सीहेार (मध्यप्रदेश) की खबर 08 फ़रवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 8 फ़रवरी 2019

सीहेार (मध्यप्रदेश) की खबर 08 फ़रवरी

किसानों की समस्याओं का करेंगे शीघ्र निराकरण कृषि मंत्री से मिला कांग्रेस प्रतिनिधि मंडल 

sehore news
सीहेार। कांग्रेस प्रतिनिधि मंडल में शामिल युवाओं ने जिला कायज़्कारी अध्यक्ष राहुल यादव के नेतृत्व में कृषि मंत्री सचिन यादव से मंत्रालय पहुंचकर भेंट की। कांग्रेस कायज़्कताओज़्ं के द्वारा मंत्री श्री यादव का पुष्प मालाओं से स्वागत किया गया।  कृषि मंत्री को जिला कायज़्कारी अध्यक्ष श्री यादव ने जिले की राजनीतिक गतिविधियों से अवगत कराया। कृषि मंत्री श्री यादव ने कहा की जिले के किसानों को अब किसी भी परेशानी का सामना नहीं करना होगा। प्रदेश के मुखिया कमलनाथ के नेतृत्व में सरकार ने किसानों का कजाज़् माफ कर बड़ी सौगात पहले ही दे दी है। कृषि मंत्री श्री यादव ने कांग्रेसजनो से लोकसभा चुनावों की तैयारियों में जुट जाने का आहवान किया। प्रतिनिधि मंडल में प्रमुख रूप से जिला मीडिया प्रभारी रवि पांडे, युवा नेता हरि शंकर सिलोदिया, चेतन वास्तवार, गुडडु बेल्डर, सन्नी यादव, सफीक लाला, इरफान खान, अमित मालवीय, रोहित सेन, मयंक सोनी सहित अन्य कांग्रेस कायज़्कता शामिल रहे। 

सलकनपुर विकास योजना के क्रियान्वयन हेतु नियोजन एवं पर्यवेक्षण समिति की बैठक संपन्न

sehore news
कलेक्टर श्री गणेश शंकर मिश्रा की अध्यक्षता में शुक्रवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में सलकनपुर विकास योजना 2021 के क्रियान्वयन के लिए शासन द्वारा गठित नियोजन एवं पर्यवेक्षण समिति की बैठक संपन्न हुई। बैठक में अपर कलेक्टर श्री विनोद कुमार चतुर्वेदी, संयुक्त संचालक नगर तथा ग्रामीण निवेश श्री एस.के. मुदगल, नप अध्यक्ष रेहटी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में कलेक्टर ने नपं अध्यक्ष रेहटी को निर्देश दिए कि नगर पंचायत अपनी प्राथमिकता से भूमि, पार्किंग आदि के योजना तैयार कर प्रस्तुत करें। विकास योजना की सफलता, विकास योजना प्रस्तावों का निर्धारित समयावधि में क्रियान्वयन तथा प्रथम चरण कार्यक्रम के अनुसार संसाधनों की उपलब्धता तथा गतिशीलता पर निर्भर करती है। यह योजना क्रियान्वयन एवं पुनर्विलोकन के साथ-साथ विकास योजना के प्रभावशील होने के उपरांत तदानुसार कार्यवाही हेतु परिभाषित पर्यवेक्षण तंत्र के स्थापना की आवश्यकता प्रदर्शित करती है। योजना पर्यवेक्षण तंत्र को विभिन्न सीमाओं से तैयार करना प्रस्तावित है। बैठक में पंचवर्षीय आधारपर एकीकृत नगरीय विकास कार्यक्रम के निरंतर तंत्र की स्थापना, आलोच्य क्षेत्रों में वार्षिक विकास कार्यक्रम के अन्तर्गत नगर विकास हेतु चिन्हित कार्यक्रमों में विभिन्न सार्वजनिक संस्थाओं के उपलब्ध निवेश एवं बजट का पर्यवेक्षण करना, वार्षिक भौतिक लक्ष्य एवं अधोसंरचना क्षेत्र में निवेश का निर्धारण, समन्वित संस्थागत तंत्र की स्थापना, सार्वजनिक एवं अन्य संस्थाओं की भूमिका को परिभाषित करते हुए एकीकृत नगर विकास कार्यक्रम का परियोजनाओं तथा उप परियोजनाओं के संदर्भ में परिवर्तन करना आदि विषयों पर चर्चा की गई।

महर्षि वाल्मिकी प्रोत्साहन योजना हेतु आवेदन

जनजातीय कार्य विभाग जिला संयोजक ने जानकारी देते हुए बताया कि जे.ई.ई/क्लेट/एम्स/नीट की वर्ष 2018 की परीक्षा के माध्यम से आई.आई.टी./एन.आई.टी./विधि संस्थानों/मेडिल में चयनित होकर उत्कृष्ट संबंधित संस्थान में प्रवेश लेने वाले अनूसूचित जाति के विद्यार्थियों को महर्षि वाल्मिकी प्रोत्साहन योजना वर्ष 2018-19 में प्रोत्साहन राशि आवदेन पत्र आमंत्रित किए गए हैं। प्रवेश की पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण हाने की सूचना एवं संस्था में प्रवेश लेने की प्रमाणित जानकारी के साथ आवेदन प्रस्तुत करना होगा। आवेदक मप्र का मूल निवासी अनुसूचित जाति वर्ग का सदस्य हो। महर्षि वाल्मिकी प्रोत्साहन योजना की विस्तृत जानकारी विभागीय SC Development पोर्टल पर देखी जा सकती है। विभागीय पोर्ट के सूचना पट पर उपलब्ध लिंक को क्लीक ऑनलाइन आवेदन किया  जा सकता है।

रबी अभियान 2018- 19 सह कृषक सेमिनार का आयोजन

sehore news
कृषि विज्ञान केन्द्र सेवनियां द्वारा रबी अभियान 2018-19 सह कृषक सेमिनार का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कृषि स्थाई समिति अध्यक्ष राजेश गौर, विशेष अतिथि दलहन विकास निदेशालय निदेशक डॉ. ए. के. तिवारी, डॉ विजय कुमार सिंह, डॉ. एम.एस. परिहार, हरि सिंह देवडा, डॉ. के. जे. सिंह, कार्यक्रम अधिकारी, दूरदर्शन केन्द्र, सहायक संचालक, उद्यान, सीहोर अमित सोलंकी, सहायक संचालक, कृषि अभियांत्रिकी, वी.के. शर्मा, वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी इछावर, इफको, कृभको, यू. पी. एल. लिमिटेड, बायफ, रिलायंस फाउण्डेषन लिमिटेड, वायर,जियोलाईफ लिमिटेड कम्पनियों के प्रतिनिधि एवं सीराक, विभावरी, समर्थन, आषानिकेतन, आई. टी. सी. चौपाल सागर, आदि स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधि एवं वैज्ञानिक संदीप टोडवाल, जे. के. सहित अन्य वैज्ञानिक अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे। कार्यक्रम में जिले के लगभग 400 कृषकों ने भाग लिया।  कार्यक्रम में कृषि स्थाई समिति अध्यक्ष राजेश गौर ने कृषकों को कृषि तकनीकों को अपनाने हेतु प्रेरित किया। उन्होंने कृषकों को जैविक खेती के प्रति भी जागरूक किया। दलहनी फसलों को बढावा देने हेतु प्रेरित किया। उन्होंने दलहन विकास पर चर्चा करते हुए कृषकों/कृषक महिलाओं को चना, मसूर, मूंग, उड़द फसलों की उत्पादन तकनीक पर विस्तार से चर्चा कर फसलों के उत्पादन को बढाने के बिन्दुओं पर भी विस्तार से जानकारी दी। डॉ. एम. एस. परिहार ने उद्यानिकी फसलों की उच्च प्रौद्योगिकी, नवीन उद्यानिकी फसलों पर विस्तार से जानकारी दी। तकनीकी सत्र के दौरान जे. के. कनौजिया ने कार्यक्रम के उद्देश्य पर चर्चा करते हुए कृषकों को कृषि की नवीन तकनीकों को अपनाने हेतु प्रेरित किया व खेती को वैज्ञानिक ढंग से करने हेतु आग्रह भी किया। आपने समन्वित कृषि प्रणाली पर उन्नत कृषि यंत्रों का उपयोग, जैविक खेती आदि पर विस्तार से जानाकारी दी।    कार्यक्रम के दौरान कृषि विज्ञान केन्द्र, सेवनिया कृषि अभियान्त्रिकी, जियोलाईफ प्रा. लिमिटेड, यू. पी. एल. लिमिटेड, इफको, कृभको, रिलायंस फाउण्डेषन, बायोग्राम प्रा. लिमिटेड, वायर, बायफ, सीहोर आदि विभागों द्वारा प्रदर्शनी लगायी गई।  जिसमें जिले के कृषकों द्वारा जैविक उत्पाद, फूलगोभी, बैंगन, पत्तागोभी, अदरक, हल्दी, मटर, टमाटर, फूलों की खेती, उन्नत कृषि उपकरण आदि के लिए कृषकों को प्रोत्साहित किया।  कार्यक्रम में प्रगतिशील कृषकों का सम्मान शाल व श्रीफल देकर स्वागत किया गया साथ ही प्रसंशा पत्र भी कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा प्रदाय किये गये। कार्यक्रम का संचालन वैज्ञानिक दीपक कुशवाहा द्वारा किया गया एवं पधारे अतिथियों, वैज्ञानिकों, अधिकारियों का आभार व धन्यवाद संदीप टोडवाल द्वारा व्यक्त किया गया।

नवीन मदरसे खोलने हेतु पंजीयन की तिथियां निर्धारित

जिला शिक्षा अधिकारी श्री एस.पी.त्रिपाठी ने जानकारी देते हुए बताया कि नवीन मदरसों के ऑनलाईन पंजीयन हेतु तिथियां निर्धारित की गई है। आवेदक एम.पी.ऑनलाइन लिमिटेड के पोर्टल के सेवा केन्द्र कियोस्क पर 15 मार्च 2019 तक आवेदन कर सकते हैं। यह प्रक्रिया 15 जनवरी से प्रारंभ हो चुकी है। 

चंद्रशेखर आजाद शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में हुआ राष्ट्रीय संगोष्ठि का आयोजन

sehore newsचंद्रशेखर आजाद शासकीय स्नातकोत्तर अग्रणी महाविद्यालय में एनवायरमेंटल एथिक्स एंड इट्स कंजर्वेशन विषय पर शुक्रवार को आंतरिक गुणवत्ता एवं प्रतिबद्धता समिति द्वारा राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया।   संगोष्ठी के संयोजक डॉ अनिल राजपूत ने राष्ट्रीय संगोष्ठी की रूपरेखा एवं उद्देश्यों पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डॉक्टर जी.डी सिंह ने पर्यावरण का जीवन में महत्व बताते हुए पर्यावरण विषय के उद्भव एवं विकास के विभिन्न आयाम बताऐ। विशिष्ट अतिथि डॉण्बीण्सीण्जैन ने विभिन्न पौराणिक उदाहरण देते हुए पर्यावरण संरक्षण के लिए विद्यार्थियों का आह्वान किया। श्री ललित शास्त्री जी ने शासन द्वारा पर्यावरण संरक्षण की दिशा में उठाए गए कदमों की जानकारी देते हुए कहा कि पर्यावरण के प्रति जागरूकता फैलाना तथा जैव विविधता का संरक्षण प्रत्येक नागरिक का कर्तव्य है। इस अवसर पर महाविद्यालय की प्राचार्य डॉ आशा गुप्ता ने महाविद्यालय में चल रही विभिन्न योजनाओं की जानकारी देते हुए महाविद्यालय द्वारा अर्जित उपलब्धियों पर प्रकाश डाला एवं सभी आगंतुक शोधार्थियों, विद्वानों का आभार व्यक्त करते हुए राष्ट्रीय संगोष्ठी को सफल एवं सारगर्भित बनाने की अपील की। जिला शिक्षा अधिकारी श्री एस.पी. त्रिपाठी ने कहा कि हमें जीवन में 5 पौधों का रोपण कर जीवन पर्यंत उनकी पोषण व संरक्षण की जिम्मेदारी लेना चाहिए। राष्ट्रीय संगोष्ठी के तकनीकी सत्र को विद्वान प्राध्यापक व विशिष्ट वक्ता डॉ विनोद पाराशर भूगर्भ शास्त्री ने संबोधित किया। डॉ पाराशर ने पर्यावरण नीति के लिए जिम्मेदार विभिन्न कारकों पर गंभीरता पूर्वक चर्चा की तथा जल संरक्षण विषय पर व्याख्यान देते हुए आने वाले समय के लिए जल संकट को गंभीर चुनौती बताया। उन्होंने छोटी-छोटी सहायक नदियों के संरक्षण हेतु विशेष अभियान चलाने का सुझाव दिया। जल प्रदूषण को रोकने एवं जल की उपलब्धता एवं जल स्तर बढ़ाने की तकनीकी एवं पारंपरिक विधियों की जानकारी दी। सेंसर आधारित स्टाप वाल्‍वए लो फ्ल्‍स टॉयलेटए बंबू इरीगेशन, सीवेज वाटर की रीसाइक्लिंग व रियूजए रेन वाटर हार्वेस्टिंग आदि विधियों द्वारा जल की एक.एक बूंद बचाने की अपील की। तकनीकी सत्र को संबोधित करते हुए भारतीय वन सेवा के अधिकारी डॉ.एस.के.गुप्‍ता ने वृक्षारोपण और वन संरक्षण को अपनी संस्कृति बनाने पर जोर देते हुए प्लास्टिक को रिसाइकिल एवं रियूज कर पर्यावरण बचाने की विधियां बताई। इसी सत्र में औरंगाबाद से पधारी विषय विशेषज्ञ डॉ. सीमा वोरडे द्वारा मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन एवं नीति विषय पर अपना शोध पत्र प्रस्तुत किया। डॉ  श्रीवास्‍तव ने अपने उदबोधन में पर्यावरण संरक्षण के लिए ̎जियो और जीने दो̎ को सूत्र वाक्‍य बताते हुए कहा कि इसे संपूर्ण जैव जगत पर लागू किया जाना चाहिए। इस संगोष्ठी में कुल 120 शोध पत्र प्राप्त हुये, जिन्‍हें शोघ्‍ संक्षेपिका के रूप में प्रकाशित किया गया। कार्यक्रम के अंतिम सत्र में शोधार्थियों द्वारा शोध पत्र प्रस्तुत किए गए। अंत में संगोष्ठी की संगठन सचिव डॉ दिनिशा मालवीय द्वारा आभार प्रदर्शन किया।

कार्य में लापरवाही हेतु दो पर्यवेक्षको की रूकी वेतनवृद्धि, एक पर्यवेक्षक की परीक्षावधि बढ़ाने हेतु नोटिस एवं एक पर्यवेक्षक को क्षेत्र से हटाया

जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास द्वारा विभागीय समीक्षा बैठक आयोजित की गयी थी जिसमें विभाग द्वारा संचालित हितग्राही मूलक योजना जैसे प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना एवं लाड़ली लक्ष्मी योजना की समीक्षा की गई। समीक्षा में उक्त योजनाओ के अनुपातिक लक्ष्य से कम प्रगति पर दो पर्यवेक्षक की दो वेतनवृद्धि रोकी गयी। एक सुपरवाईजर की परिवीक्षा अवधि बढाने हेतु कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया गया। समीक्षा के दौरान कड़ी कार्यवाही करते हुये सभी परियोजना अधिकारी को केन्द्रों के नियमित एवं विधिवत संचालन के निर्देश दिये यदि कोई आंगनबाड़ी कार्यकर्ता केन्द्र का नियमित संचालन नही करती हैं तो सेवा समाप्त करने तथा नवीन आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की भर्ती के निर्देश दिये गये। इसके लिये सभी परियोजना अधिकारी एवं पर्यवेक्षक को नियमित निरीक्षण कर शत प्रतिषत सुधार करे। यदि कोई कमी पाई जाती है तो इसके लिये परियोजना अधिकारी एवं पर्यवेक्षक जिम्मेदार होंगे। सभी पर्यवेक्षक/परियोजना अधिकारी को 25 फरवरी तक अपने क्षेत्र की लक्ष्यपूर्ति के निर्देश दिये गये। यदि किसी भी पर्यवेक्षक का लक्ष्य कम पाया गया तो उसके विरूद्ध कड़ी अनुषासनात्मक कार्यवाही की जावेगी।

आदतन अपराधी जिला बदर

कलेक्‍टर एवं जिला दणडाधिकारी श्री गणेश शंकर मिश्रा ने असामाजिक गतिविधियों में लिप्त एवं विभिन्न धाराओं में अपराध दर्ज होने के कारण एक आदतन अपराधी को पुलिस अधीक्षक की अनुशंसा पर एक वर्ष के लिए सीहोर जिले से जिला बदर कर दिया है। जिला दण्‍डाधिकारी ने मप्र राज्य सुरक्षा अधिनियम 1990 की धारा 5(क)(ख) के तहत 8 अपराधियों के खिलाफ जिलाबदर की कार्रवाई की है। कलेक्‍टर श्री मिश्रा ने पुलिस अधीक्षक से प्राप्‍त प्रतिवेदन से संतुष्‍ट होकर जावेद खां पिता नसीर खां निवासी ग्राम सोंठिया थाना नसरुल्लागंज को सीहोर एवं उसके सीमावर्ती जिले भोपाल, रायसेन, होशंगाबाद, हरदा, देवास, शाजापुर एवं राजगढ़ जिलों की राजस्‍व सीमाओं से एक वर्ष के लिए निष्‍कासित कर दिया है। यह आदेश तत्‍काल प्रभावशील है।

पूर्व नपाध्यक्ष राकेश राय के नेतृत्व में पहुंचे सैकड़ों कार्यकर्ता

sehore news
सीहोर। पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष और कांग्रेस नेता राकेश राय के नेतृत्व में शुक्रवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी द्वारा आयोजित किसान आभार सभा में सीहोर से बड़ी सख्या में वाहन रैली के साथ सैकड़ों कांग्रेसजन पहुंचे।  इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को आयोजित कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी की सभा में श्री राय के आह्वान पर बड़ी संख्या में कार्यकर्ता भोपाल पहुंचे। इस मौके पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता कुलदीप सेठी, पूर्व जिला कांग्रेस कमेटी के जिला मीडिया प्रभारी महेन्द्र सिंह ठाकुर मनकी, घनश्याम यादव, गौतम शाह, मुकेश राय राजू विश्वकर्मा, नदीम शेख, प्रदीप यादव, नावेद खान आदि शामिल थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...