सैनिकों के बलिदान का राजनीतिकरण कर रहा है सत्तापक्ष : विपक्ष - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 27 फ़रवरी 2019

सैनिकों के बलिदान का राजनीतिकरण कर रहा है सत्तापक्ष : विपक्ष

ruling-parties-are-politicizing-of-of-soldiers-supreme-sacrifices-opposition
नयी दिल्ली 27 फरवरी, विपक्ष ने सत्तापक्ष के नेताओं पर सैनिकों के बलिदान का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाते हुए बुधवार को कहा कि राष्ट्र की संप्रभुता और अखंडता की रक्षा के लिए उठाये जाने वाले सभी कदमों पर सरकार को विपक्षी दलों को भराेसे में लेना चाहिए।  लगभग तीन घंटे तक यहां चली 21 विपक्षी दलों की बैठक के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक लिखित वक्तव्य पढ़ते हुए कहा कि राष्ट्रीय सुरक्षा को राजनीतिक मतभेदों को ऊपर रखना चाहिए। उन्होेंने कहा कि बैठक में शामिल सभी राजनीतिक दलों ने इस पर गहरा रोष व्यक्त किया कि जवानों के बलिदान का सत्तापक्ष के नेता राजनीतिकरण कर रहे हैं। विपक्षी नेताओं ने इस पर भी अफसोस जाहिर किया कि देश की लोकतांत्रिक परंपरा के अनुरूप राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर प्रधानमंत्री ने सर्वदलीय बैठक नहीं बुलायी।  विपक्षी नेताओं ने सरकार से राष्ट्र की संप्रभुता, एकता और अखंडता की रक्षा के लिए उठाये जाने वाले सभी कदमों के संबंध में देश को भरोसे में लेने का अनुरोध किया। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...