पूर्णिया : नगर निगम से सटे ग्रामीण क्षेत्रों काे चार हिस्सों में बांटकर शहरी अंदाज में होगा विकास - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 18 फ़रवरी 2019

पूर्णिया : नगर निगम से सटे ग्रामीण क्षेत्रों काे चार हिस्सों में बांटकर शहरी अंदाज में होगा विकास

- बिहार शहरी आयोजना तथा विकास अधिनियम 2012 की धारा 9 सह पठित बिहार शहरी आयोजना तथा विकास नियमावली 2014 के नियम 9 के तहत कार्य किया जाएगा- पूर्णिया शहरी क्षेत्र के साथ साथ आसपास के नगर पंचायत क्षेत्र को मिलाकर पूर्णिया आयोजना क्षेत्र का विकास किया जाएगा

purnia-will-develop-soon
कुमार गौरव । पूर्णिया : नगर निगम अंतर्गत सभी 46 वार्डों में समग्र विकास के लिए रूपरेखा तैयार की गई है। नगर विकास एवं आवास विभाग ने पूर्णिया शहर के अलावा बेगूसराय, मुजफ्फरपुर व भागलपुर में विकास कार्यों को गति देने के लिए आयोजना क्षेत्र विकास कार्य काे हरी झंडी दिखा दी है। जिसकी बानगी जल्द ही शहर व आसपास के इलाकों में देखने को भी मिलेगी। बिहार शहरी आयोजना तथा विकास अधिनियम 2012 की धारा 9 सह पठित बिहार शहरी आयोजना तथा विकास नियमावली 2014 के नियम 9 के तहत कार्य किया जाएगा। बता दें कि नगर निगम व इसके आसपास स्थित महत्वपूर्ण क्षेत्रों व शहरी क्षमता वाले ग्रामीण क्षेत्रों के समेकित एवं सुव्यवस्थित विकास के उद्देश्य से अगले बीस वर्षों या इससे विस्तारित अवधि के लिए महायोजना तैयार करने के लिए आयोजना क्षेत्र घोषित किया गया है। पूर्णिया शहरी क्षेत्र के साथ साथ आसपास के नगर पंचायत क्षेत्र को मिलाकर पूर्णिया आयोजना क्षेत्र का विकास किया जाएगा। जिसे लेकर गत दिनों नगर विकास एवं आवास विभाग पटना के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद ने महायोजना को हरी झंडी दिखा दी है। जिसके तहत ग्रामीण हलकों में भी शहरी क्षेत्र की तरह आधुनिक सुविधाएं बहाल की जाएंगी ताकि शहर के अतिरिक्त भीड़ भाड़ को कम किया जा सके। 

...आयोजना क्षेत्र के तहत शहर को चार हिस्सों में बांटा जाएगा : 
मास्टर प्लान को लेकर जहां पूर्णिया आयोजना क्षेत्र तैयार किया जाएगा वहीं समग्र विकास को ले शहर को उत्तर, दक्षिण, पूरब व पश्चिम चार हिस्सों में बांटा जाएगा। 
- उत्तर क्षेत्र अंतर्गत पूर्वी भाग में कसबा सीडी ब्लॉक के लहरिया, सरौसिया, सररा, बरैटा, मोहनी, बितौना राजस्व ग्राम, श्रीनगर सीडी ब्लॉक के गरहिया, बलुआ, देवीनगर राजस्व ग्राम से होते हुए पश्चिम भाग में केनगर सीडी ब्लॉक के मोगलाहा, पोथिया, असरफनगर राजस्व गांव शामिल है। 
- दक्षिण क्षेत्र अंतर्गत पूर्वी भाग में पूर्णिया पूर्व सीडी ब्लॉक के बियारपुर, पिपरा, कमरैली, पीरगंज, थरहा मिलिक राजस्व ग्राम से होते हुए पश्चिमी भाग में केनगर सीडी ब्लॉक के गंगैली, चपैई राजस्व ग्राम शामिल है। 
- पूरब क्षेत्र अंतर्गत उत्तरी भाग में कसबा सीडी ब्लॉक के कनवापारा, दियारी, शिकारपुर राजस्व ग्राम, डगरूआ सीडी ब्लॉक के कदमगच्छी, तमौट, मरैया, रामपुर, कोरहैली, रामपुर राजस्व ग्राम से होते हुए पूर्णिया पूर्व सीडी ब्लॉक के महाराजपुर, परमानंदपुर, जियागाछी, रामपुर राजस्व ग्राम शामिल है। 
- पश्चिम क्षेत्र अंतर्गत उत्तरी भाग में केनगर सीडी ब्लॉक के धनहारा घाट, मोहम्मदपुर, गोकुलपुर, बिथनौली खेमचंद, काझा, जाटला खैईमिलिक, रहुआ मिलिक से होते हुए दक्षिणी भाग में गंगेली खेमचंद मिलिक ग्राम शामिल है।  

...आयोजना क्षेत्र का 619.73 वर्ग किमी होगा क्षेत्रफल : 
पूर्णिया आयोजना क्षेत्र का विकास विभाग द्वारा 619.73 वर्ग किलोमीटर के दायरे में किया जाएगा। जिसमें शहरी क्षेत्र का क्षेत्रफल 104.86 वर्ग किमी व शेष ग्रामीण क्षेत्र का क्षेत्रफल 514.87 वर्ग किमी शामिल है। इस आयोजना क्षेत्र के अंतर्गत दो शहरी प्रशासनिक इकाई पूर्णिया नगर निगम व कसबा नगर पंचायत बनाई गई है। जिसमें पूर्णिया पूर्व सीडी ब्लॉक के 51 राजस्व ग्राम, केनगर सीडी ब्लॉक के 50 राजस्व ग्राम, श्रीनगर सीडी ब्लॉक के 10 राजस्व ग्राम, कसबा सीडी ब्लॉक के 19 राजस्व ग्राम और डगरूआ सीडी ब्लॉक के 21 राजस्व ग्राम को शामिल किया गया है। यानी कुल 151 राजस्व ग्राम को इस महायोजना के तहत विकसित किया जाएगा। 

...मिला है दिशा निर्देश : 
पूर्णिया आयोजना क्षेत्र को लेकर रूपरेखा तैयार की गई है। इसे लेकर दिशा निर्देश प्राप्त हुआ है। लेकिन अबतक इसका बजट कितना होगा इसकी जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई है। इस महायोजना के तहत शहरी क्षेत्र के आसपास ग्रामीण क्षेत्रों को समुचित विकास कराया जाएगा।  : विजय कुमार सिंह, नगर आयुक्त, नगर निगम पूर्णिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...