झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 06 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 7 दिसंबर 2018

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 06 दिसंबर

भारत के संविधान निर्माता डाॅ. भीमराव अंबेडकर का 63वां महापरिनिर्वाण दिवस मनाया गया
विभिन्न संस्थाओं ने डाॅ. अंबेडकर पार्क में प्रतिमा पर माल्र्यापण कर किया नमन
jhabua news
झाबुआ। भारत के संविधान निर्माता डाॅ. भीमराव अंबेडकर का 63वां महापरिनिर्वाण दिवस शहर की विभिन्न संस्थाओं द्वारा मिलकर 6 दिसंबर, गुरूवार को दोपहर 11 बजे मनाया गया। इस अवसर पर डाॅ. अंबेडकर पार्क में उनकी आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण पश्चात् नमन करते हुए वक्ताओं ने डाॅ. अंबेडकर के जीवन पर प्रकाष भी डाला। उक्त श्रद्धांजलि सभा में सर्वप्रथम जय भीम जागृति समिति से एमएल फुलपगारे, आदिवासी चेतना षिक्षण सेवा समिति से बेनेडिक्ट डामोर, अंर्तराष्ट्रीय मानव अधिकार काउंसिल एवं बचपन बचाओ आंदोलन के जिलाध्यक्ष रामप्रसाद वर्मा, अजाक्स के जिलाध्यक्ष सोमसिह भूरिया एवं इन संस्थाओं से जुड़े जीएस चितोड़िया, गुलाबसिंह परमार, एमएस मुवेल, रंजीत डामोर, कैलाष वसुनिया, हितेष अखंड, लक्ष्मणसिंह चैहान आदि द्वारा डाॅ. अंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर चरणों मंे पुष्प अर्पण किए गए एवं उन्हें उनके निर्वाण दिवस पर याद किया गया।

डाॅ. अंबेडकर ने संविधान में हर वर्ग का ध्यान रखा
सभा को संबोधित करते हुए जय भीम जागृति समिति के श्री फुलपगारे ने बताया कि डाॅ. अबेडकर ने भारत का संविधान बनाते समय हर वर्ग का ध्यान रखा, वह केवल दलितों के लिए ना होकर हर वर्ग के लोगों के लिए हितैषी थे एवं सभी लोगों के बारे में सोचते थे। अजाक्स के जिलाध्यक्ष श्री भूरिया ने कहा कि डाॅ. अंबेडकर जैसे महान व्यक्तित्व के जीवन से आज हमे प्रेरणा लेने की आवष्यकता है। उनके द्वारा बनाए गए संविधान में हर वर्ग का ध्यान रखा गया है। सभा को आदिवासी चेतना षिक्षण सेवा समिति श्री डामोर एवं अंर्तराष्ट्रीय मानव अध्किार के श्री वर्मा ने भी संबोधित करते हुए डाॅ. अंबेडकर को उनके महापरिनिर्वाण दिवस पर नमन करते हुए सच्चे श्रद्धासुमन अर्पित किए।

’धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन दूसरी बार एएमयू के चांसलर बने’

jhabua news
मेघनगर। अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में रविवार को एनआरएससी में हुई कोर्ट की बैठक में सर्वसम्मति से धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन को दूसरी बार एएमयू का चांसलर चुन लिया गया।...मुंबई के बोहरा समाज के 53 वे धर्म गुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन साहब को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के दूसरी बार चांसलर चुने गए हैं। रविवार को हुई कोर्ट की विशेष बैठक में 103 सदस्यों ने उन्हें निर्विरोध चुना। प्रो-चांसलर पद पर दूसरी बार बुलंदशहर के इब्ने सईद नवाब छतारी और ट्रेजरर पद पर  इब्ने सीना अकादमी के अध्यक्ष भोपाल के पद्मश्री प्रो. जिल्लुर्रहमान चुने गए। तीनों प्रत्याशी एएमयू के पैनल में शामिल थे। 34 साल में पहला मौका है कि पैनल के सभी प्रत्याशी इंतजामिया के जीते हैं।

’दस बजे शुरू हुई बैठक’ 
एएमयू के एनआरएससी हॉल में  सुबह करीब 10 बजे बैठक शुरू हुई। एएमयू की ओर से तीनों पदों के लिए नाम सदस्यों के सामने रखे गए, जिनके सामने कोई प्रत्याशी नहीं आया। सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन 2015 में भी चांसलर बने थे। तब पूर्व कुलपति महमूद उर रहमान ने उनके खिलाफ चुनाव लड़ा था। सैयदना को 97 और महमूद उर रहमान को 33 वोट मिले थे।  एएमयू कोर्ट में कुल सदस्यों की संख्या 191 है। इनमें से 45 पद खाली हैं। बैठक में 103 सदस्य शामिल हुए। केंद्र सरकार की ओर से नामित भाजपा के अलीगढ़ सांसद सतीश गौतम व एटा सांसद राजवीर सिंह उर्फ राजू भैया नहीं पहुंचे। मुख्य चुनाव अधिकारी प्रो. जहीरउद्दीन ने परिणाम का एलान किया। रजिस्ट्रार अब्दुल हमीद की ओर से जारी नोटिफिकेशन के अनुसार तीनों पदों का कार्यकाल तीन साल होगा। उक्त जानकारी निर्णय बोहरा समाज के अध्यक्ष वाली मुल्ला अली असगर ईजी ने दी है।

आप नियमित योग और प्रणायाम करने के साथ अध्ययन कार्य में भी रखे विषेष रूचि -ः श्रीमती अर्चना राठौर
कंबल का उपयोग आप जनवरी और फरवरी माह में अधिक ठंड पड़ने पर करे -ः यषवंत भंडारीस्वामी श्रद्धानंद निराश्रित बाल आश्रम अंतरवेलिया में रोटरी ग्रामीण सेवा प्रकल्प द्वारा कंबल वितरण और स्वल्पाहार का रखा आयोजन
jhabua news
झाबुआ। शहर के समीपस्थ ग्राम अंतरवेलिया स्थित स्वामी श्रद्धानंद निराश्रित बाल आश्रम में 6 दिसंबर, गुरूवार को दोपहर 3.30 बजे रोटरी ग्रामीण सेवा प्रकल्प की ओर से निराश्रित बच्चों को कंबल वितरण और स्वाल्पाहार का आयोजन रखा गया। इस आयोजन के सूत्रधार रोटरी ग्रामीण सेवा प्रकल्प के अध्यक्ष एवं युवा चिकित्सक नटवरसिंह डोडियार थे। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में राज्य महिला आयोग सखी एवं इन्हरव्हील क्लब ‘मेन’ झाबुआ की चेयरमेन श्रीमती अर्चना राठौर उपस्थित थी। अध्यक्षता रोटरी मंडल 3040 के पूर्व सहायक मंडलाध्यक्ष एवं वरिष्ठ रोटेरियन यषवंत भंडारी ने की। विषेष अतिथि के रूप में श्री डोडियार की पत्नी श्रीमती शारदा डोडियार, रोटरेक्ट क्लब अध्यक्ष रिंकू रूनवाल, अंतरवेलिया के ठा. जितेन्द्रसिंह राठौर, पूर्व सरपंच धनजी भूरिया मौजूद थे। कार्यक्रम के प्रारंभ में 6 दिसंबर गुरूवार को ही रोटरी ग्रामीण सेवा प्रकल्प अध्यक्ष नवटरसिंह डोडियार के पुत्र नीतिन डोडियार की प्रथम वर्षगांठ होने पर सभी ने नन्हें बालक को शुभकामनाएं प्रेषित की। साथ ही केक काटकर नीतिन का जन्मदिवस मनाया।

नियमित योग और प्रणायाम करे
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि महिला आयोग सखी श्रीमती अर्चना राठौर ने उपस्थित बच्चों को बताया कि वे पिछले कुछ महीनों पूर्व इस आश्रम में नियमित आकर योग एवं प्रणयाम करवाती थी, लेकिन किसी कारणवष अब नहीं आ पा रहीं है, लेकिन उन्होंने उपस्थित बच्चों से कहा कि आप नियमित योग और प्रणायाम करना ना छोड़े। इससे आप स्वस्थ तो रहेंगे ही, साथ ही मन में अच्छे विचारों का संचार भी होगा। इसके साथ ही आप पढ़ाई पर भी ध्यान देते हुए आश्रम में पढ़-लिखकर बड़े होकर उच्च पदों पर आसीन हो, ऐसी मेरी मंगलकामना है।

ठंड से बचने के लिए दिए जा रहे कंबल
अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ रोटेरियन यषवंत भंडारी ने कहा कि आज आपको रोटरी ग्रामीण सेवा प्रकल्प की अेार से कंबलो का वितरण किया जा रहा है, इसका उपयोग आप आगामी माह जनवरी और फरवरी माह में अधिक ठंड पड़ने पर करे। रात्रि में ठंड लगने पर यह ओढ़कर सोएं। श्री भंडारी ने बताया कि ही रोटरी क्लब द्वारा आगामी दिनों में आपको सुंदर गणवेष, जूते-मोजे भी प्रदान किए जाएंगे, जिसे पहनकर आप स्कूल जाएं और अध्ययन कार्य करे।

नर सेवा ही प्रभु सेवा है
आयोजन में मुख्य रूप से उपस्थित भारत स्वभिमान न्यास ट्रस्ट से पधारे जिला पंतजलि योग समिति के संरक्षक विष्वामित्रजी महाराज ने सभी बच्चों को आर्षीवचन देते हुए बताया कि रोटरी क्लब द्वारा निरंतर सेवा के कार्य किए जाते है, इसके लिए वह बधाई का पात्र है। हमे भी अपने जीवन मंे निरंतर नर सेवा करते रहना चाहिए। नर सेवा ही प्रभु सेवा के समान है। दीनदुखियों की मद्द करना ही सबसे बड़ा धर्म है। हमे भगवान श्री राम की तरह अपना स्वभाव रखकर काम करना चाहिए। साथ ही आज इस झाबुआ जिले में व्याप्त कुरूतियों में दहेज और दारू प्रथा को खत्म करने के लिए संयुक्त रूप से संकल्प लेने की आवष्यकता है। कार्यक्रम में ठा. जितेन्द्रसिंह राठौर एवं पूर्व सरंपच धनजी भूरिया ने भी अपने-अपने विचार रखे।

कंबलों का किया गया वितरण
कार्यक्रम के दौरान उपस्थित सभी बच्चों को स्वादिष्ट स्वलापाहार करवाने के साथ ही अंत में कंबलों का वितरण अतिथियों द्वारा किया गया। यह कंबल रोटरी ग्रामीण सेवा प्रकल्प के नटवरसिंह डोडियार के सौंजन्य से आश्रम में निवासरत सभी बच्चों को प्रदान किए गए। करीब 30 कंबलों बच्चों को प्रदान कर उन्हंे ओढ़ाएं गए। जिसके बाद बच्चें प्रसन्नचित दिखाई दिए।

ये थे उपस्थित
इस अवसर पर रोटरेक्ट क्लब सचिव दौलत गोलानी, आश्रम की व्यवस्थापक श्रीमती मनीषा वैदिक, विद्या भारती वैदिक, आश्रम के वैद्य धर्मवीर शास्त्री, ग्रामीण दयाराम डोडियार, पप्पूसिंह वाखला आदि उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन मनोज गोस्वामी ने किया एवं अंत में सभी के प्रति आभार व्यवस्थापक श्रीमती मनीषा वैदिक ने माना।

स्वर्ण जयंती वर्ष पर 5 दिवसीय संभाग स्तरीय कब बुलबुल उत्सव एवं स्काडट गाईड रैली का आयोजन काॅलेज मैदान पर
भारत स्काउट एवं गाईड जिला एसोसिएषन की बैठक हुई संपन्न
jhabua news
झाबुआ। भारत स्काउट एवं गाईड मप्र के स्वर्ण जयंती वर्ष अंतर्गत संभाग स्तरीय कब बुलबुल उत्सव एवं स्काउट गाईड रैली का आयोजन 3 से 7 जनवरी 2019 तक झाबुआ के काॅलेज मैदान पर किया जाएगा। उक्त कार्यक्रम में इंदौर संभाग के 8 जिलों के लगभग 1300 प्रतिभागी सम्मिलित होंगे। उक्त भव्य आयोजन को लेकर भारत स्काउट एवं गाईड की जिला एसोसिएषन की महत्वपूर्ण बैठक  6 दिसंबर, गुरूवार को दोपहर 12.30 बजे से कलेक्टर सभा कक्ष में आयोजित हुई। जिसमें अतिथि के रूप में कलेक्टर एवं स्काउट गाईड के पदेन अध्यक्ष आषीष सक्सेना, भारत स्काउट गाईड की संयुक्त राज्य सचिव श्रीमती अनिता अंकुलनेरकर, सहायक राज्य संगठन आयुक्त क्षेत्रीय मुख्यालय इंदौर उपस्थित थी। इसके साथ ही बैठक में विभिन्न विभागों के प्र्रमुखों-प्रतिनिधियों के साथ एसोसिएषन के समस्त जिला पदाधिकारी एवं सामाजिक संगठनों के पदाधिकारी तथा गणमान्य नागरिकजनों ने भी सहभागिता की। इस अवसर पर काॅलेज मैदान पर होने वाले 5 दिवसीय संभाग स्तरीय कब बुलबुल उत्सव एवं स्काउट गाईड रैली में संपूर्ण व्यवस्था का दायित्व जिला कमिष्नर एवं सहायक आयुक्त प्रषांत आर्य को सौंपा गया। विभिन्न विभाग प्रमुखों द्वारा उन्हें प्रदत्त दायित्व समय सीमा में निर्वहन करने हेतु जिला प्रषासन को आष्वस्त किया।

5 दिवसीय कब बुल-बुल उत्सव में यह होंगे कार्यक्रम
3 जनवरी को रैली का शुभारंभ होगा। 4 जनवरी को स्काउट गाईड का रूट मार्च एवं नगर भ्रमण, 5 जनवरी को विभिन्न प्रतियोगिताएं आयोजित होगी। 6 जनवरी को भव्य समापन कार्यक्रम एवं 7 जनवरी को सर्वधर्म प्रार्थना  के साथ रैली का समापन होगा। इस अवसर पर रोटरी क्लब ‘मेन’ झाबुआ द्वारा सभी प्रतिभागी को स्कार्फ, केप, पेन प्रदान किए जाएंगे। जिला प्रषासन द्वारा सभी को प्रमाण-पत्र, स्मृति चिन्ह, के साथ रगारंग आतिष्बाजी की व्यवस्था की जाएगी।

ये थे उपस्थित
इस अवसर पर भारत स्काउट गाईड एसोसिएषन के जिला उपाध्यक्ष डाॅ. केके त्रिवेदी, यषवंत भंडारी, हेड क्वार्टर कमिष्नर उमंग सक्सेना ने उक्त आयोजन को लेकर अपने-अपने विचार रखे। बैठक में एसोसिएषन के जिला पदाधिकारियों में श्रीमती आयषा कुरैषी, जय बैरागी, एमएल फुलपगारे, भारती सोनी, रोटरी क्लब,  षिवगंगा, सकल व्यापारी संघ, संकल्प ग्रुप आदि के पदाधिकारी एवं सदस्य के साथ वन विभाग, खा़द्य विभाग, नगरपालिका, स्वास्थ्य विभाग, विद्युत मंडल से प्रतिनिधिगण उपस्थित थे। बैठक का संचालन एसोसिएषन के जिला उपाध्यक्ष जयेन्द्र बैरागी ने किया एवं आभार जिला सचिव श्रीमती शषिकला त्रिवेदी ने माना।

विधानसभा निर्वाचन मे की गई व्यवस्थाओ की कहानी, मतदाताओ की जुबानी
गुजरात एवं राजस्थान मे कर रहे थे मजदूरी, मतदान करने लौटे गांव
जिले से बाहर मजदूरी करने गये मजदूरो को मतदान के दिन 28 नवंबर 2018 को मतदान करने अपने विधानसभा क्षेत्र के बूथ पर आने के लिये प्रेरित करने हेतु एवं जिस संस्थान मे वे कार्यरत है, उनके मालिको से मजदूरो को संवैतनिक अवकाष दिये जाने के लिये चर्चा करने हेतु जिले से षासकीय सेवको के 11 दल अक्टूबर माह मे 16 एवं 22 अक्टूबर को रवाना किये गये थे। जिले से भेजे गये दलो ने मजदूरो एवं कंपनी संस्थान मालिको से संपर्क किया एवं मजदूरो से 28 नवंबर 2018 को मतदान करने के लिये आग्रह किया। परिणामस्वरूप मजदूरो ने लौटकर अपने मताधिकार का उपयोग किया। करडावद बडी के रहने वाले रमेष पिता हेमराज डामोर और उनकी पत्नी आजीविका के लिये रोजगार की तलाष मे कोटा मे मजदूरी कर रहे थे। वे वहां टेलीकाॅम कंपनी के लिये खंती खोदते थे। मतदान करने के लिये बुधवार रात 12 बजे लौटे एवं अपना वोट डाला। रमेष व उनकी पत्नी ने बताया कि हमे पता नही था कि मतदान किस तारीख को होना है। जिले से राजस्थान पहुंचे कुछ अधिकारियो ने हमे बताया कि झाबुआ मे 28 नवंबर को मतदान होना है। आप भी अपने बूथ पर मतदान करने जरूर आना, हमने आपके मालिक से बात कर ली है। वे आपको उस दिन की मजदूरी भी बिना काम किये देंगे। तो हमने सोचा कि हमे भी वोट देना चाहिये। इसलिये हम लौट कर आये और मतदान कर के वापस जायेंगे। गुजरात से मतदान करने लौटे मतदाता श्री जामसिंह निवासी ग्राम सनोड एवं राकेष, कविता निवासी ग्राम चोरमांडली ने चर्चा के दौरान बताया कि हम लोग गुजरात मे मजदूरी करते है। हमे नही पता था कि 28 नवंबर को मतदान होना है। झाबुआ से कुछ अधिकारी हमारे पास पहुंचे और उन्होने हमे बताया कि झाबुआ मे 28 नवंबर को मतदान होना है। आप भी अपने बूथ पर मतदान करने जरूर आना, हमने आपके मालिक से बात कर ली है। वे आपको उस दिन की मजदूरी भी बिना काम किये देंगे। अधिकारियो द्वारा वोट डालने के लिये समझाने पर हम मतदान करने आये।

डामोर दंपति झूमाबाई  जामसिंह कविता
अमेरिका से दीपावली मनाने आये थे, वोट डालने के लिये रूके रूनवाल दंपति
गली-गली, मोहल्ले-मोहल्ले वीवीपेट मषीन के प्रदर्षन एवं वोट डालने की अपील का यह प्रभाव हुआ कि अमेरिका से दीवाली मनाने आये दंपति ने यही रूककर मतदान करने का निष्चय कर लिया। झाबुआ षहर के रूनवाल बाजार निवासी मोहित रूनवाल और उनकी पत्नी आकृति ने बताया कि उन्होने इस बार बस स्टैंड स्थित माध्यमिक विद्यालय मे बनाये गये बूथ पर मतदान किया। इससे पहले उन्हे कभी यह पता नही रहता था कि वोटिंग किस तारीख को होना है। इसलिये वे चाहते हुए भी मतदान नही कर पाते थे। इस बार स्वीप गतिविधि के तहत किये गये प्रचार प्रसार से वोट डालने की तारीख पता चली तो हमने भी वोट डालने का निष्चय किया। मोहित और आकृति दोनो अमेरिका के मिषीगन मे डाॅव केमिकल्स मे जाॅब करते है। मोहित बीई, एमबीई तो आकृति सीए, सीएफए है। वे अपनी सवा साल की बेटी मिषा को लेकर दीपावली मनाने के लिये झाबुआ मे पिता महिपाल रूनवाल के घर आये थे। मोहित और आकृति ने पहली बार झाबुआ मे वोट डाला। वे बताते है कि उन्हे अमेरिकी नागरिकता नही मिली है, जिसके चलते वहां वोट नही डाल पाते है। मोहित ने बताया कि वे 25 नवंबर को वापस अमेरिका लौटने वाले थे, किंतु वोटिंग की तारीख 28 नवंबर होने से वे मतदान करने के बाद ही झाबुआ से अमेरिका के लिये निकलेंगे।

ट्रायसिकल मिलने से लंबे समय से स्वास्थ्य खराब होने के बाद भी बुजुर्ग मतदाता ने किया मतदान
इस बार विधानसभा निर्वाचन के लिये सुमम्य मतदान हेतु दिव्यांग एवं बुजुर्गाे के लिये निर्वाचन आयोग द्वारा एवं जिला प्रषासन द्वारा व्यवस्थाएं सुनिष्चित की गई थी। बूथ पर रैम्प बनवाये गये थे एवं वोटिंग मषीन तक पहुंचने के लिये दिव्यांगो एवं बुजुर्गो को व्हीलचेयर भी उपलब्ध करवाई गई थी। लक्ष्मीनगर मे रहने वाले भोलाषंकर श्रोत्रिय लंबे समय से अस्वस्थ है। उन्होने परिजन से मतदान कराने के लिये ले जाने को कहा। परिजन ने इनकार किया। लेकिन उन्होने मतदान करने की जिद पकड ली। उन्हे रातीतलाई स्थित मतदान केंद्र तक ले जाने के लिये प्रषासन द्वारा आवागमन सुविधा एवं व्हीलचेयर उपलब्ध करवाई गई, जिससे वे आसानी से अपने मताधिकार का उपयोग कर पाये। चर्चा के दौरान भोलाषंकर श्रोत्रिय ने बताया कि यदि षासन द्वारा आवागमन एवं व्हीलचेयर की सुविधा उपलब्ध नही करवाई जाती तो वे अपने मताधिकार का उपयोग नही कर पाते। विधानसभा क्षेत्र पेटलावद मे रहने वाले 104 वर्षीय भूरा तेजाजी को भी मतदान करने के लिये व्हीलचेयर उपलब्ध करवाई गई, उन्होने बताया कि पहली बार व्हीलचेयर मिलने पर मै आसानी से मतदान कर पाया एवं मुझे मतदान करने मे अधिक सुविधा मिली एवं लोकतंत्र के महापर्व मे मैने भी अपना सहयोग किया। उन्होने 104 वर्ष की उम्र मे अपने मताधिकार का उपयोग कर दूसरो को भी प्रोत्साहित किया कि मताधिकार का उपयोग करना सभी का अधिकार एवं कर्तव्य है। हुडा स्थित मतदान केंद्र पर दृष्टिहीन महिला जमुना पति चिंताराम कुम्हारे भी मतदान करने पहुंची। उन्होने सुगम्य पोर्टल पर सहयोगी के रूप मे अपनी देवरानी संध्या कुम्हारे का नाम प्रस्तावित किया था। निर्वाचन आयोग द्वारा उन्हे बूथ तक मतदान कराने के लिये ले जाने एवं मतदान करने हेतु देवरानी श्रीमती संध्या कुम्हारे को उनके साथ मतदान कक्ष मे जाने की अनुमति दी गई एवं उन्होने जेठानी की तरफ से मतदान किया। विधानसभा क्षेत्र पेटलावद मे रहने वाले दिव्यांग मतदाता धर्मेंद्र को अपने मतदान केन्द्र तक बीएलओ द्वारा व्हीलचेयर पर ले जाकर मतदान करवाया गया। धर्मेंद्र ने बताया कि षासन द्वारा दिव्यांगो के लिये दी गई सुविधाओ के कारण आज मै भी मतदान कर पाया।

भोलाषंकर श्रोतिय : मतदान दलो का रखा गया विषेष ध्यान, बूथ पर हुआ भव्य स्वागत
जिले मे नवाचार करते हुए इस बार हुए विधानसभा निर्वाचन 2018 हेतु विषेष व्यवस्थाऐ जिला प्रषासन द्वारा सुनिष्चित की गई। जिले के 973 मतदान केद्रो पर मतदान संपन्न कराने हेतु नियुक्त मतदान दलो को बूथ पर मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने के साथ ही स्वागत सत्कार की भी व्यवस्था की गई। मतदान दल के मतदान सामग्री लेकर बूथ पर पहुंचते ही उनका तिलक लगाकर एवं पुष्पहार पहनाकर भव्य स्वागत किया गया। पीठासीन अधिकारी श्री अनिल गुप्ता एवं पीठासीन अधिकारी श्री मनोज खाबिया ने बताया कि मतदान केंद्रो पर मतदान दल के पहुंचने पर ढोल ढमाको से अगवानी की गई। कुमकुम एवं चावल का तिलक लगाकर व पुष्पहार पहनाकर भव्य स्वागत किया गया। स्वागत हेतु बूथ पर रंगोली बनाई गई एवं दीप जलाये गये। प्रकाष व्यवस्था हेतु विद्युत सीरिज लगाई गई। मतदान दलो के लिये मतदान केंद्र पर चाय, नाष्ते एवं भोजन की व्यवस्था की गई। मतदान दलो को दाल पानिये, लड्डू, पूडी, सब्जी इत्यादि भोजन परोसा गया। साथ ही सोने के लिये उचित बिस्तर की व्यवस्था भी की गई। गरम पानी नहाने के लिये उपलब्ध कराया गया। मच्छरो को मारने के लिये अगरबत्ती भी प्रदान की गई। जिले मे मतदान पर्व को मनाने के लिये उत्सव जैसा माहौल बूथ पर बनाने के लिये बूथो को षादी के मंडप की तरह सजाया गया। बूथ पर रंग-बिरंगे गुब्बारे लगाये गये। मतदान कंेद्र पर मतदाताओ के बैठने के लिये कुर्सिंयो की व्यवस्था भी की गई।

क्यूलेस मतदान हेतु मतदाताओ को दिये गये टोकन
विधानसभा निर्वाचन 2018 में मतदान केन्द्र पर बिना कतार के मतदान सुविधा उपलब्ध कराये जाने के उद्देश्य से क्यूलेस व्यवस्था हेतु जिला प्रषासन झाबुआ द्वारा गुलाबी एवं पीले रंग के टोकन छपवाये गये थे। महिलाओ को गुलाबी रंग के एवं पुरूषो को पीले रंग के टोकन देकर बारी का इंतजार करने हेतु कुर्सियो/खटिया/दरी पर बैठने का इंतजाम किया गया था। मतदान केंद्रो पर मतदान करने पहुंचे मतदाताओ ने मतदान के पूर्व ट¨कन प्राप्त कर अपनी बारी आने तक बैठकर प्रतीक्षा की। इस प्रकार मतदाता क¨ कतार में लगने की आवश्यकता नहीं हुई। मतदान केंद्र पर मतदान करने आई श्रीमती अनिता रामावत निवासी आफिसर्स काॅलोनी झाबुआ ने बताया कि बूथ पर आने के बाद हमे क्यूलेस मतदान से लाइन मे नही लगना पडा। बैठने के लिये कुर्सियां थी। अपना ट¨कन नम्बर प्राप्त कर हमने मतदान केन्द्र पर लगाई गई कुर्सियो पर बैठकर अपनी बारी का इंतजार किया एवं अपनी बारी आने पर मतदान किया।

विधानसभा निर्वाचन के लिये बस स्टाफ ने किया डाकमत पत्र से मतदान
हर बार वाहन चालक, कंडेक्टर एवं क्लीनर वाहनो के चुनाव कार्य के लिये अधिग्रहण हो जाने से अपने मताधिकार से वंचित रह जाते थे। इस बार वाहनो पर कार्यरत ड्रायवर, कंडेक्टर एवं क्लीनर भी अपने मताधिकार का प्रयोग कर पाये, इसलिये जिला प्रषासन द्वारा उन्हे डाक मतपत्र उपलब्ध करवाने की पहल की गई ताकि वे अपने मताधिकार का उपयोग कर पायंे। परिचालक यूनियन संघ के अध्यक्ष श्री सैयद सोनू अली निवासी मारूति नगर झाबुआ ने चर्चा के दौरान बताया कि इस बार विधानसभा निर्वाचन मे वाहनो पर कार्यरत सभी कर्मचारियो को डाक मतपत्र की सुविधा दी गई, जिससे सभी कर्मचारियो ने अपने मताधिकार का उपयोग किया। उन्होने बताया कि इस बार चुनाव मे लगे वाहनो मे कार्यरत कर्मचारियो को भी सभी आवष्यक मूलभूत सुविधाएं षासन द्वारा निःषुल्क दी गई। सोने के लिये बिस्तर, समय पर भोजन एवं नाष्ता भी षासन द्वारा निःषुल्क उपलब्ध करवाया गया। इसके लिये श्री सोनू अली ने षासन एवं जिला कलेक्टर श्री आषीष सक्सेना का बहुत-बहुत आभार व्यक्त किया एवं इन व्यवस्थाओ की सराहना करते हुए कहा कि इस विधानसभा निर्वाचन मे दी गई सुविधाएं प्रषंसनीय है।

आदर्श मतदान केंद्र : मतदान केंद्र पर आये मतदाता हेमेंद्र व्यास ने कहा ऐसा लग रहा है, जैसे मै षादी समारोह मे आया हूं
जिले मे बनाये गये आदर्ष मतदान केंद्र भी इस चुनाव मे आकर्षण का केंद्र रहे। मतदान केंद्रो पर उत्सव जैसा माहौल बनाने के लिये बूथो को षादी के मंडप की तरह सजाया गया। बूथ पर रंग-बिरंगे गुब्बारे लगाये गये। मतदान कंेद्र पर मतदाताओ के बैठने के लिये वीआईपी कुर्सिंयो की व्यवस्था भी की गई। आदर्ष मतदान केंद्र पर अपने मताधिकार का उपयोग करने आये मतदाता हेमंेद्र व्यास एंव पुष्पक समीर ने कहा कि हमने कई बार मतदान किया है, इस बार जो व्यवस्थाएं चुनाव आयोग ने की है एवं जिला प्रषासन द्वारा जो व्यवस्थाएं की गई है, वे सराहनीय है। हम जिस केंद्र पर मतदान करने आये है, वहां पर वीआईपी कुर्सियां लगाई गई हैं। रंग-बिरंगे गुब्बारे लगाये गये है। पूरा बूथ षादी के मंडप की तरह सजाया गया है। ऐसा लग रहा है, मानो हम किसी षादी समारोह मे आये हो। जिस तरह की व्यवस्थाएं आदर्ष मतदान केंद्र पर की गई है, ऐसी व्यवस्थाएं तो हमारी षादी के समय भी नही की गई थी।

बीएलओ ने सभी मतदाताओ को प्रदान की वोटर स्लिप एवं वोटर गाईड
विधानसभा निर्वाचन 2018 के लिये स्वीप योजना के तहत जिले मे इस बार मतदाता पर्ची एवं मतदाता मार्गदर्षिका का वितरण करवाने हेतु बूथ लेवल अवेयरनेस गु्रप (बीएजी) का गठन किया गया था, जिसमे आषा, ए.एन.एम., पंचायत सचिव, रोजगार सहायक, स्व सहायता समूह के रसोइया आदि को षामिल किया गया, जिन्होने जिले मे बीएलओ का सहयोग करते हुए मतदाताओ को वोटर स्लिप एवं वोटर गाईड का वितरण किया। मतदाता श्री षांतिलाल पंवार निवासी एमजी रोड रानापुर, बालू पिता कल्लू भूरिया निवासी ग्राम दौतड, झूमाबाई पति बहादुर निवासी सालरपाडा ने बताया कि हमारे घर आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं बीएलओ पर्ची लेकर आए और हमे बताया कि 28 नवंबर को आपको आपके इस बूथ क्रमांक पर मतदान करना है। इससे हमे वोट डालने मे आसानी हुई। मतदाता पर्ची बूथ के अंदर कार्यरत अधिकारी को दी तो मतदाता सूची मे हमारा नाम भी आसानी से मिल गया। और हम जल्दी एवं आसानी से मतदान कर पाये। 

फलिया नू जात्रा:  फलिये-फलिये के मतदाताओ ने जाना कैसे दे अपना वोट
झाबुआ जिले की झितरी हुई बसाहट की चुनौती को देखते हुए जिले में कलेक्टर श्री आषीष सक्सेना ने अभिनव पहल करते हुए हर मतदाता तक पहुंचने के उद्देष्य से मतदाता जागरूकता हेतु फलिया नु जात्रा के माध्यम से मतदाताओ को ईवीएम और वीवीपैट मषीन से वोट डालने की प्रक्रिया से परिचित करवाया। इसके लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र हेतु 4-4 वाहनों को मतदाता जागरूकता के नारो से सुसज्जित कर ईवीएम एवं वीवीपेट मषीन के साथ भ्रमण करवाया गया। ईव्हीएम एवं व्हीव्हीपीएटी मशीन का प्रदर्शन किया कर मतदाताओ को जागरूक कर मतदान प्रक्रिया को बताया गया         मतदाताओं को ईव्हीएम मशीन में बटन दबवाकर, ईवीएम एवं व्हीव्हीपीएटी मशीन की कार्यप्रणाली को प्रैक्टिकली बताया गया। जिससे मषीन के प्रति मतदाताओं की शंकाओ का समाधान हुआ एवं दूसरी ओर मतदान के प्रति जागरूकता बढने से जिले का मतदान प्रतिषत प्रदेष मे प्रथम स्थान पर रहा। मतदाता श्रीमती रमिला पति केहरसिंह निवासी ग्राम रामपुरा वार्ड क्रमांक 15 ने बताया कि हमारे फलिये मे ईवीएम एवं वीवीपैट मषीन आई थी, जिसमे सभी को मषीन से वोट डालने की प्रक्रिया बताई गई थी, इससे हम बिना डरे मषीन से वोट डाल पाये और वीवीपैट मषीन मे यह भी देख पाये कि हमने जिस प्रत्याषी को वोट डाला है, हमारा वोट उसी प्रत्याषी को गया है।

मतगणना कार्य हेतु नियुक्त अधिकारियो/कर्मचारियो का प्रषिक्षण संपन्न
        
jhabua news
झाबुआ । विधानसभा निर्वाचन 2018 की मतगणना हेतु मतगणना पर्यवेक्षक, मतगणना सहायक एवं माइक्रो आॅब्जर्वर का प्रषिक्षण संपन्न हुआ, जिसमे जिला स्तरीय मास्टर ट्रेनर द्वारा डाक मतपत्र की गणना करने के लिये नियुक्त षासकीय सेवक तथा माइक्रो आॅब्जर्वर को षासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय झाबुआ मे प्रषिक्षित किया गया। प्रषिक्षण मे कलेक्टर श्री आषीष सक्सेना एवं सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे ने प्रषिक्षण स्थल पर पहुंचकर प्रषिक्षण प्राप्त कर रहे गणना कार्य के लिये नियुक्त षासकीय सेवको को संबोधित किया एवं मतगणना प्रक्रिया के संबंध मे आयोग द्वारा जारी दिषा निर्देषो की जानकारी दी।

स्ट्रांग रूम पर निगरानी रखने के लिये अभ्यर्थी/प्रतिनिधि नियुक्त
       
झाबुआ । अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री एसपीएस चैहान ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार निर्वाचन लड रहे अभ्यर्थी/प्रतिनिधि को स्ट्रांग रूम के इंतजाम पर गहन नजर रखने के लिये विधानसभा क्षेत्र पेटलावद से इंडियन नेषनल कांग्रेस पार्टी हेतु श्री परमसिंह पिता खुमसिंह मेडा को प्रातः 8 बजे से रात्रि 8 बजे तक एवं श्री सुबेसिंह पिता वालसिंह मेडा को रात्रि 8 बजे से प्रातः 8 बजे तक स्ट्रांग रूम के प्रवेष द्वार को देखने हेतु षासकीय पोलेटेक्निक काॅलेज झाबुआ मे प्रथम तल कोरिडोर मे सीसीटीवी के माध्यम से निगरानी हेतु दिनंाक 5 दिसंबर से 10 दिसंबर 2018 तक निम्नलिखित षर्तो के अधीन अनुमति प्रदान गई है। षर्तो के अनुसार परिसर मे किसी भी प्रकार का नषा वर्जित रहेगा। परिसर मे मोबाइल फोन एवं अन्य इलेक्ट्राॅनिक उपकरण प्रतिबंधित रहेंगे। अभ्यर्थी/प्रतिनिधि सुरक्षा नियमो का पालन सुनिष्चित करेंगे। उक्त षर्तो का पालन न होने पर तत्काल प्रभाव से इनकी अनुमति निरस्त मानी जायेगी।

प्रत्येक अभ्यर्थी नियुक्त कर सकेंगे 17 मतगणना अभिकर्ता
  • 8 दिसम्बर की शाम 5 बजे तक देनी होगी सूची

झाबुआ । भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार विधानसभा चुनाव की मतगणना के लिये प्रत्येक अभ्यर्थी 17मतगणना अभिकर्ता नियुक्त कर सकेगा। मतगणना स्थल पर प्रत्याशियों के इन मतगणना अभिकर्ताओं को प्रवेश पत्र के माध्यम से ही प्रवेश दिया जायेगा। निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार गणना अभिकर्ताओं के प्रवेश पत्र के लिए उम्मीदवारों को मतगणना के लिए निर्धारित दिन के तीन दिन पूर्व वाले दिन की शाम 5 बजे तक अर्थात् 8 दिसम्बर की शाम 5 बजे तक रिटर्निंग अधिकारियों को निर्धारित प्रारूप में आवेदन देना होगा। प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में 14 मतगणना टेबल तथा एक आरओ तथा दो एआरओ टेबल रहेंगी। इस तरह प्रत्येक अभ्यर्थी के कुल 17 मतगणना अभिकर्ताओं को मतगणना कक्ष में प्रवेश मिलेगा। इनके प्रवेश पत्र के लिये आवेदन निर्धारित प्रारूप 18-क में दो पासपोर्ट फोटो, नाम, पता एवं आधार कार्ड की छायाप्रति के साथ 8 दिसम्बर की शाम 5 बजे तक ही दिए जा सकेंगे। निर्धारित प्रारूप में आवेदन केवल अभ्यर्थी अथवा चुनाव संचालक के मान्य हस्ताक्षर से ही स्वीकृत किये जायेंगे। मतगणना 11 दिसम्बर को सुबह 8 बजे से षासकीय पोलेटेक्निक काॅलेज झाबुआ में प्रारंभ होगी।

प्रत्‍येक मतगणना मेज पर यह स्‍टेशनरी रखी जायेगीं

झाबुआ । मतगणना के दिन प्रत्‍येक विधानसभा मतगणना कक्ष की मतगणना मेज में निम्‍नानुसार स्‍टेशनरी रखी जायेगी। मतगणना मेज पर नीली स्‍याही वाला एक बाल प्‍वाइंटपेन, सील खोलने के लिये पेपर चाकू दो पेपर सीट, फार्म 17 सी का भाग 2 का हिस्‍सा जिसमें उम्‍मीदवारों के नाम, उसी क्रम में मुद्रित होते हो जिन्‍हे वे मतपत्र पेपर पर दिखाई देते है। निर्वाचन लड़ने वाले अभ्‍यर्थियों और ई.व्‍ही.एम की चरण वार गतिविधि की सूची। अतिरिक्‍त मतगणना कर्मचारियों, सूक्ष्‍म पर्यवेक्षक द्वारा प्रत्‍येक उम्‍मीदवार, अभ्‍यर्थी और नोटा के मतों के रिकॉर्ड हेतु प्रोफार्मा रखे जायेगें।
एक टिप्पणी भेजें