सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 21 फ़रवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 20 फ़रवरी 2019

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 21 फ़रवरी

चौबिस घंटे मेें नपाध्यक्ष ने किया घोषणा को पूरा, भोई मोहल्ले में सड़क नाली पुलिया निर्माण शुरू 
नागरिकों को मिलेगी कीचड़ गंदगी से मुक्ति 

sehore news
सीहेार। चौबिस घंटे के अंदर नगर पालिका अध्यक्ष अमीता जसपाल सिंह अरोरा ने घोषणा को पूरा कर दिया। अनुसुचित जनजाति बहूल वार्ड ११ में राधेश्याम मंदिर के पीछे स्थित भोई मोहल्ले में बुधवार से सीसी सड़क नाली और पुलिया का निर्माण कार्य शुरू हो गया। निर्माण कार्य के लिए जनहित में पार्षद आरती नरेंद्र खंगराले ने अथक प्रयास किया। नागरिकों की वर्षो पुरानी कीचड़ गंदगी की समस्या से नपाध्यक्ष को अवगत कराया। संत रविदास जयंती के उपलक्ष्य में रविदास मंदिर परिसर में आयोजित कार्यक्रम में नपाध्यक्ष श्रीमति अरोरा और भाजपा नेता जसपाल सिंह अरोरा के द्वारा सीसी सड़क और नाली पुलिया निर्माण कराने की घोषणा की गई थी। भोई मोहल्ले के रहवासियों को सीसी सड़क नाली और पुलिया निर्माण के बाद कीचड़ गंदगी की समस्या से मुक्ति मिल जाएगी।  स्वीकृत निर्माण कार्यो का बुधवार को नगर पालिका अध्यक्ष श्रीमति अरोरा और पार्षद आरती नरेंद्र खंगराले के द्वारा विधिवत नागरिकों की विशेष उपास्थित में भूमि पूजन किया गया। संबंधित ठेकेदार के द्वारा निर्माण कार्य शुरू भी कर दिया गया। भूमि पूजन कार्यक्रम के दौरान नपाध्यक्ष श्रीमित अरोरा ने कहा की शहर के सभी वार्डो में निंरतर निर्माण कार्य कराए जा रहे है उन्होने नागरिकों से कहा की मौसम जनित बीमारियों का प्रकोप बढ गया है नगर पालिका परिषद अपनी तरफ से स्वच्छता बनाए रखने के पूरे प्रयास कर रहीं है नागरिक भी स्वच्छता अभियान में हिस्सा लेकर नपा कर्मियों का सहयोग करें जिस से शहर कूढ़ कचरा गंदगी से मुक्त रहे। नागरिकों के द्वारा नपाध्यक्ष श्रीमति अरोरा और पार्षद श्रीमति खंगराले का पुष्प मालाओं से सड़क नाली पुलिया निर्माण कराने पर स्वागत कर आभार व्यक्त किया गया। कार्यक्रम में जिला कांग्रेस कमेटी झुग्गी झोपड़ी प्रकोष्ठ अध्यक्ष नरेंद्र खंगराले अध्यक्ष विवेक राठौर, सुरेश पराशर, रितेश शर्मा, कन्हैयालाल रैकवार, गब्बर राठौर, सुनील यादव, शिव कुमार यादव मुन्ना लाल यादव, विजय सिंह यादव, कमला यादव, सुमन राठौर, उर्मिला विश्वकर्मा, आशा गुप्ता,रूकमणी कुशवाहा, सुलोचना विश्वकर्मा, ममता रैकवार, कम्मो रेकवार, राधिका रैकवार राधिका रैकवार,  ममता राठौर, कला पारासर, राधा यादव, ऊषा व्यास पुष्पा व्यास फूलवति शर्मा, सुनीता रेकवार, रामकली रेकवार सावित्रिा नाथ, श्रीकुवर विश्वकर्मा सहित अन्य नागरिकगण मौजूद रहे। 

पीएचई ने नहीं बांटा अबतक कर्मचारियों को वेतन, लापरवाह कार्यपालन यंत्री,परेशान सैकड़ों कर्मचारी, 

सीहेार। पीएचई के कार्यपालन यंत्री एसके जैन पर राज्य कर्मचारी संघ पीएचई प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष गोपाल यादव ने चतृर्थश्रेणी कार्यभारित कर्मचारियों को जानबूझकर प्रातंडित करने का आरोप लगाया है। यादव ने कहा की पीएचई विभाग के सैकड़ों चतृर्थश्रेणी कर्मचारियों को अब तक वेतन नसीब नहीे हुआ है। कार्यपालन यंत्री श्री जैन कर्मचारियों की जायज स्थानीय मांगों को भी पूरा नहीं कर रहे है। संघ से जुड़े परेशान कर्मचारी कलेक्टर को भी ज्ञापन देकर समस्याओं से जल्दी अवगत कराएंगे। 

खर्चे के रूपए को तरसे कर्मचारी 
पीएचई प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष श्री यादव ने कहा की वेतन नहीं मिलने से कर्मचारियों की आर्थिक स्थिति खराब हो गई है। कर्मचारियों को प्रति माह सरकारी बैंकों और फाईनेस कंपनियों की किश्ते अदा करनी होती है। कर्मचारियों को घर खर्च सहित बच्चों के स्कूलों की फीस भी जमा करनी होती है वेतन के आभाव में कर्मचारियों को पेनल्टी भरनी पड़ रहीं है। कर्मचारियों की परेशानियों से कई बार कार्यपालन यंत्री को अवगत कराया है लेकिन वह सुनने को तैयार नहीं है। विभागीय परामर्शन दात्री की बैठक भी नहीं बुलाई गई है। जबकी शासन के निेर्दश अनुसार माह के प्रथम साप्ताह में कर्मचारियों को वेतन मिलना चाहिए। लेकिन अधिकारियों की संवेदहीनता के कारण कर्मचारी वेतन के लिए कार्यालय के चक्कर अबतक लगा रहे है। कर्मचारियों को समयमान वेतन और ड्रेस उपलब्ध भी नहीं कराई है जिस को लेकर कर्मचारियों में  कड़ा रोष व्याप्त है। कर्मचारी अब आंदोलन करने के लिए तैयार है। 

इन्होने लिया है आदंोलन का निर्णय 
राज्य कर्मचारी संघ के प्रदेश सह,महामंत्री पं संतोष शर्मा, संभाग अध्यक्ष गोपाल सिंह ठाकुर, जिलाध्यक्ष संतोष जैन, ओपी शर्मा, नरेंद्र कुमार, मान सिंह मकवाना, वीआर सिंह, पीएस जावरिया, मनोज व्यास, महेंद्र सेन, देवी चौधरी, कुमेर सिंह ठाकुर,मानपूरी   दिनेश भैरव, ओम प्रकाश राजपूत, दशरथ, मदन गिर, अनवर खान, लखन सिंह, विष्णु कुशवाहा आदि शामिल है। 

आशा उषा ने श्रद्धाजंली के बाद लगाए नारे, नदी चौराहा से प्रदर्शन के लिए भोपाल हुई रवाना 

sehore news
सीहोर। आशा ऊषा एवं आशा सहयोगिनी एकता यूनियन सीटू ने पुलवामा के शहीदों को दो मिनट का मौन रखकर विनम्र श्रद्धांजलि आदरांजलि दी ।  श्रद्धाजंली के बाद आशा ऊषा एवं आशा सहयोगियों ने कॉग्रेस सरकार को अपना वचन नियमितीकरण करने  और वेतन 18 हजार रूपए  करने का याद दिलाया गया। नदी चौराहे पर अपनी मॉगों के समर्थन में आशा ऊषा एवं आशा सहयोगिनी नारेबाजी भी की। जिस के बाद आशा ऊषा एवं आशा सहयोगियां भोपाल  यादगारेशाहजहानी पार्क स्थित आयोजित प्रदेश स्तरीय आंदोलन में शामिल होने के लिए नदी चौराहा से रवाना हुई। प्रदर्शन में शहर सहित श्यामपुर अहमदपुर इछावर आष्टा नसरूल्लागंज बुदनी की सैकडों आशा ऊषा एवं आशा सहयोगियां शामिल है। 

एलआईसी में नई भर्तीं और लंबित वेतनवार्ता को लेकर कर्मचारियों ने नारेबाजी कर किया प्रदर्शन 

sehore news
सीहोर। भारतीय जीवन बीमा निगम में अखिल भारतीय आह्वान पर बुधवार को विकास अधिकारियों और कर्मचारियों ने भारतीय जीवन बीमा निगम में नई भर्ती और लंबित वेतन निर्धारण की मांग को लेकर नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। एलआईसी प्रीमियम पर जीएसटी हटाने और नवरत्न कंपनियों के विनिवेश के खिलाफ  भी अधिकारियों और कर्मचारियों ने विरोध दर्ज कराया।  अधिकारी यूनियन के स्वर्ण प्रकाश श्रीवास्तव ने कहा कि बीमा प्रीमियम पर जीएसटी वसूलना ठीक नहीं है क्योंकि यह सामाजिक सुरक्षा के दायित्व का निवज़्हन करती है साथ ही बीमा में एफडीआई उचित नहीं है जीवन बीमा निगम में कर्मचारियों की सख्त आवश्यकता है लेकिन सरकार नई भर्ती को हरी झंडी नहीं दे रही है।  वेतन समझौता  अगस्त 2017 से लंबित है जिसे समय पर हो जाना चाहिए था लेकिन वित्त मंत्रालय की ओर से कोई कारगर प्रयास नहीं हुए हैं।  बीमा कर्मचारी अधिकारी एवं विकास अधिकारियों में काफी रोष है। सरकार हमारी तमाम लंबित समस्याओं का शीघ्र समाधान करें बीमा यूनियन के नेता राजीव कुमार गुप्ता ने कहा कि पूर्णत: जायज पेंशन का एक अंतिम विकल्प पांच दिवसीय सप्ताह पीएलएलआई वेतन वार्ता नई भर्ती बीमा प्रीमियम पर जीएसटी नवरत्न कंपनियों का विनिवेश आदि तमाम मांगों को सरकार लगातार अनसुना कर रही है सरकार की आंखें खोलने के लिए आगामी 1 मार्च को सभी अधिकारी कर्मचारी व विकास अधिकारी 1 घंटे की बहिर्गमन हड़ताल करेंगे भोजन अवकाश के दौरान सरकार की कर्मचारी अधिकारी विकास अधिकारी एवं जन विरोधी नीतियों के खिलाफ जोरदार नारेबाजी की गई प्रदर्शन में  एस पी श्रीवास्तव, संजय जैन, के के श्रीवास्ता , केसी पहाड़े, शारदा रायकवार, मोदेस्तुस तिर्की,  रविकांत कुमार, गणेश प्रसाद, विजय कुमार, रामनारायण कैलासिया, प्रेम नारायण परमार, राजेंद्र सिंग्रवाल,  योगेंद्र दुब,े रुहाना कुरेशी, नवाब खान, विक्रांत अन्वेकर,  सुरेश यादव, लोकेंद्र अहिरवार, बहादुर सिंह पौडवाल, कुशल भारती, बालमुकुंद मिश्रा, लक्ष्मी नारायण आदि शामिल रहे। 

जय किसान ऋण माफी योजना अन्तर्गत ऑनलाइन डाटा एंट्री कार्य हेतु नोडल अधिकारी एवं कर्मचारी नियुक्त

कलेक्टर के निर्देशानुसार जय किसान ऋण माफी योजना अन्तर्गत प्राप्त आवेदनों के ऑनलाइन एंट्री कार्य के लिए अधिकारी/कर्मचारी नियुक्त किए गए हैं। नियुक्त किए गए अधिकारियों में नोडल अधिकारी आदिम जाति कल्याण विभाग श्री हरजीत सिंह राजपाल, ए.एस.एल.आर श्री यादव एवं कर्मचारी जिला अंत्यावसायी कार्यालय डीईओ/लिपिक श्री देवेन्द्र, स्वास्थ्य विभाग/क्षय केन्द्र श्री दिनेश सक्सेना, कम्प्युटर ऑपेरटर श्री कृपाल सिंह चौधरी, श्री प्रकाश मेवाड़ा, श्री जावेद कुरैशी, श्री शोएब अंसारी, श्री असदउद्दीन, श्री जितेन्द्र राठौर को नियुक्त किया गया है।  इसी प्रकार नोडल अधिकारी उपायुक्त सहकारिता विभाग सीहोर श्री भूपेन्द्र सिंह एवं कम्प्युटर ऑपरेटर श्री परवेज अंसारी, श्री विनोद वाथरे, श्री संतोष केलोदिया, श्री शमीम खान, श्री बाबूलाल मेवाड़ा, श्री राजेश कुमार नागर, श्री अंकित महोबिया, श्री जितेन्द्र मालवीय, श्री धर्मेन्द्र पारासर, श्री गेंदालाल कुशवाह को नियुक्त किया गया है।  नोडल अधिकारी उपसंचालक उद्यान विभाग सीहोर श्री राजकुमार सगर एवं कंप्यूटर ऑपरेटर श्री राकेश राठौर, मो.मुमताज अहमद, श्री नितेश बातव, श्री रोहित यादव, श्री चन्द्रप्रकाश दुबे, श्री शिवराम जिल्ले, श्री दिनेश तिवारी, श्री जगदीश प्रसाद, श्री महेश कुमार मांझी एवं सहायक ग्रेड-3 श्री अंकुर शर्मा को नियुक्त किया गया है। यह आदेश तत्काल प्रभावशील है।

जय किसान ऋण माफी योजना अन्तर्गत जिला स्तरीय टीम की बैठक संपन्न

sehore news
बुधवार को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में जय किसान ऋण माफी योजना अन्तर्गत जिला स्तरीय टीम की बैठक आयोजित की गई। बैठक की अध्यक्षता मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री अरुण कुमार विश्वकर्मा ने की। बैठक में उपसंचालक कृषि विभाग श्री अवनीश चतुर्वेदी सहित संबंधित विभाग के अधिकारी उपस्थित थे। बैठक में प्रभारी कलेक्टर श्री विश्वकर्मा द्वारा अधिकारियों को निर्देशित किया कि इस योजना से संबंधित सभी प्रकार की शिकायतों को जल्द निराकृत करें। साथ ही योजना के तहत गुलाबी आवेदनों से संबंधित समस्याओं को निराकर जल्द ही किया जाए।

गेंहू के पंजीयन की अंतिम तिथि अब 9 मार्च तक बढ़ी

रबी विपणन मौसम 2019-20 में किसान पंजीयन 21 जनवरी 2019 से प्रारंभ है जो 23 फरवरी 2019 तक होना था। पंजीयन अवधि में वृद्धि कर इसे 9 मार्च 2019 तक कर दिया गया है।   प्रभारी जिला आपूर्ति अधिकारी ने बताया गया कि गेंहू के पंजीयन की अवधि 23 फरवरी से बढ़ाकर 9 मार्च कर दी गई है। पंजीयन कराने का समय प्रात: 9 से शाम 7 बजे तक निधारित किया गया है। समस्त किसान पंजीयन के लिये www.mpeuparjan.nic.in  की बेवसाईट अथवा अपने समीप के पंजीयन केन्द्र पर जाकर आवश्यक दस्तावेजों के साथ निधारित समय सीमा में अपना पंजीयन करा सकते हैं।

‘‘निरामयम’’ योजना अंतर्गत पात्र हितग्राही अपना गोल्डन कार्ड बनवा सकते है 

आयुष्मान भारत ‘‘निरामयम’’ योजना अंतर्गत पात्र हितग्राही अपना गोल्डन कार्ड बनाने के लिए परिवार की समग्र आई.डी. और आधार कार्ड लेकर किसी भी नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर अपना कार्ड बनवा सकते है। वर्ष 2011 की जनगणना अनुसार इस योजना में सामाजिक, आर्थिक एवं जाति गणना में चिन्हित वंचित श्रेणी के परिवार तथा खाद्य पात्रता पर्ची धारक और असंगठित क्षेत्र के पंजीकृत मजदूर परिवार सम्मिलित है। गोल्डन कार्ड बनवाकर नागरिक शासन द्वारा चिन्हित अस्पतालों में अपना इलाज निःशुल्क करवा सकते है। इस योजना के अंतर्गत एक परिवार में एक वित्तीय वर्ष में 5 लाख तक का केशलेस निःशुल्क इलाज किया जाता है। अधिक जानकारी व लाभ के लिए टोल फ्री नम्बर 14555 पर सम्पर्क कर जानकारी प्राप्त कर सकते है। 

समग्र सामाजिक पेंशन सुरक्षा योजना मे पेंशन राशि बढ़ाकर 600 रूपये प्रतिमाह की गई

शासन द्वारा दिव्यांग, वृद्ध और विधवाओ को ध्यान मे रखते हुए सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना अंतर्गत इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन योजना, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय निःशक्त पेंशन योजना एवं इंदिरा गांधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन योजना मे पेंशन राशि बढाकर 600 रूपये प्रतिमाह कर दी गई है। समग्र सामाजिक पेंशन सुरक्षा योजना मे वृद्ध, दिव्यांग, परित्यक्ताओ, कल्याणियो, अविवाहित महिलाओ, कन्या अभिभावकों और वृद्धाश्रमवासियों की पेंशन राशि भी बढ़ाकर 600 रूपये प्रतिमाह की गई। साथ ही 6 वर्ष से अधिक आयु के मानसिक रूप से अविकसित, बहु विकलांग, लोगो को पात्रतानुसार 600 रूपये प्रतिमाह की राशि प्रदान करने का निर्णय लिया गया है।

सरल स्कीम के अजा-अजजा उपभोक्ता को पूर्ववत मिलेगा लाभ

अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति के गरीब रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे घरेलू सरल उपभोक्ताओं को इंदिरा गृह ज्योति योजना का लाभ मिलेगा तथा वर्तमान में प्राप्त होने वाली ऊर्जा प्रभार व ईंधन प्रभार की छूट भी जारी रहेगी। किसी माह में 100 यूनिट से अधिक खपत होने पर प्रचलित टैरिफ अनुसार 100 यूनिट से अधिक की खपत पर लागू ऊर्जा प्रभार, एफसीए, मीटर प्रभार, विद्युत शुल्क का भुगतान उपभोक्ता द्वारा स्वंय किया जाएगा। 100 यूनिट से अधिक खपत पर नियत प्रभार में होने वाली वृद्वि के अंतर की राशि भी हितग्राही द्वारा स्वंय देय होगी। वितरण कंपनियों द्वारा विद्युत नियामक आयोग के निर्धारित मानदण्ड के अतिरिक्त और कोई भी आंकलित यूनिट बिल में नहीं जोडे़ जाएंगे। योजना में जारी किए जाने वाले बिलों में शासन द्वारा प्रदत्त सब्सिडी का स्पष्ट उल्लेख किया जाएगा। आगामी बिलिंग से उपभोक्ताओं को लाभ देने के लिए बिजली कंपनियों के साफ्टवेयर में आवश्यक परिवर्तन यथाशीघ्र करने के निर्देश दिए गए हैं। घरेलू उपभोक्ता के लिए लागू अन्य सब्सिडी यथावत जारी रहेगी।

खाद्य लायसेंस एवं पंजीयन हेतु करें ऑनलाइन आवेदन

समस्त खाद्य पदार्थ के कारोबारियों से जुड़े थोक एवं फुटकर विक्रेताओं/ निर्माताओं / केटरिंग /ट्रांसपोटर्स/फूड प्रोडक्ट विक्रय करने वाले मेडिकल स्टोर्स/राशन दुकान/मध्यान्ह भोजन तैयार करने वाले स्व-सहायता समूह/जेल, कचहरी, अस्पताल, स्कूल, कालेजों एवं शासकीय छात्रावासों में संचालित कैन्टीन/शासकीय, अर्द्धशासकीय एवं निजी वेयर हाउस/मदिरा दुकान, दूध विक्रेता, चाय, पान दुकान, फल, सब्जी एवं अण्डे विक्रेता/हाट बाजार में खाद्य कारोबार करने वाले विक्रेताओं को खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 के विनियम 2011 के अंतर्गत खाद्य पंजीयन प्राप्त करना अनिवार्य है। सभी खाद्य कारोबार व्यवसायियों को अपना खाद्य लायसेंस/खाद्य पंजीयन प्राप्त करना अनिवार्य है। अगर खाद्य कारोबारकर्ता की वार्षिक टर्न ओवर 12 लाख से अधिक है तो खाद्य लायसेंस एवं 12 लाख से कम है तो खाद्य पंजीयन प्राप्त करना अनिवार्य है। अगर कोई खाद्य कारोबार व्यवसायी लायसेंस/पंजीयन प्राप्त नही करता है और अपना व्यवसाय जारी रखता है तो खाद्य सुरक्षा और मानक अधिनियम 2006 विनियम 2011 के अंतर्गत ऐसे व्यवसायियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही का प्रावधान भी है।  खाद्य लायसेंस एवं खाद्य पंजीयन हेतु व्यवसायी अपने निकटतम एमपी आनलाईन के कियोस्क सेंटर से आनलाईन आवेदन कर सकते है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...