भारत, पाक को आगे सैन्य कार्रवाई से बचना चाहिए : पेंटागन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 28 फ़रवरी 2019

भारत, पाक को आगे सैन्य कार्रवाई से बचना चाहिए : पेंटागन

india-pakistan-avoid-war-pentagun
वाशिंगटन, 28 फरवरी, भारत और पाकिस्तान के बीच मौजूदा तनाव बढ़ने की आशंका के मद्देनजर पेंटागन ने बुधवार को दक्षिण एशिया के दोनों पड़ोसी देशों से आगे सैन्य कार्रवाई से बचने की अपील की। जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में 14 फरवरी को आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवानों के शहीद होने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है। पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) ने हमले की जिम्मेदारी ली है। भारत-पाकिस्तान तनाव के मद्देनजर कार्यवाहक रक्षा मंत्री पैट्रिक शनहान ने विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन, ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टॉफ के चेयरमैन जोसेफ डनफोर्ड और अमेरिकी मध्य कमान के कमांडर जनरल जोसेफ वोटेल के साथ संपर्क में हैं।  पेंटागन ने एक बयान में कहा, ‘‘कार्यवाहक मंत्री शनहान का लक्ष्य तनाव को कम करना और दोनों देशों से आगे सैन्य कार्रवाई से बचने का अनुरोध करना है।’’  कनाडा ने भी भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव कम करने का आह्वान किया है। कनाडा के विदेश मामले के मंत्री क्रिस्टिया फ्रीलैंड ने कहा, ‘‘भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़ते तनाव पर कनाडा गंभीर रूप से चिंतित है। हम दोनों तरफ से अधिकतम संयम बरतने और आगे किसी सैन्य कार्रवाई से बचने का अनुरोध करते हैं।’’  उन्होंने भारत और पाकिस्तान के बीच वर्तमान समस्या का एक स्थायी राजनयिक समाधान निकालने की अपील की। फ्रीलैंड ने कहा, ‘‘भारत और पाकिस्तान के बीच एक स्थायी राजनीतिक समाधान की पहचान करने और क्षेत्र में शांति एवं सुरक्षा बनाए रखने के लिए बाचतीत की जरूरत है।’’  कनाडा के विदेश मंत्री ने कहा कि कनाडा आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक लड़ाई में अपना सहयोग देने के प्रति दृढ़ है। उन्होंने कहा, ‘‘हम इस प्रयास में भारत, पाकिस्तान और अपने अंतरराष्ट्रीय सहयोगियों के साथ काम करने को लेकर प्रतिबद्ध है।’’ 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...