बुनियादी क्षेत्र की वृद्धि रफ्तार जनवरी में पड़ी सुस्त, 1.8 प्रतिशत रही - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 28 फ़रवरी 2019

बुनियादी क्षेत्र की वृद्धि रफ्तार जनवरी में पड़ी सुस्त, 1.8 प्रतिशत रही

basic-development-1.8-percent
नयी दिल्ली, 28 फरवरी, कच्चे तेल, रिफाइनरी उत्पादों और बिजली के उत्पादन में नरमी से आठ बुनियादी उद्योगों की वृद्धि दर इस साल जनवरी में धीमी पड़कर 1.8 प्रतिशत रह गई। कोयला, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी उत्पाद, उर्वरक, इस्पात, सीमेंट और बिजली के क्षेत्र में जनवरी, 2018 में 6.2 प्रतिशत की वृद्धि देखी गयी थी। कच्चा तेल, रिफाइनरी उत्पादों और बिजली उत्पादन में जनवरी में क्रमशः 4.3 प्रतिशत, 2.6 प्रतिशत और 0.4 प्रतिशत की कमी देखी गयी।  कोयला और सीमेंट उद्योग में भी वृद्धि दर कम होकर 1.7 प्रतिशत और 11 प्रतिशत पर रही। पिछले साल जनवरी में यह आंकड़ा क्रमशः 3.8 प्रतिशत और 19.6 प्रतिशत रहा था। हालांकि, आलोच्य महीने में प्राकृतिक गैस, उर्वरक और इस्पात उत्पादन में क्रमशः 6.2 प्रतिशत, 10.5 प्रतिशत और 8.2 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी। बुनियादी क्षेत्र में धीमी वृद्धि का प्रभाव औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) पर भी पड़ेगा क्योंकि कारखाने से कुल उत्पादन में इन क्षेत्रों की हिस्सेदारी 41 प्रतिशत होती है। वाणिज्य एव उद्योग मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल, 2018-जनवरी, 2019 के दौरान इन आठ क्षेत्रों में साढ़े चार प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गयी जबकि इससे पिछले वित्त वर्ष में यह आंकड़ा 4.1 प्रतिशत पर था।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...