस पर खाना बनाकर आप सभी गृह प्रवेश करेंगे उन्होंने कहा कि अपने आसपास किसी भी बिचैलिए को भटकने ना दें। सरकार के संकल्प को पूरा करने के लिए जिला प्रशासन पूरी निष्ठा के साथ कार्य कर रहा है । उन्होंने कहा कि विधवा महिलाओं के लिए उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए जिला प्रशासन योजना बना रही है। विधवा महिलाओं का ग्रुप बनाकर उन्हें सिलाई, बुनाई का प्रशिक्षण दिया जाएगा। सिलाई मशीन उपलब्ध करा कर उन्हें आर्थिक रूप से सशक्त करने का कार्य किया जाएगा। अपने स्वागत संबोधन में उप विकास आयुक्त वरुण रंजन ने कहा कि सरकार और माननीय मुख्यमंत्री के निर्देश पर जिला प्रशासन पूरी तत्परता से कार्य कर रहा है। अंबेदकर आवास योजना के तहत विधवा बहनों को लाभ दिया जाना है। योजना के संबंध में जागरूक करने के लिए जिला प्रशासन द्वारा इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। इस आवास निर्माण को पूर्ण कराने के लिए प्रशासन आपके साथ हर वक्त मौजूद है। कोई भी बिचैलिया इस योजना के लाभ दिलाने के एवज में राशि की मांग करता है, तो इसकी सूचना जिला प्रशासन को दें। 1,20,000 की राशि इस योजना के लिए उपलब्ध कराई जा रही है। सरकार विधवा माताओं बहनों को छत देने का कार्य कर रही है। शौचालय, सौभाग्य योजना उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन भी इन्हें उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि टीम भावना के साथ कार्य कर हम विकास की योजनाओं को समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाने का कार्य करेंगे। जिला ग्रामीण विकास विभाग द्वारा संचालित बाबा साहेब भीमराव अम्बेदकर आवास योजना के तहत सांकेतिक रुप से 47 लाभुकों के बीच आवास हेतु स्वीकृति पत्र दिया गया। शेष लाभुकों को प्रखंड स्तर पर स्वीकृति पत्र वितरीत किया जायेगा। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत 7 लाभुकों के बीच आवास हेतु प्रमाण पत्र दिया गया। इस दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना में उत्कृष्ट कार्य हेतु प्रखंड विकास पदाधिकारी मसलिया संजय कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी सरैयाहाट मुकेष
मछुवा, पंचायत सचिव चिगलपहाड़ी जामा रितेष कुमार, पंचायत सचिव बास्कीडीह मसलिया सुधीर मुर्मू, प्रखंड समन्वयक मसलिया रेषमा अमीन, प्रखंड समन्वयक षिकारीपाड़ा प्रेम मुर्मू, प्रखंड समन्वयक काठीकुण्ड अस्तीना सोरेन, प्रखंड समन्वयक जामा दिनेष कुमार गुप्ता को प्रषस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। संजय कुमार प्रखंड विकास पदाधिकारी मसलिया, मुकेष मछुवा प्रखंड विकास पदाधिकारी सरैयाहाट, अम्बेडकर आवास के लाभुक सावरा बीबी सरैयाहाट, प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभुक रामाकन्त ठाकुर चिगलपहाड़ी जामा, प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभुक बैधनाथ हेम्ब्रम मसलिया, प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभुक सुधिरचन्द्र पंडित चिगलपहाड़ी जामा, निरज कुमार मिश्रा पंचायत सचिव खुटोजोरी मसलिया, दिनेष कुमार गुप्ता प्रखंड समन्वयक जामा ने अपना अनुभव साझा किया।
एक टिप्पणी भेजें