पुलवामा हमले में इस्तेमाल हुई थी मारुति ईको कार, मालिक फरार : NIA - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 25 फ़रवरी 2019

पुलवामा हमले में इस्तेमाल हुई थी मारुति ईको कार, मालिक फरार : NIA

maruti-eeco-used-in-pulwama-attack
नयी दिल्ली, 25 फरवरी, राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सोमवार को कहा कि पुलवामा आतंकी हमले में एक मारुति ईको मिनीवैन का इस्तेमाल किया गया था और इसे 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले पर हमले से महज 10 दिन पहले जैश-ए-मोहम्मद के एक सदस्य ने खरीदा था। गाड़ी मालिक की पहचान जैश के सदस्य सज्जाद भट के तौर पर की गयी है जो दक्षिण कश्मीर के बिजबेहारा का निवासी है। एनआईए प्रवक्ता के अनुसार वह फरार है और समझा जाता है कि अब सक्रिय आतंकी बन गया है। प्रवक्ता ने कहा कि एनआईए ने हमला स्थल से मिले कार के टुकड़ों को जोड़कर गाड़ी और उसके मालिक की पहचान कर जांच में महत्वपूर्ण सफलता हासिल की है। एनआईए अधिकारियों ने फोरेंसिक और ऑटोमोबाइल विशेषज्ञों के सहयोग से विस्फोट में इस्तेमाल वाहन की पहचान मारूति ईको कार के रूप में की है जिसका चैसिस नंबर एमए3 ईआरएलए1एसओओ183735 और इंजन नंबर जी12 बीएन164140 है। यह गाड़ी अनंतनाग के हैवन कॉलोनी निवासी मोहम्मद जलील अहमद हकानी को 2011 में बेची गयी थी। इसके बाद यह सात बार बिकी और अंत में दक्षिण कश्मीर के बिजबेहारा निवासी सज्जाद भट के पास पहुंची। प्रवक्ता के अनुसार गाड़ी 4 फरवरी को खरीदी गयी थी। सज्जाद सिराज-उल-उलूम, शोपियां का छात्र था। एनआईए और पुलिस के एक दल ने शनिवार को सज्जाद के घर पर छापेमारी की लेकिन वह मौजूद नहीं था। खबरों के मुताबिक वह जैश-ए-मोहम्मद में शामिल हो गया है और सोशल मीडिया पर उसकी तस्वीर भी सामने आई थी जिसमें वह हथियार के साथ दिखाई दिया। एनआई ने 20 फरवरी को जम्मू कश्मीर पुलिस से पुलवामा हमले की जांच अपने हाथ में ले ली थी।  एनआईए के महानिदेशक वाई सी मोदी ने एजेंसी के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ श्रीनगर से 33 किलोमीटर दूर हमला स्थल का दौरा किया, जहां पुलिस और सीआरपीएफ ने उन्हें स्थिति से अवगत कराया। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...