बिहार में समग्र कृषि विकास को चार नए कृषि महाविद्यालय की स्थापना की जाएगी : डाॅ प्रेम कुमार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 7 फ़रवरी 2019

बिहार में समग्र कृषि विकास को चार नए कृषि महाविद्यालय की स्थापना की जाएगी : डाॅ प्रेम कुमार

- कृषि मंत्री ने गुणवत्तायुक्त बीज उत्पादन के लिए थ्रेसिंग फ्लोर, बीज भंडारण, बीज प्रसंस्करण इकाई एवं राष्ट्रीय कृषि विकास योजनान्तर्गत जिला प्रक्षेत्र, खुश्कीबाग में गोदाम निर्माण कार्य का किया शिलान्यास- कृषि महाविद्यालय पूर्णिया की विभिन्न गतिविधियों का अवलोकन करते हुए मखाना अनुसंधान के कार्यों की सराहना की 
agriculture-university-will-be-staiblish-prem-kumar
पूर्णिया : भोला पासवान शास्त्री कृषि महाविद्यालय में गुणवत्तायुक्त बीज उत्पादन के लिए थ्रेसिंग फ्लोर, बीज भंडारण इकाई, बीज प्रसंस्करण इकाई एवं राष्ट्रीय कृषि विकास योजनान्तर्गत जिला प्रक्षेत्र खुश्कीबाग में गोदाम निर्माण कार्य के शिलान्यास समारोह का आयोजन महाविद्यालय के पुस्तकालय सभागार में किया गया। साथ ही कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम अंतर्गत औषधीय एवं सुगंध पौधों की खेती का उद्घाटन किया गया। कार्यक्रम की शुरूआत अतिथियों द्वारा पूर्व मुख्यमंत्री स्व भोला पासवान शास्त्री की प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर की गई। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कृषि मंत्री, बिहार सरकार डाॅ प्रेम कुमार थे। सह अधिष्ठाता सह प्राचार्य डाॅ पारसनाथ के द्वारा सभी अथितियों का बुके व अंग वस्त्र देकर स्वागत किया गया। इस मौके पर मुख्य अतिथि एवं अन्य अतिथियों द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम की शुरूआत की गई। प्राचार्य ने महाविद्यालय में पधारे आगंतुकों का स्वागत करते हुए गुणवत्तायुक्त बीज उत्पादन के महत्व पर अपने विस्तृत विचारों को प्रस्तुत किया। प्राचार्य ने विगत आठ वर्षों में महाविद्यालय के शैक्षणिक, अनुसंधान, प्रसार एवं प्रशिक्षण की उपलब्धियों की जानकारी दी। एसपी सिन्हा ने कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम की विस्तृत जानकारी दी। इसके बाद विधायक विजय खेमका ने कृषि महाविद्यालय की उपलब्धियों की सराहना करते हुए महाविद्यालय के समग्र विकास में पूर्ण सहयोग करने की बात की। कृषि मंत्री ने स्व भोला पासवान शास्त्री जी के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि शास्त्री जी हम सभी के लिए अनुकरणीय है। उन्होंने भोला पासवान शास्त्री कृषि महाविद्यालय के किसानों के हित में कार्य करने की सराहना की। उन्होंने तृतीय कृषि रोडमैप की प्रगति पर चर्चा करते हुए जैविक खेती अपनाने की सलाह दी। कृषि स्नातक में अध्ययनरत छात्र छात्राओं से कृषि मंत्री ने सीधा संवाद किया। उन्होंने बताया कि बिहार में समग्र कृषि विकास के लिए चार नए कृषि महाविद्यालय की स्थापना की जाएगी। उन्होंने कहा कि 210 एकड़ भूभाग में फैले महाविद्यालय में चाहरदिवारी नहीं होने के कारण भूमि का अतिक्रमण हो रहा है। निकट भविष्य में जल्द से जल्द चाहरदिवारी बनाई जाएगी। कृषि महाविद्यालय निर्माणाधीन आवास एवं सभागार को जल्द से जल्द पूरा कराया जाएगा। पुरूष तथा महिला छात्रावास के ऊपर एक एक अतिरिक्त मंजिल बनाई जाएगी ताकि अध्ययनरत छात्र छात्राओं को रहने की उचित व्यवस्था हो सके। इस मौके पर महाविद्यालय के डाॅ जनार्दन प्रसाद, डाॅ जेएन श्रीवास्तव, डाॅ अनिल कुमार, डाॅ रवि केसरी, मणिभूषण, जेपी प्रसाद, एसपी सिन्हा, डाॅ रणवीर कुमार, डाॅ रूबी साहा, डाॅ सूरज प्रकाश, डाॅ एनके शर्मा, अनुपम कुमारी, सुमन कल्याणी, डाॅ श्याम बाबू साह, डाॅ मिथिलेश कुमार, डाॅ राधेश्याम के अलावे सभी वैज्ञानिक व कर्मचारियों में अभियंत्रण शाखा के ई प्रदीप कौशल, ई रंजन कुमार एवं ई राजेश कुमार की सहभागिता रही। कार्यक्रम का मंच संचालन डॉ अनिल कुमार एवं धन्यवाद ज्ञापन डाॅ जेएन श्रीवास्तव द्वारा किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...