झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 4 जनवरी 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 जनवरी

पुर्व विधायक बिलवाल ने खेल मेदान बनाकर किया चुनावी वादो को पुरा

jhabua news
पिटोल । आजादी के 70 वर्ष बाद भी खेल प्रतिभाओं को निखारने के लिए पिटोल गांव के समस्त समाज के नागरिकों एवं खिलाड़ियों द्वारा वर्षों से आजादी के बाद जितनी भी सभी दल की सरकारें बनी उनके जनप्रतिनिधियों से एवं प्रशासन से पिटोल में खेल मैदान की मांग की गई परंतु 65 वर्षों तक पिटोल में खेल मैदान नहीं बना परंतु पिछले चुनाव 2013 में जब युवा नेता शांतिलाल बिलवाल को विधायक का टिकट मिला   पिटोल की जनता से उन्होंने सर्वप्रथम खेल मैदान बनाने का वादा किया उसी के चलते यहां मिनी स्टेडियम का भूमि पूजन हुआ था जिसकी लागत 7500000 लाख रुपए थे  परंतु स्टेडियम के लिए इतनी जमीन  नहीं थी  कि जिससे  स्टेडियम बन जाए जमीन नहीं होने कारण केवल खिलाड़ियों को खेल मैदान बनाने का प्रयास किया गया विधायक शांतिलाल बिलवाल ने द्वारा किया गया जिसके चलते पिछले वर्ष चार लाख विधायक द्वारा जमीन को समतल करने के लिए अब मैदान बनाने का कार्य चालू किया परंतु इस राशि में खेल मैदान पूर्ण नहीं हो जाने की  स्थिति में फिर विधायक शांतिलाल द्वारा ₹2 लाख दिए गए परंतु चुनावी आचार संहिता लगने के कारण खेल मैदान का काम रोकना पड़ा पर चुनाव हो जाने के बाद जब पूर्व विधायक श्री शांतिलाल बिलवाल को अपना किया वादा अधूरा लगा तो 8 दिन पूर्व पिटोल में आकर भाजपा के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के साथ पुनः खेल मैदान को पूर्ण करने के लिए स्वयं खड़े होकर कार्य चालू करवाया जिसका समस्त खेल प्रेमी एवं नगर की समस्त समाज वर्ग के लोगों ने पूर्व विधायक शांतिलाल का आभार माना विनोद पंचल का रहा विशेष सहयोग इस मैदान को पूरा करने के लिए नगर के पंचाल समाज के वरिष्ठ एवं भाजपा के किसान मोर्चा के नेता विनोद पंचाल एवं उनके दोनों पुत्र मिलन एवं हर्षित अपनी जेसीबी एवं ट्रैक्टर बिना कोई मुनाफे के केवल डीजल खर्च पर दिए जिसका समस्त युवा खिलाड़ियों को खेल प्रेमियों ने विनोद पंचाल के परिवार का आभार माना इसके साथ पिटोल के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने भी इस मैदान के लिए तन मन धन से सहयोग किया जिसमें प्रदेश कार्यकारिणी के भाजपा के सदस्य माननीय शैलेश दुबे खेल शिक्षक अमजद खान  विधायक प्रतिनिधि जगदीश बड़द वालभाजपा जिला कोषाध्यक्ष महेंद्र ठाकुर पिटोल सरपंच काना गुंडिया  एवं पीटोल उपसरपंच दिनेश मेवाड  विक्रम नायक प्रतीक शाह विनोद गाबा जोगड़ा सरपंच काला  खुट अतुल चैहान मांगीलाल खतेड़िया सुमेर बवेरिया सतीश बडदवाल  विजय बड़दवाल प्रदीप बड़दवाल राजा नकवी कल्पेश नायक बदन नायक दादू पंचाल रवि मेवाड़ यश खतेडीया आदि लोगों ने अपने ट्रैक्टरों से मैदान समतल करने के लिए मिट्टी की व्यवस्था कर मैदान में डाली इस मैदान को समतल करने के लिए झाबुआ से पद्मावती कंस्ट्रक्शन के किशोर भाई बोरसे का विशेष सहयोग रहा जिन्होंने मैदान को समतल करने के लिए अपने वाहनों को पिटोल में पहुंचाया

झाबुआ जिले में बाल विवाह का आॅकड़ा भारत और मप्र के कुल आकड़े से भी अधिक
  • यूनिसेफ के 2 हजार वालेंटियर्स बाल विवाह को रोकने के लिए कर रहे कार्य
  • बाल विवाह की रोकथाम हेतु हरी झंडी दिखाकर रथ को पुलिस अधीक्षक ने किया रवाना कार्यषाला में यूनिसेफ भोपाल के प्रवीण शर्मा ने प्रेजेंटेषन के माध्यम से दी जानकारी
jhaabua news
झाबुआ। वर्ष 2015-16 का यह चैकाने वाला आॅकड़ा है कि भारत में बाल विवाह का कुल 3.9 प्रतिषत, मप्र का 4 प्रतिषत और मात्र झाबुआ जिले का ही 11.8 प्रतिषत आॅकड़ा है। इससे पता चलता है कि जिले में बाल विवाह किस कदर बढ़ रहा है। इसका मुख्य कारण कहीं ना कहीं जिले में आज भी ग्रामीणजनों में षिक्षा और जागरूकता का अभाव है, हालाॅकि यूनिसेफ संस्था बाल विवाह को रोकने के लिए कार्य कर रहीं है। करीब 2 हजार वालेटियर्स के माध्यम से बाल विवाह पर नियंत्रण करने के प्रयास किए जा रहे है। आप मीडिया से भी यह आव्हान है कि आप समाचारांे के माध्यम से इस संबंध में आदिवासी बाहुल इस जिले के ग्रामीणजनों में जागरूकता लाने का प्रयास करे। उक्त उद्गार यूनिसेफ भोपाल द्वारा 3 जनवरी, गुरूवार को दोपहर 12 बजे स्थानीय पुलिस कंट्रोल रूम में आयोजित कार्यशाला में संस्था के कंसलटेंट प्रवीण शर्मा ने लेपटाॅप पर प्रोजेक्टर के माध्यम से रिपोर्ट प्रस्तुत करते हुए व्यक्त किए। श्री शर्मा ने प्रोजेक्टर के माध्यम से बताया कि पूरे मप्र में बाल विवाह की रोकथाम के लिए वर्तमान में करीब 7-8 एनजीओ कार्य कर रहे है, जिनमें से एक संस्था यूनिसेफ भी है। मप्र की स्थिति पर प्रकाष डाला कि आज मप्र में 100 लड़कों पर 54 लड़कियां है। लड़कियों का प्रतिषत कम रहने का कारण कन्या भ्रूण हत्या है वहीं इसके पीछे काफी हद तक कारण जागरूकता का अभाव एवं अषिक्षा भी है। आज बाल यौन हिंसा में काफी वृद्धि हुई है। विषेषकर झाबुआ जिले में षिक्षा का स्तर काफी निम्न हुआ है। वहीं षिक्षा के अधिकार का हनन भी हो रहा है।

निर्भया मोबाईल द्वारा सूचना मिलने पर की जाती है कार्रवाई
श्री शर्मा ने प्रोजेक्टर के माध्यम से ही बाल विवाह के दुष्परिणामों पर प्रकाष डाला। साथ ही बताया कि मप्र सहित जिले में पुलिस अधीक्षक महेषचन्द्र जैन द्वारा निर्भया मोबाईल की शुरूआत की गई है, जिनको मोबाईल पर सूचना मिलने पर तत्काल ऐसे मामले को संज्ञान में लेकर जहां बाल विवाह हो रहे है, उस स्थान पर पहुंचकर कार्रवाई की जाती है। यह निर्भया मोबाईल पुलिस अधीक्षक के संपर्क में रहने के साथ ही यूनिसेफ से भी जुड़ी हुई है। सूचना मिलने पर जिला प्रषासन, पुलिस प्रषासन और संस्थाओं का एक दल बनाकर संयुक्त कार्रवाई के लिए भी पहुंचता है। निर्भया मोबाईल की प्रमुख अनिता तोमर एवं उनकी सहयोगी महिला आरक्षक तथा आरक्षक चालक द्वारा इस हेतु जिले की स्कूलों में जाकर भी छात्राओं को उनके साथ छेड़छाड़, अभद्र व्यवहार,, गांवों में होने वाले अपराधों की जानकारी देने हेतु नंबर सार्वजनिक किए जाते है, जब छात्राएं इस नंबर पर फोन करती है तो निर्भया मोबाईल की टीम तत्काल वहां पहुंचती है और संबंधित पर कार्रवाई की जाती है।

शाला त्यागी बच्चों की संख्या बढ़ी
श्री शर्मा ने कार्यषाला में उपस्थित पत्रकारों को बताया कि जिले में पिछले कुछ वर्षों में शाला त्यागी बच्चों की संख्या भी बढ़ी है। बाल विवाह के साथ बाल शोषण की घटनाओं में भी निरंतर इजाफा हुआ है। साथ ही यूनिसेफ के कार्यों के बारे में जानकारी दी कि संस्था द्वारा मुख्य रूप से बाल विवाह को रोकने के साथ किषोर और किषोरियों को सषक्त बनाने की दिषा में भी कार्य किेया जाता है। यदि बाल विवाह के मामले में मप्र की बात की जाए, तो मप्र में झाबुआ जिले का नाम दूसरे नंबर पर आता है।

कई कठिनाईयों का करना पड़ता है सामना
इस अवसर पर कार्यषाला का संचालन करते हुए सारा सेवा संस्था के निदेषक जिम्मी निर्मल ने बताया कि बाल विवाह को रोकने के लिए निर्भया मोबाईल का नंबर जारी होने के साथ पत्रकारों के सुझाव पर जल्द ही  एक अतिरिक्त नंबर भी जारी किया जाएगा, जिस पर बाल विवाह संबध्ंाी सूचना दी जा सके। इसके साथ ही बाल विवाह को रोकने में जमीन स्तर की कठिनाईयों को श्री निर्मल ने बताया कि जब महिला एवं बाल विकास विभाग, महिला सषक्तिकरण विभाग, पुलिस विभाग की टीम के साथसंस्थाओं के पदाधिकारी भी गांव में बाल विवाह रोकने के लिए जाते है, तो कई बार ग्रामीणजनों द्वारा विवाद शुरू किया जाता है एवं झगड़े तथा मारपीट करने की नौबत बनती है तो कई बार नाबालिग दुल्हा-दुल्हन को बदलकर पेष किया जाता है, इस तरह की तरह-तरह की कठिनाईयांें को सामना करना पड़ता है।

पिछले वर्ष जागरूकता के किए गए कई कार्य
कार्यषाला में उपस्थित जिला बाल कल्याण समिति के वरिष्ठ सदस्य एवं जिला दहेज सलाहकार बोर्ड (डीपीए) के अध्यक्ष यषवंत भंडारी ने बताया कि तत्कालीन कलेक्टर आषीष सक्सेना एवं पुलिस अधीक्षक महेषचन्द्र जैन के साथ सभी संस्थाओं द्वारा मिलकर पिछले वर्ष बाल विवाह को रोकने एवं दहेज-दापा प्रथा को खत्म करने के लिए विषेष प्रयास किए गए थे। जिसमें निरंतर तड़वी-पटेलों का सम्मेलन कर उन्हें जागरूक करने तथा गांवों में बाल विवाह नहीं होने देने की समझाईष देने के साथ इस हेतु कोटवारों, आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, एएनएम स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं तथा ग्राम पंचायत के सचिव को भी जवाबदारी सौंपी गई। जिसके अपेक्षित परिणाम भी सामने आए।

बाल विवाह रोकथाम रथ को किया रवाना
बाद पुलिस कंट्रोल रूम परिसर से ही पुलिस अधीक्षक महेषचन्द्र जैन के मुख्य आतिथ्य में यूनिसेफ द्वारा संचालित होने वाले बाल विवाह रोकथाम रथ को हरी झंडी दिखाकर यूनिसेफ भोपाल से आए प्रवीण शर्मा, सारा सेवा संस्था के निदेषक जिम्मी निर्मल, जिला बाल कल्याण समिति के वरिष्ठ सदस्य यषवंत भंडारी, यूनिसेफ के कार्यक्रम प्रबंधक सौरभ पोरवाल के साथ एसडीओपी एष्वर्य शास्त्री आदि द्वारा मिलकर रवाना किया गया। यूनिसेफ के कार्यक्रम प्रबंधक श्री पोरवाल ने बताया कि यह रथ जिले के प्रत्येक गांवों में घूमकर बाल विवाह पर रोक लगाने हेतु कार्य करेगा। रथ में एलाउंस सिस्टम की व्यवस्था के साथ दोनो ओर बाल विवाह के दुष्परिणाम के बेनर-पोस्टर लगे होने के साथ ही रथ के पीछे एलईडी भी लगाई गई है, जिससे गांवों में चैपाल पर एलईडी के माध्यम से बाल विवाह पर आधारित फिल्म-नाटक आदि का प्रदर्षन किया जाएगा।

एक घंटे चली कार्यषाला
कार्यषाला करीब एक घंटे तक चली। जिसमें बड़ी संख्या में जिला मुख्यालय के पत्रकारगण उपस्थित थे। संचालन जिम्मी निर्मल ने किया एवं आभार यूनिसेफ के कार्यक्रम प्रबंधक श्री पोरवाल ने माना। इस अवसर पर यूनिसेफ से जुड़े निलेष, नितीन सोनी, महेष वाघेला आदि उपस्थित थे।

हजरत दीदार शाह वली रे.अ. उर्स कमेटी ने किया नवागत कलेक्टर श्री सिपाहा का इस्तकबाल कलेक्टर को उर्स कमेटी के कार्यों से करवाया अवगत

jhabua news
झाबुआ। नवागत कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा का हजरत दीदार शाह वली रे.अ. उर्स कमेटी झाबुआ द्वारा 3 जनवरी, गुरूवार को दोपहर कलेक्टोरेट कार्यालय स्थित कलेक्टर कक्ष में भावभरा इस्तकबाल किया गया। इस दौरान उर्स कमेटी की ओर से उन्हें कमेटी द्वारा किए जाने कार्यों की जानकारी भी दी गई। उर्स कमेटी के सदर नीरजसिंह राठौर, सचिव जैनुद्दीन शेख के साथ संरक्षक वरिष्ठ अभिभाषक उमंग सक्सेना, अजय रामावत के साथ शाहिद खान, ृनासिर खान, हाली लियाकत अली, राजू अंसारी, नोषाद अली, करीम शेख, हाजी अब्दुल, गनी सरफु शेख आदि द्वारा कलेक्टर श्री सिपाहा का पुष्पगुच्छ देकर इस्तकबाल करने के बाद सभी ने अपना-अपना परिचय दिया।

प्रतिवर्ष उर्स मुबारक का किया जाता है आयोजन
इस दौरान उर्स कमेटी के सदर श्री राठौर एवं सचिव श्री शेख ने बताया कि उर्स कमेटी द्वारा सामाजिक कार्यों में हमेषा अग्रणी रहने के साथ ही प्रतिवर्ष हजरत दीदार शाह वली बाबा की दरगाह, जो काफी वर्षों पुरानी होकर यहां दर्षन के लिए प्रतिदिन अनेकों मुस्लिम के साथ हिन्दू धर्मावलंबी भी आते है, यहां उर्स मुबारक का भी आयोजन किया जाता है। दरगाह परिसरमें दर्षनार्थियों के लिए प्याऊ की व्यवस्था की कमेटी की ओर से की गई है। कलेक्टर श्री सिपाहा ने उर्स कमेटी के कार्यों को जानने के बाद काफी प्रसन्नता व्यक्त की।

उमापति महादेव मंदिर नगर की धर्मप्रिय जनता की श्रद्धा का केन्द्र बनेगा- मनोज भाटी
मित्र मंडल ने मनोज भाटी का किया सम्मान
jhabua news
झाबुआ । विवेकानंद कालोनी स्थित उमापति महादेव मंदिर के जिर्णोद्धार कार्य में सहयोग देने तथा मंदिर को आकर्षक स्वरूप  देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले उद्योगपति मनोज भाटी का बुधवार रात्री को मंदिर परिसर मे उमापति महादेव मित्र मंडल के सदस्यों ने सम्मान समारोह का आयोजन किया । इस अवसर पर विवेकानंद कालोनी, हाउसिंग बोर्ड कालोनी के नागरिकजनों ने मनोज भाटी का शाल, श्रीफल एवं पुष्पमालायें पहिनाकर आत्मीय स्वागत किया । इस अवसर पर कालोनी के ओम प्रकाश शर्मा, अशोक शाह, प्रवीणसिंह राठौर, पण्डित द्विजेन्द्र व्यास, पण्डित प्रदीप भट्ट, विजय कुमार व्यास, रमेशचन्द्र पण्डिया, श्री नायक रमेश कलछिया, शंकर डावर, कुमारी याशीका शर्मा, निषिका शर्मा,नंदिनी पंवार हिना लहेरिया सहित बडी संख्या में कालोनीवासी उपस्थित रहे । पण्डित द्विजेन्द्र व्यास द्वारा श्री भाटी को मंगल तिलक लगा कर तथा कालोनीवासियों ने शाल श्रीफल देकर तथा पुष्पमालायें पहिनाकर उनका स्वागत किया । इस अवसर पर मनोट भाटी ने कहा कि भगवान भोलेनाथ के इस दरबार में हर व्यक्ति की मनोकामनायें पूरी होती है, श्रद्धा एवं विश्वास हो तो परमात्मा मार्ग को प्रशस्त करता है। भगवान उमापति के मंदिर में कभी और भी विकास कार्य जन सहयोग से किये जावेगें । उमापति महिला मंडल की सदस्याओं द्वारा इस स्थान को नगर की श्रद्धा का केन्द्र बनाने में काफी मेहनत की है। उन्होने बताया कि आगामी दिनों में यह मंदिर और अधिक सुंदरता के साथ नगर के घार्मिक केन्द्र के रूप  में जनसहयोग से विकसित होगा । कार्यक्रम का संचालन करते हुए पण्डित द्विजेन्द्र व्यास ने मनोज भाटी द्वारा धार्मिक आयोजनों में अहम भूमिका निभाने के लिये उनका साधुवाद ज्ञापित किया । अन्त में आभार प्रदर्शन पण्डित प्रदीप भट्ट ने माना ।इस अवसर पर सहभोज का आयोजन भी किया गया ।

शास्त्रीय संगीत की निःषुल्क क्लास 1 जनवरी से

jhabua news
झाबुआ। बबलू संगीत एवं कला संस्था रामकृष्ण नगर झाबुआ की संचालिका श्रीमती भारती सोनी ने बताया कि नववर्ष 1 जनवरी 2019 से प्रतिदिन सुबह 9.30 से 10.30 बजे तक शास्त्रीय संगीत की प्रारंभिक षिक्षा (स्वर व अलंकार गायन के प्रकार) के लिए निःषुल्क कक्षा प्रारंभ की गई है। इसमें सभी वर्ग के लोग प्रवेष कर सकते है। इस अवसर पर श्रीमती सोनी द्वारा शास्त्रीय संगीत का महत्व भी समझाया जाएगा। साथ ही स्वर एवं अलंकार गायन के प्रकार भी बताएं जाएंगे। श्रीमती सोनी ने बताया कि यह संस्था झाबुआ में विगत 30 वर्षों से कार्यरत है तथा संस्था से प्रषिक्षित होकर कई बच्चे शास्त्रीय संगीत में राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचकर भी अपनी पहचान बना चुके है। निःशुल्क कक्षा में प्रवेष हेतु संस्था संचालिका श्रीमती भारती सोनी से उनके मोबाईल नंबर 94259-09059 पर संपर्क कर सकते है।

कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने पाला का प्रभाव देखने हेतु किया फसल निरीक्षण

jhaabua news
झाबुआ । जिले में फसलों पर पाले के प्रभाव का जायजा लेने हेतु कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने आज पेटलावद क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रो में किसानो के खेतो में पहुचकर फसलों का निरीक्षण किया एवं कृषिश्विभाग के अधिकारियो को आवष्यक निर्देष दिये। साथ ही किसानो को भी फसल का पाले से बचाव करने के लिये सुझाव दिये। भ्रमण के दौरान उनके साथ उप संचालक कृषि श्री त्रिवेदी, एसडीएम श्री हर्षल पंचैली उद्यानिकी अधिकारी श्री विजयसिह सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

पाली/नेट हाउस एवं अन्य कृषि संबंधित प्रोजेक्ट के लिए कुछ क्षेत्र माॅडल के रूप में चयनित करे-- कलेक्टर
नर्सरी क्षेत्र में पानर के लिए तालाब निर्माण करवाये
jhabua news
झाबुआ । कलेक्टर श्री प्रबल सिपाहा ने विगत 2 जनवरी को कलेक्टर कार्यालय के सभाकक्ष में कृषि,उद्यानिकी, मत्स्य पालन सहकारिता, पषुपालन, ग्रामीण विकास विभाग एवं कृषि से संबंधित विभागो की समीक्षा की एवं विभागीय अधिकारियों को कृषि से किसानो की आमदनी को बढाने के लिए प्रयास कर क्षेत्र में कुछ किसानो के खेतो को आपसी समन्वय से माॅडल के रूप में विकसित करने हेतु निर्देषित किया। कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान किसानो के फसल बीमा करवाने एवं बीमा कलेम राषि का वितरण नियमानुसार करवाने के लिए निर्देषित किया । एग्रोफारेस्टी के लिए पौधे फारेस्ट एवं उद्यानिकी विभाग से लेने हेतु निर्देष दिये। जिले की ऐसी पौध नर्सरी जहां पर तालाब निर्माण हेतु पर्याप्त स्थान हो, वहां जल संचयन हेतु तालाब निर्माण करवाये। उद्यानिकी विभाग की समीक्षा के दौरान निर्देष दिये कि जिले में पाली/नेट हाउस के प्रकरण हेतु किसानो को प्रेरित करे। एपल बेर एवं चीकू के लिए जिले की जलवायु अनुकूलित है अतः किसानो को इसके लिए प्रमोट करे। जिन किसानो के खेतो पर बगीचे लगे हुए है, वहाॅ पर किसानो की विजिट करवाये एवं किसानो की आपस में चर्चा करवाये। पषु-पालन विभाग की समीक्षा के दौरान पषुपालन हेतु इच्छुक मेहनती किसानो को उन्नत किस्म के पषुओ को पालने हेतु योजनाओं में लाभान्वित करने हेतु निर्देषित किया। बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्रीमती जमुना भिडे सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

1 जनवरी को 18 वर्ष के होने वाले युवा अपना नाम मतदाता सूची में जुड़वायें
 
झाबुआ । भारत निर्वाचन आयोग ने आगामी वर्ष में सम्पन्न होने वाले लोकसभा चुनाव के लिये फोटो निर्वाचक नामावली के पुनरीक्षण का कार्य प्रारम्भ कर दिया है। लोकसभा निर्वाचन के लिये 1 जनवरी 2019 को 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले सभी पात्र नागरिकों का नाम निर्वाचक नामावली में शामिल किया जायेगा। जिले के सभी मतदान केन्द्रों पर 25 जनवरी तक बीएलओ उपस्थित रहकर मतदाता सूची के संबंध में दावे आपत्ति प्राप्त करेंगे। 01 जनवरी  को 18 वर्ष की आयु पूर्ण करने वाले सभी युवाओं से अपील की है कि वे अपने नाम मतदाता सूची में जुड़वाने के लिए जन्म प्रमाण पत्र, पासपोर्ट आकार के फोटो सहित अपने निकटतम मतदान केन्द्र जाकर बीएलओ से सम्पर्क करे, ताकि उनके नाम मतदाता सूची में जोड़े जा सके और वे लोकसभा निर्वाचन के लिए अपने मताधिकार का उपयोग कर सके।

हल्की सिंचाई कर पाले से फसलों की सुरक्षा करे
    
झाबुआ । तापमान मे लगातार गिरावट को देखते हुए किसान कल्याण एवं कृषि विकास विभाग द्वारा किसान भाईयों को सुरक्षा एवं सतर्कता हेतु सलाह दी गई है। कृषि विभाग ने कहा है कि किसान पाले का पूर्व अनुमान लगाते हुए बचाव के उपाय करें। पाले से बचाव के लिये रात में खेत में 6-8 जगह धुंआ करना चाहिये। धुंआ इस प्रकार किया जाना चाहिये, जिससे धुंआ सारे खेत में छा जाये तथा खेत के आसपास का तापमान 5 डिग्री सेल्सियस तक आ जाये। इस प्रकार धुंआ करने से पाले से फसल का बचाव किया जा सकता है। पाले की संभावना पर हल्की सिंचाई, जिससे कि खेत गीला हो जाये, कर देना चाहिये। इसी तरह रस्सी का उपयोग भी पाले से काफी सुरक्षा प्रदान करता है। इसके लिये दो व्यक्ति सुबह-सुबह जितनी जल्दी हो सके, एक लम्बी रस्सी को उसके दोनों सिरों से पकडकर खेत के एक सिरे से दूसरे सिरे तक ले जाते हैं। इससे फसल पर रात का जमा पानी गिर जाता है और फसल की पाले से रक्षा हो जाती है।

षालाओं की मान्यता/नवीनीकरण हेतु आवेदन 5 जनवरी तक
      
झाबुआ । षिक्षण सत्र 2019-20 की मान्यता/मान्यता नवीनीकरण हेतु एमपी आनलाइन के माध्यम से आवेदन 5 जनवरी 2019 तक स्वीकार किए जाएंगे। संस्थाओं द्वारा आवेदन पूर्ति उपरांत जांच जिला षिक्षा अधिकारी द्वारा मान्यता नियम 8 (1) के तारतम्य में तत्काल प्रारंभ की जाएगी। जिला षिक्षा अधिकारी से प्राप्त जानकारी के अनुसार एमपी आनलाइन पर भरे आवेदन 5 जनवरी 2019 तक अपलोड करना एवं विलम्ब षुल्क के साथ 31 जनवरी तक, प्रस्तुत दस्तावेजों में कमी को जिला षिक्षा अधिकारी द्वारा सूचना ई-मेल द्वारा आवेदक संस्था को 10 जनवरी तक देना एवं बिलम्ब षुल्क सहित 5 फरवरी तक, आवेदक संस्था को कमी की सूचना प्राप्त होने पर 7 दिवस के अंदर कमियों को 17 जनवरी तक दूर करना एवं विलंब षुल्क के साथ 12 फरवरी तक, आवेदनों के भौतिक सत्यापन एवं परीक्षण हेतु मान्यता नियम अंतर्गत निरीक्षण दलों का गठन एवं निरीक्षण उपरांत अनुषंसा सहित प्रतिवेदन संभागीय संयुक्त संचालक को 5 फरवरी तक भेजना एवं विलंब षुक्ल के साथ 20 फरवरी तक भेजा जावेगा। संयुक्त संचालक द्वारा नवीन मान्यता प्रकरणों/नवीनीकरण प्रकणों में 20 फरवरी तक निर्णय लेना तथा विलंब षुल्क के साथ 28 फरवरी, निरस्त आवेदनों पर आनलाइन प्रथम अपील आवेदन निरस्त होने से 30 दिवस अथवा 22 मार्च तक एवं विलंब षुल्क की स्थिति में आवेदन निरस्त होने से 30 दिवस अथवा 30 मार्च तक, आनलाइन प्राप्त प्रथम अपील का निराकरण 10 अप्रेल तक, विलंब षुल्क के साथ 15 अप्रेल तक, जिन संस्थाओं की प्रथम अपील आयुक्त लोक षिक्षण द्वारा निरस्त की गई है उनके द्वारा मान्यता समिति को आनलाइन द्वितीय अपील आवेदन निरस्त होने से 30 दिवस अथवा 10 मई तक, विलंब षुल्क के साथ 15 मई तक, मान्यता समिति द्वारा नवीन मान्यता प्रकरणों में द्वितीय अपील के निराकरण की अवधि 20 मई तथा विलंब षुल्क के साथ 25 मई तक, पुर्नर्विलोकन केवल नवीनीकरण के प्रकरणों में 19 जून तक एवं विलंब षुल्क के साथ 25 जून, पुर्नर्विलोकन प्रकरणों का मान्यता समिति द्वारा निराकरण 30 जून तक एवं विलंब षुल्क के साथ 5 जुलाई तक तथा आवेदन संस्था द्वारा सम्बद्वता षुल्क जमा किए जाने पर माध्यमिक षिक्षा मंडल द्वारा सम्बद्वता मान्यता प्राप्त होने के बाद मंडल द्वारा निर्धारित तिथि तक का कार्यक्रम लोक षिक्षण संचालनालय भोपाल द्वारा  जारी किया गया है।
एक टिप्पणी भेजें
Loading...