एक दूसरे से नजरें न मिलाने वाले एक जुट हुए : मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 9 जनवरी 2019

एक दूसरे से नजरें न मिलाने वाले एक जुट हुए : मोदी


they-used-to-avoid-each-other-now-are-united-_-modi
आगरा 09 जनवरी, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किसी पार्टी का नाम लिये बिना महागठबंधन पर तंज कसते हुये कहा कि जो लोग एक-दूसरे का मुंह देखने के लिए तैयार नहीं होते थे, वे देश के चौकीदार को हटाने के लिए एक हो रहें हैं लेकिन ये चौकीदार बिना डरे, बिना रुके पूरी ईमानदारी से अपना काम करता रहेगा। श्री मोदी ने बुधवार को आगरा के कोठी मीना बाजार मैदान में बटन दबाकर गंगाजल समेत 3907 करोड़ रुपये लागत की योजनाओं का लोकार्पण तथा शिलान्यास करने के बाद जनसभा को संबोधित करते हुये कहा, “जो लोग एक-दूसरे का मुंह देखने के लिए तैयार नहीं होते थे, वे देश के चौकीदार को हटाने के लिए एक हो रहें हैं लेकिन ये चौकीदार बिना डरे, बिना रुके पूरी ईमानदारी से अपना काम करता रहेगा।'’ उन्होंने कहा कि वे कहते हैं कि चौकीदार को पहले निकालो फिर हम लूटपाट करके गुजारा कर लेंगे। उन्होंने कहा कि राजनीतिक स्वार्थ के लिए लखनऊ के गेस्ट हाउस का वह शर्मनाक कांड भी भुला दिया गया, मुजफ्फरनगर से लेकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में क्या-क्या हुआ सब भुलाने की कोशिश की जा रही है। उन्‍हें चौकीदार का डर है। चौकीदार को दूर से ही देखकर घबरा जाते हैं। वे चाहते हैं कि चौकीदार चला जाए फिर अपना हिसाब-किताब देख लेंगे। उनकी कोशिश चौकीदार को निकालने की है। चौकीदार जब तक रहेगा जीना मुश्किल कर देगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...