सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 17 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 17 जनवरी 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 17 जनवरी

स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी से एक्सीलेंस स्कूल के क्षतिग्रस्त भवन को तोड़ कर नये भवन बनाए जाने की मांग 

sehore news
सीहोर। सीहोर जिला कांग्रेस कमेटी झुग्गी झोपड़ी प्रकोष्ठ के अध्यक्ष नरेंद्र खंगराले द्वारा कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ मध्य प्रदेश शासन के स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी से भेंट उपरांत  स्वागत कर ज्ञापन सौपते हुए कस्बा के एक्सीलेंस स्कूल क्रमांक १ के पुराने क्षतिग्रस्त भवन को तोड़कर नये भवन निर्माण की मांग की गई। श्री खंगराले ने बताया की स्कूल का प्लास्टर छात्रों एवं स्कूल के शिक्षकों के उपर गिरता है जिस से भविष्य में कोई बड़ी दुर्घटना हो सकती है। स्कूल शिक्षा मंत्री श्री चौधरी के द्वारा अधिकारियों को भवन का प्रकालन तैयार कर राशि उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। भवन निर्माण के आदेश दिए जाने पर कार्यकर्ताओं ने आभार व्यक्त किया।  इस अवसर पर प्रमुख रूप से वरिष्ठ कांग्रेस नेता दर्शन सिंह वर्मा, क्षेत्रीय पार्षद आरती नरेंद्र खंगराले, एडवोकेट राजीव मिश्रा, डॉ अनीस खान, महेंद्र सिंह मिंदी अरोरा,  लतीफर्रहमान, निशांत उर्फ पिक्की, पप्पु कोली, दिनेश वर्मा,  जहीर अहमद आदि लोग उपस्थित थे। 

कलेक्टर ने ली सड़क सुरक्षा एवं आपदा प्रबंधन समिति की बैठक जनसुविधाओं के लिए दिए अधिकारियों को निर्देश 

कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा की अध्यक्षता में सड़क सुरक्षा एवं आपदा प्रबंधन समिति की बैठक आयोजित की गई। बैठक में आवारा मवेशियों की समस्या के निदान हेतु यातायात व्यवस्था, पार्किंग व्यवस्था आदि बिन्दुओं पर चर्चा की गई। कलेक्टर ने अनुविभागीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि आवारा मवेशियों से जगह-जगह यातायात बाधित होने वाले मवेशियों को पकड़कर अभ्यारण व गौशालाओं में भेजने की कार्रवाई करें एवं उनके लिये चारे और पानी की व्यवस्था उपलब्ध कराएं। ग्राम पंचायतों में जो गौशालाएं बनाने के निर्देश है उनके परिपालन मं प्राथमिकता के आधार पर कार्य किया जाए। नगरपालिका सीएमओ को निर्देशित किया कि पुलिस द्वारा लगाए गए सीसीटीवी कैमरे की रिकार्डिंग के आधार पर अतिक्रमण हटवाया जाए। शहर में नो एंट्री लोन बनाकर वहां वाहनों के आवागमन पर स्थाई रूप से रोक लगाई जाए एवं पार्किंग व्यवस्था सुधारें। जगह-जगह पड़े मलवे के ढेर हटाऐ और रास्ते साफ करवाएं।  पीडब्लयूडी ईई को निर्देशित किया कि हाईवे पर डिवाइडर का निर्माण शीघ्र पूर्ण करें एवं जहां सड़कें अधूरी है उन्हें जल्दी पूर्ण करने की कार्यवाही करें। बस स्टेण्ड स्थित माल एवं शोरूम के सामने खड़े वाहनों को रोकने हेतु उन्हें नोटिस दिए गए हैं। ट्रामा सेंटर से नर्सिग होम तक दोपहर में सड़क पर खड़े किए जा रहे वाहनों की पार्किंग बनाकर व्यवस्था की जाए। शहर से रेत के डंपर निकलते हैं उन्हें निकलने के लिये टाइमिंग निर्धारित कर दुर्घटनाएं रोकने हेतु प्रयास किए जाए। जिले की सीमा से होकर अन्य जिलों में जाने के लिये उनके रुट निर्धारित कर उन्हें ऐसे रास्तों से निकाला जाए जहां पर आवाजाही कम हो, इसके लिये कच्चे मार्ग का भी उपयोग किया जा सकता है। वाहन एसडीएम के पास पंजीकृत होने पर ही इन्हें जिले में पास होने दिया जाएगा। वाहनों की फिटनेस पर ध्यान दिया जाए। जिले में प्रत्येक जेसीबी मशीन का पंजीयन किया जाए साथ ही नर्मदा तट के 10 किलोमीटर क्षेत्र में इजाजत के प्रवेश नहीं करेगी जिसे परमिशन दी जाएगी वह मशीन ही उस क्षेत्र में रहेगी। सभी नाव धारों पर चलने वालों के टेंडर निकाल कर रजिस्ट्रेशन किया जाए। आपदा प्रबंधन हेतु 24 घंटे दुर्घटना की सूचना मिलते ही की जाने वाली त्वरित कार्यवाही की जानकारी लेकर आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आपदा आने पर घायलों को जितनी जल्दी हम सहायता देंगे उसमें हम अधिक लोगों की जान बचाएं हमें किसी भी घटना को हल्के में नहीं लेना चाहिए। भीड़ वाले स्थानों पर उन्हें नियंत्रित करने के लिए हमें यह ध्यान रखना है कि भीड़ को खुला स्थान दें उनके चलने के लिए आगे स्थान खाली रखना चाहिए जहां विशेष अवसरों पर भारी भीड़ इकट्ठी होती है वहां किसी भी प्रकार के अतिक्रमण ना होने दें उस क्षेत्र को पूर्णता खाली रखा जाए भीड़ वाले स्थानों पर पार्किंग की व्यवस्था दुरुस्त रखें। भीड़ वाले स्थानों पर विशेष ध्यान रखें कि किसी भी प्रकार की अफवाहें स्थानों पर नियंत्रण होने वाले लाउडस्पीकर से गाइड करें। रात्रि में होने वाले कार्यक्रमों में प्रकाश की व्यवस्था करें व्यवस्थाओं हेतू मेला प्राधिकरण से बजट की मांग करें जहां नदी में पानी गिर रहा है वहां लोगों को जाने से रोकना चाहिए जिससे उन्हें डूबने से बचाया जा सके। नर्मदा नदी के जिन घाटों पर पानी अधिक गहरा है वहां जाना प्रतिबंधित करें। सलकनपुर मंदिर में दर्शनार्थियों के लिय वाहनों की पार्किंग की पर्याप्त व्यवस्था करने हेतु एसडीएम पीडब्ल्यूडी नसरुल्लागंज को निर्देशित किया। सड़क मार्ग से मंदिर तक शासन द्वारा अनुबंधित गाड़ियां ही जा सकेंगी भारी वाहनों को मंदिर तक जाने की इजाजत नहीं होगी। इन वाहनों में दर्शनार्थियों के लिए आने जाने का किराया शासन द्वारा निर्धारित रहेगा। इन वाहनों पर इन वाहनों को परमिट ग्राम पंचायत द्वारा दिया जाएगा। मंदिर पर जाने वाले सीड़ी मार्ग पर किसी प्रकार का अतिक्रमण नहीं होने दिया जाए यदि अतिक्रमण कारी नहीं मानता है तो उसे तत्काल वहां से हटाया जाए। सीड़ियों में दोनों और निर्धारित स्थान खाली छोड़ कर ही दुकान लगाएं। दुर्घटना के समय सहायता के लिए आवश्यक सामान जैसे क्रेन, रस्से, जैकेट व अन्य उपकरण कितने हैं और कहां है। खनिज अधिकारी को निर्देशित किया कि लाइसेंस धारी लोगों को लाइसेंस चेक करें और विस्फोटक सामग्री भंडारण हेतु उचित व्यवस्था है या नहीं चेक करें जर्जर भवनों को नोटिस देकर तत्काल गिराने की कार्रवाई करें। सीईओ को निर्देशित किया कि आप मिड डे मील व्यवस्थाओं का निरीक्षण करवाएं और यदि अवस्था होती हो तो उसे दूर करें छात्रावासों में भी भोजन व्यवस्थाओं पर निगाह रखें आने वाले समय में होने वाली गेहूं खरीदी में पूर्ण पारदर्शिता रखी जाए समितियों पर पूरी निगरानी रखें शिकायत मिलने पर तत्काल कार्रवाई करें।  छोटे-छोटे विवाद को भी हल्के में न लें। इस वर्ष गर्मियों में पेयजल की समस्या गंभीर हो सकती है इसके निराकरण ग्राम पंचायत स्तर तक अभी से शुरू करें। लॉ एंड ऑर्डर का पालन करने में लापरवाही न करें पूर्ण शक्ति में पालन कराएं और असामाजिक तत्वों पर आज से ही सख्त कार्रवाई करें। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा, अपर कलेक्टर श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी, पुलिस अधीक्षक श्री राजेश चंदेल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री समीर यादव, जिला परिवहन अधिकारी, थाना प्रभारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

जले एवं खराब ट्रांसफार्मरों को बदलने के लिए नए निर्देश जारी

अब जिले में जले एवं खराब वितरण ट्रांसफार्मरों से जुड़े 50 प्रतिशत उपभोक्ताओं द्वारा भुगतान करने पर अथवा कुल बकाया राशि का 10 प्रतिशत जमा होने के उपरांत इन जले एवं खराब ट्रांसफार्मरों को बदला जाएगा। इन दोनों शर्तों में से किसी भी एक शर्त की पूर्ति होने पर संबंधित वितरण ट्रांसफार्मर को तत्काल बदले जाने की कार्यवाही होगी।  इस संबंध में राज्य शासन द्वारा आदेश जारी कर दिए गए हैं। मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के प्रबंध संचालक ने कंपनी कार्यक्षेत्र के 15 वृत्तों एवं 50 संभागों के मैदानी अधिकारियों को निर्देशित किया है कि जले एवं खराब ट्रांसफार्मरों को नए नियमों के तहत बदलने के लिए सूची बनाकर तत्काल कार्यवाही की जाए। उन्होंने कहा कि जले एवं खराब ट्रांसफार्मरों को बदलने में किसी भी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। कंपनी ने किसानों से भी अनुरोध किया है कि नए नियमों के तहत खराब एवं जले ट्रांसफार्मरों को बदलने के लिए सूचना कंपनी के कॉल सेंटर के टोल फ्री नंबर 1912 पर दर्ज कराएं।    

मतदाता जागरूकता अभियान में जुड़ेंगे छात्र-छात्राएँ

भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदाता जागरूकता अभियान के अन्तर्गत प्रत्येक महाविद्यालय में इलेक्ट्रोलर लिट्रेसी क्लब (ELC) का गठन किया जायेगा। निर्वाचन साक्षरता के लिए छात्र-छात्राओं को मतदाता जागरूकता से संबंधित अभियान एवं गतिविधियों के क्रियान्वयन के लिए तैयार किया जायेगा। यह क्लब महाविद्यालय में एवं छात्र-छात्राएँ अपने निवास के आस-पास पूरा वर्ष मतदाता जागरूकता गतिविधियों को संचालित करेंगे। महाविद्यालय के प्राचार्य क्लब के संरक्षक होंगे। प्रत्येक संस्था में इस कार्य के लिए दो कैम्पैस एम्बेसेडर छात्र-छात्राओं की नियुक्ति की जायेगी। सभी संस्थाओं को निर्देशित किया गया है कि 18 वर्ष से अधिक उम्र के समस्त छात्र-छात्राओं का मतदाता परिचय-पत्र बनाकर वितरित किया जाना सुनिश्चित करें। महाविद्यालय के प्रत्येक छात्र अपने निवास के आस-पास दस-दस घरों में जाकर मतदाता जागरूकता संबंधी प्रचार-प्रसार करेंगे तथा 18 वर्ष की आयु से अधिक के व्यक्ति जिनका परिचय पत्र नहीं बना है, उनका परिचय-पत्र बनवाने में सहयोग करेंगे। छात्रों द्वारा 18 वर्ष से अधिक आयु के जिन व्यक्तियों की पहचान की जायेगी, उनकी सूची तैयार कर महाविद्यालय को देगें। ऐसे छात्र, जिन्होंने व्यवहारिक प्रयास कर सफलतापूर्वक सूची का निर्माण किया है, उन्हें महाविद्यालय और जिला स्तर पर पुरस्कार और प्रशस्ति-पत्र प्रदान कर सम्मानित किया जायेगा। इस अभियान में एन.एस.एस., एन.सी.सी. और क्रीड़ा विभाग के छात्र-छात्राओं का भी सहयोग लिया जायेगा।

जिला पंचायत सामान्य सभा की बैठक संपन्न 

 जिला पंचायत सामान्य सभा की बैठक जिला पंचायत सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती उर्मिला मरेठा ने की। बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा सहित अन्य अधिकारी एवं जिला पंचायत सदस्य उपस्थित थे। बैठक के दौरान कृषि एवं ऋण माफी योजना, शिक्षा, स्वास्थ्य, जल संसाधन, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, विद्युत मंडल, पशुपालन आदि विभागों की समीक्षा की समीक्षा की गई। बैठक में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा करते हुए मीजल्स रुबेला टीकाकरण अभियान पर चर्चा करते हुए स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि मीजल्स रुबेला टीकाकरण अभियान प्रांरभ हो चुका है। अभियान के दौरान 9 माह से 15 वर्ष तक के बच्चों को एम.आर. टीके लगाए जा रहे हैं। सभी शासकीय एवं अशासकीय शालाओं में प्रथम दो सप्ताह में जहां 15 साल से कम उम्र के बच्चे पंजीकृत हैं। तृतीय एवं चतुर्थ सप्ताह में ग्राम/वार्ड के मध्य स्कूल/आंगनवाड़ी/मिनी आंगनवाड़ी में होगा।  जल संसाधन विभाग द्वारा जानकारी दी गई कि जिले में जल सीहोर के अधीन निर्मित/निर्माणाधीन 4 मध्यम, 66 लघु तालाब एवं 183 बैराजों से वर्ष 2018-19 में रबी सिंचाई हेतु निर्धारित लक्ष्य 40089 हेक्टेयर के विरुद्ध अभी तक 39569 हेक्टेयर में सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराई गर्ठ है। वर्तमान में जिले में 4 मध्यम एवं 23 लघु सिंचाई योजनाएं निर्माणाधीन/स्वीकृत हैं। लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी विभाग की समीक्षा करते हुए मुख्यमंत्री ग्राम नलजल प्रदानय योजना के क्रियान्वयन के संबंध में चर्चा की गई। जिले में प्रति विकासखंड 4 मुख्यमंत्री ग्राम नलजल प्रदान योजना के क्रियान्वयन का लक्ष्य प्राप्त हुए है। जिले के 5 विकासखंडों में से विकासखंड बुदनी के समस्त ग्राम मरदानपुर/बनेटा समूह जल प्रदाय योजना में सम्मिलित होने के कारण इस विकासखंड में मुख्यमंत्री ग्राम नलजल प्रदाय योजना के क्रियान्वयन हेतु चयनित ग्राम निरंक हैं। शेष 4 विकासखंडों सीहोर, इछावर, आष्टा एवं नसरुल्लागंज में मुख्यमंत्री ग्राम नलजल प्रदाय योजनाओं प्रगति पर हैं। बैठक में वित्तीय वर्ष में एकत्रित नमूनों की संख्या/विश्लेषण/जारी स्वाइल हेल्थ कार्ड संख्या की प्रगति, आर.के.व्ही.वाय योजना, विभिन्न योजना अन्तर्गत स्प्रिंकलर/ड्रिप/पाइपलाइन एवं विद्युत पंप प्रगति, अन्नपूर्णा योजना, राष्ट्रीय तिलहन मिशन, राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा मिशन, बालिका शिक्षा प्रोत्साहन, पाठय पुस्तक वितरण की स्थिति, गणवेश, सायकल वितरण, राजीव गांधी ग्रामीण विद्यतीकरण योजना, दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण ज्योति, सोभाग्य योजना आदि बिन्दुओं पर चर्चा की गई।

26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर शुष्क दिवस घोषित

 कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा द्वारा 26 जनवरी गणतंत्र दिवस को जिले में शुष्क दिवस घोषित किया गया है। इस अवधि में जिले में संचालित समस्त देशी एवं विदेशी मदिरा दुकानें एफ.एल-3, गोदाम एवं मद्य भांडागार बंद रहेंगे। कलेक्टर ने संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया है कि मदिरा के भंडारण पर सख्ती से रोक लगाई जाए और किसी भी अधिकृत एवं अनाधिकृत स्थान से मदिरा का क्र/विक्र/ और अवैध परिवहन न हो पाये। उक्त आदेश का सख्ती से पालन किया जाए।

मतदाता दिवस प्रतियोगिता आयोजित

राष्ट्रीय मतदाता दिवस विषय पर जिला स्तर पर विभिन्न प्रतियोगिता का आयोजन शासकीय आवासीय खेलकूद संस्था सीहोर में किया गया। प्रतियोगिता में सीहोर के विभिन्न शासकीय एवं अशासकीय शिक्षण संस्थाओं के छात्र एवं छात्राओं ने भाग लिया। जिला स्तरीय प्रतियोगिता में निबंध, वाद-विवाद, चित्रकला स्लोगन प्रतियोगिता के तहत छात्र एवं छात्राओं ने भाग लेकर अपने विचारों और अभिव्यक्ति को प्रदर्शित किया जिला स्तर पर प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागी राज्य स्तर की प्रतियोगिता 20 जनवरी को सीहोर जिले का प्रतिनिधित्व करेंगे। जिला स्तर चयनित प्रतिभागियों को राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर पुरस्कार प्रदान किये जाएंगे। प्रतियोगिता में निर्णायक आलोक शर्मा, श्रीमती नीना दुबे, शैलेन्द्र चंदेल, मनोज व्यास, आर के शर्मा, सुषमा श्रीवास्तव, थे तथा संजय सिंह जादौन एवं माधव सिंह यादव आदि उपस्थित थे।

मुख्य समारोह में मिलेगी देशभक्ति की झलक

26 जनवरी 2019 गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्य समारोह पुलिस परेड ग्राउंड मंडी सीहोर में आयोजित किया जावेगा। मुख्य समारोह हेतु मध्यप्रदेश गान, एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम की चयन प्रक्रिया शासकीय आवासीय खेलकूद संस्था सीहोर में आयोजित की गई। जिसमें सीहोर के विभिन्न शासकीय एवं अशासकीय विद्यालयों के बालक एवं बालिकाओं के दल ने भाग लेकर देशभक्ति से ओत-प्रोत एवं अन्य प्रेरणादायी तथा सामाजिक संदेशो पर आधारित गीतों पर अपना कार्यक्रम प्रस्तुत किया। चयन प्रक्रिया मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री अरूण कुमार विश्वकर्मा की अध्यक्षता में गठित समिति द्वारा आयोजित की गई समिति में निर्णायक संजय प्रताप सिंह, महिला एवं बाल विकास अधिकारी, डॉ आशा गुप्ता प्राचार्य, शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, डॉ सुमन तनेजा, प्राचार्य शासकीय कन्या महाविद्यालय तथा आलोक शर्मा, प्राचार्य शासकीय आवासीय खेलकूद संस्था उपस्थित थे।

कलेक्टर ने पेयजल प्रबंधन हेतु बैठक ली दिये आवश्यक निर्देश

sehore news
कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा की अध्यक्षता में पेयजल प्रबंधन हेतु बैइक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर द्वारा संपूर्ण जिले में संचालित पेयजल व्यवस्थाओं की जानकारी एवं आगामी गर्मी के मौसम में आने वाली पेयजल की कमी को दूर करने के लिये किये जाने वाले कार्यों एवं इसके लिये आवश्यक संसाधनों की पूर्ति के लिय जानकारी शीघ्र उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने निर्देशित किया कि हमें हर हाल में पानी का अपव्यय रोकना है। इसके तहत उन्होंने एसडीएम को निर्देशित किया कि तीनों तालाबों का मुआयना करें साथ ही यह भी देखें कि कहीं सीवेज का पानी तो पेयजल में नहीं मिल रहा है। पानी का लीकेज पूररी तरह रोके। पार्वती नदी में स्टोर किये गये पानी के सरंक्षण हेतु शाजापुर कलेक्टर को पत्र लिखकर सिंचाई हेतु अवैध रूप से लिये जा रहे पानी पर रोक लगवाएं। बिजली विभाग को भी सूचना दें कि जल सप्लाई के समय बिजली बंद न हो। समय पर बिजली दें। जिन बोर में पेयजल सप्लाई किया जा रहा है आवश्यकतानुसार उनका गहरीकरण करवाएं। जिले के दूरस्थ अंचलों में जिन गांवों में गर्मियों में पेयजल समस्या रहती है ऐसे सभी स्थानों पर पेयजल उपलब्ध कराने हेतु बोर लगवाने सहित अन्य आवश्यक सामग्री एवं उपकरणों हेतु मांगपत्र बनाकर दें ताकि समय रहते हम इस समस्या को दूर कर सकें। शहरी क्षेत्रों के आसपास स्थित गांवो में जो जीवित बोर है उन्हें चिन्हित कर उनका अधिग्रहण करें।  कलेक्टर ने कार्यपालन यंत्री पीएचई को निर्देशत किया कि आवश्यकता के अनुसार निजी बोर अधिग्रहित करें। आष्टा अनुविभागीय अधिकारी को निर्देश दिये कि उपयुक्त धारा के तहत आदेश निकाले कि तालाब का संरक्षित पानी कोई न ले। उन्होंने कहा कि ध्यान रखें कि हमें किसी भी स्थिति में टैंकर से पानी सप्लाई न करना पड़े। पहले शासकीय बोर से पूर्ति करें, आवश्यकता हो तो ही अधिग्रहित किये गये निजी बोर का उपयोग करें। कलेक्टर ने सभी नगरपालिका/नगरपंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों से अपने-अपने क्षेत्र में पेयजल की वास्वितक स्थिति जानी एवं आने वाले गर्मी के मौसम में किये जाने वाले उपायों की विस्तृत जानकारी लेकर आवश्यक निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि दो हजार हेंडपंप गर्मी के मौसम में बंद हो जाते हैं अनुविभागीय अधिकारी को पता होना चाहिए कि कौनसा हेंडपंप बि बंद होता है।  प्रत्येक महीने का ग्रामवार हेंडपंप सूखने का चार्ट तीन दिन में तैयार कर उपलब्ध कराएं। पेयजल से संबंधित सूचना अनुविभागीय अधिकारी तक आना चाहिए। प्रत्येक हेंडपंप पर एसडीओ, सीईओ जनपद पंचायत, पीएचई और हेंडपंप मैकेनिक का नंबर लिखा होना चाहिए।  बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा, अपर कलेक्टर श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी, सभी तहसीलों के एसडीएम, ईई पीएचई श्री जैन मुख्य कार्यपालन अधिकारी नगरपालिका/नगर पंचायत सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...