असम समझौते के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए समिति गठित - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 2 जनवरी 2019

असम समझौते के प्रभावी क्रियान्वयन के लिए समिति गठित

committee-constituted-for-effective-implementation-of-assam-agreement
नयी दिल्ली, 02 जनवरी, सरकार ने पिछले तीन दशक से भी अधिक समय से ठंडे बस्ते में पड़े असम समझौते को प्रभावी ढंग से लागू करने के उपाय सुझाने के लिए एक उच्च स्तरीय समिति गठित की है।  सरकार ने बोड़ो समुदाय से संबंधित लंबित मुद्दों के समाधान के लिए भी कई कदम उठाने का फैसला किया है।  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में आज यहां हुई केन्द्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में इन निर्णयों से संबंधित प्रस्तावों को मंजूरी दी गयी। बैठक के बाद केन्द्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि केन्द्र, असम सरकार और अखिल असम छात्र संघ (आसु) ने 15 अगस्त 1985 को असम समझौते पर हस्ताक्षर किये थे लेकिन 35 वर्ष बीतने के बावजूद यह प्रभावी ढंग से लागू नहीं हो पाया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने इसके प्रभावी क्रियान्वयन का निर्णय लिया है और इसके लिए एक उच्च स्तरीय समिति का गठन किया है। समिति इस समझौते के अनुच्छेद 6 की पूरी तरह समीक्षा करेगी और अपनी सिफारिशें देगी। समिति के स्वरूप और उसकी सेवा शर्तों के बारे में दो-तीन में जानकारी सार्वजनिक कर दी जायेगी।  एक सवाल पर उन्होंने कहा कि समिति में असम के लोगों का भी प्रतिनिधित्व होगा। 
एक टिप्पणी भेजें
Loading...