रेणुकाजी बांध परियोजना के लिए छह राज्यों के बीच करार पर हस्ताक्षर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 11 जनवरी 2019

रेणुकाजी बांध परियोजना के लिए छह राज्यों के बीच करार पर हस्ताक्षर

mou-signed-for-renukaji-dam-project-among-six-states
नयी दिल्ली 11 जनवरी, केन्द्रीय जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी ने ऊपरी यमुना बेसिन में रेणुकाजी बहुउद्देशीय बांध परियोजना के निर्माण के लिए आज यहां छह राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ एक करार पत्र पर हस्ताक्षर किए। समझौते पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने हस्ताक्षर किये।  इसी कार्यक्रम में प्रयागराज में नमामि गंगे परियोजनाओं के संबंध में भी समझौते पर हस्ताक्षर हुए। यह समझौता एक नगर, एक संचालक कार्यक्रम पर आधारित है। इस समझौते पर राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के श्री अखिल कुमार, उत्तर प्रदेश जल निगम के श्री अनिल कुमार श्रीवास्तव और प्रयागराज वाटर प्राइवेट लिमिटेड के श्री दिलीप पोरमल ने श्री गडकरी की उपस्थिति में हस्ताक्षर किए। श्री गडकरी ने इस मौके पर कहा कि देश में जल पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है लेकिन इसके उचित प्रबंधन की जरूरत है। रेणुकाजी बांध परियोजना के समझौते को ऐतिहासिक क्षण बताते हुए उन्होंने कहा कि सरकार यथाशीघ्र मंत्रिमंडल से इसकी मंजूरी प्राप्त लेने की कोशिश करेगी। उन्होंने कहा कि यमुना नदी पर किसाऊ बहुउद्देशीय परियोजना के लिए भी आम सहमति बन गई है और जल्द ही इस आशय के समझौते पर हस्ताक्षर किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि लखवार बहुउद्देशीय परियोजना के लिए भी छह राज्यों ने 28 अगस्त, 2018 को समझौते पर हस्ताक्षर किये गये थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...