यह दूसरी हरितक्रांति के सूत्रपात का वक्त : राहुल गाँधी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 10 जनवरी 2019

यह दूसरी हरितक्रांति के सूत्रपात का वक्त : राहुल गाँधी

time-for-second-green-revolution-rahul-gandhi
जयपुर, 9 जनवरी, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को किसानों से कहा कि दूसरी हरित क्रांति का सूत्रपात करने का वक्त आ गया है और लोकसभा चुनाव के बाद सत्ता में आने पर वह ऐसा जरूर करेंगे। राजस्थान में लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी के अभियान का आगाज करते यहां एक किसान रैली में उन्होंने इस बात की घोषणा की। रैली में उन्होंने एक बार फिर राफेल विमान सौदे को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने एलान किया कि कांग्रेस सरकार प्रदेश में किसानों के खेतों के पास खाद्य-प्रसंस्करण इकाइयां लगाएंगी। राहुल गांधी ने कहा, "हमारा मकसद अपनी फसलों को दुनियाभर से जोड़ना है। इस दिशा में हमें नई रणनीति की जरूरत है। इसलिए दूसरी हरित क्रांति लाने की आवश्यकता है।"

उन्होंने कहा, "सचमुच कांग्रेस यह कार्य करेगी। हमने खेतों के पास खाद्य प्रसंस्करण इकाइयां लगाने का फैसला लिया है, जहां किसान अपनी फसल लगाते हैं।" कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि उन्होंने पहले ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट से इस संबंध में बात की है। उन्होंने कहा कि मोदी को देश के किसानों का कर्ज माफ करना होगा या नहीं तो कांग्रेस सत्ता में आने पर यह काम करेगी। गांधी ने एक बार फिर कहा कि कर्जमाफी से किसानों की समस्या का समाधान नहीं होगा, लेकिन यह गरीब किसानों की मदद के लिए पहला कदम है। उन्होंने कहा, "हम किसानों को नई प्रौद्योगिकी से मदद करेंगे।" कांग्रेस अध्यक्ष ने राजस्थान के किसानों की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने प्रदेश में कांग्रेस की सरकार बनाकर मोदी को अपनी ताकत दिखाई। क्रिकेट की भाषा का इस्तेमाल करते हुए उन्होंने कहा, "विधानसभा चुनावों में मोदी ने किसानों की शक्ति देख ली। अब वक्त आ गया है जब भारत के किसान और युवाओं को बिना डरे आगे बढ़कर छक्का लगाना चाहिए।" उन्होंने कहा, "सही मायने में पिछले साढ़े चार साल में वादे करने के बाद मोदी पीछे हट रहे हैं।"

राहुल ने कहा, "हमारे प्रधानमंत्री ने रोजगार, नौकरी, कर्जमाफी के वादे किए, लेकिन उनकी बैटिंग (वादे पूरे करने) की जब बारी आई तो वह डर गए और पीछे हट गए।" उन्होंने कहा, "मोदी ने नौकरियों का वादा किया, लेकिन बदले में नोटबंदी और जीएसटी लाए जिनसे छोट-छोटे व्यवसाय प्रभावित हुए और किसानों को नुकसान हुआ।" उन्होंने कहा, "फिर उन्होंने हमारा पैसा अपने मित्र (राफेल सौदा में) को दे दिया।" राहुल गांधी ने कहा कि मोदी 56 इंज का सीना होने का दावा करते हैं, लेकिन उनमें एक मिनट के लिए भी लोकसभा आने का साहस नहीं है। उन्होंने कहा, "वह पंजाब विश्वविद्यालय चले गए और उनकी मंत्री निर्मला सीतारमण ढाई घंटे तक बोली।" उन्होंने कहा, "चौकीदार ने चोरी की और चौकीदार डर से भाग गया।" उन्होंने नारा लगाते हुए कहा, "चौकीदार चोर है।" इसपर भीड़ में शामिल लोगों ने भी उनके नारे को दोहराया। उन्होंने लोगों से अपने दुख-दर्द राजस्थान में कांग्रेस के मंत्रियों से साझा करने को कहा। उन्होंने कहा, "हमें अपने मन की बात बताइए। हम अपने मन की बात नहीं बताएंगे, लेकिन आपका सुझाव सुनेंगे।" उन्होंने राजस्थान के मंत्रियों को चेतावनी देते हुए कहा कि उनके खिलाफ कोई शिकायत नहीं मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा, "मेरी पहली प्राथमिकता यहां के लोग हैं उसके बाद पार्टी के कार्यकर्ता आते हैं। "

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...