जीएसटी - गब्बर सिंह टैक्स - को सच्चा जीएसटी बनाएगी कांग्रेस की सरकार : राहुल गाँधी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 16 फ़रवरी 2019

जीएसटी - गब्बर सिंह टैक्स - को सच्चा जीएसटी बनाएगी कांग्रेस की सरकार : राहुल गाँधी

simple-tax-if-congress-government-came-rahul
रायपुर, 16 फरवरी , कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने जीएसटी को एक बार फिर से ‘‘गब्बर सिंह टैक्स’’ करार देते हुए वादा किया कि इस साल होने वाले आम चुनाव के बाद ‘‘कांग्रेस की सरकार इस टैक्स को सच्चा जीएसटी बना देगी।’’ इसके साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि उद्योगपतियों को करोड़ों रूपये दिये जबकि किसानों से महज साढ़े तीन रूपये प्रति दिन देने का वादा किया है ।  राहुल ने आज नक्सल प्रभावित बस्तर जिले के धुरागांव में आदिवासी कृषक अधिकार सम्मेलन में कहा, ‘‘पहले नोटबंदी में दुकानदारों की कमर तोड़ी गई और बाद में जब इससे बात नहीं बनी तब 12 बजे रात में गब्बर सिंह टैक्स (जीएसटी) लाया गया और व्यापारियों का व्यापार खत्म कर दिया गया ।’’ कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा, ‘‘इन लोगों ने जो गब्बर सिंह टैक्स लागू किया है, तथा पांच अलग-अलग टैक्स बना रखे हैं, इस गब्बर सिंह टैक्स को बदलकर हम सच्चा जीएसटी बना देंगे । एक टैक्स होगा, पांच अलग-अलग टैक्स नहीं होंगे । आपको जो लोग तंग करते हैं। आपसे पैसा छीनते हैं। चोरी करते हैं । वह आप पर दबाव नहीं डाल पाएंगे। आप ईमानदारी से काम करेंगे। एक टैक्स होगा सिंपल सा टैक्स होगा। हम गब्बर सिंह टैक्स को खत्म करके जीएसटी लागू कर देंगे ।’’ उन्होंने कहा, ‘‘केंद्र सरकार ने नोटबंदी को काले धन के खिलाफ लड़ाई बताया था, लेकिन इस दौरान कतार में अनिल अंबानी, मेहुल चौकसी, नीरव मोदी और ललित मोदी जैसे लोग दिखाई नहीं दिए थे। कतार में केवल आम लोग ही खड़े थे। अगर यह काले धन के खिलाफ लड़ाई थी तो कतार में ईमानदार लोग क्यों खड़े थे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘पहले लोगों से पैसा छीना गया और उद्योगपतियों का लाखों करोड़ों रुपए का कर्ज माफ किया गया।’’ सभा के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में शहीद केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के जवानों को श्रध्दांजलि दी। इस दौरान उन्होंने कहा कि जिन्होंने कुर्बानी दी, शहीद हुए उनको हम याद करते हैं और अपना पूरा का प्यार उनके परिवारों को देते हैं।

इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रदेश के जगदलपुर में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का हवाला देते हुए कहा, ‘‘अनिल अंबानी, नीरव मोदी, मेहुल चोकसी, विजय माल्या और ललित मोदी जैसे लोगों को लाखों करोड़ों रूपये दिये गये लेकिन किसानों को महज साढ़े तीन रूपये प्रति दिन मिलेंगे।’’  इस योजना के तहत दो एकड़ तक की जमीन वाले किसानों को हर साल 6000 रूपये मिलेंगे। राहुल ने कहा, ‘‘जब केंद्रीय बजट में किसानों के लिए 6000 रूपये की घोषणा की गयी तब लोकसभा में भाजपा सांसद मेज थपथपा रहे थे। क्या यह मजाक है? ’’  उन्होंने यहां कहा, ‘‘बजट के दौरान सरकार ने कहा था कि किसानों के लिए हम नई योजना लाए हैं। संसद में पांच मिनट तक मेजें थपथपाई गई। कहा गया कि हिंदुस्तान के किसानों को हम 17 रूपए देंगे। मतलब एक परिवार को 17 रूपए और एक व्यक्ति को साढ़े तीन रुपए। अनिल अंबानी को 45 हजार करोड़ रुपए दिया गया और किसान को केवल साढ़े तीन रुपए।’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘मैने बस्तर में आपसे वादा किया था कि गारंटी करके हम हिंदुस्तान के प्रत्येक गरीब व्यक्ति को मिनिमम इनकम की गारंटी देंगे। मतलब गरीब व्यक्ति के बैंक अकाउंट में सीधा पैसा डाला जाएगा । जैसे नरेंद्र मोदी ने अनिल अंबानी के बैंक अकाउंट में पैसा डाला है, हर गरीब व्यक्ति के बैंक अकाउंट में कांग्रेस पार्टी सीधा पैसा डालेगी। भाजपा के लोग इससे घबरा गए हैं और वह साढ़े तीन रूपए किसानों को दे रहे हैं। लेकिन हम साढ़े तीन रूपए नहीं देंगे। लाखों करोड़ रुपए सरकार ने उनको :उद्योगपतियों: को दिए हैं हम इनको :गरीब, किसानों को: देंगे । देश से हम गरीबी को मिटा कर दिखा देंगे ।’’ कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि जब वह बस्तर आए थे तब यहां की जनता से वादा किया था कि टाटा संयंत्र के लिए ली गई जमीन जहां अब प्लांट नहीं लग रहा है वह वापस दिलाएंगे।

उन्होंने कहा, ‘‘जमीन अधिग्रहण कानून के मुताबिक यदि आदिवासियों से, किसानों से जमीन ली जाएगी, तो उनसे पूछ कर ली जाएगी और उन्हें मार्केट रेट की दर से चार गुना पैसा दिया जाएगा। कानून के मुताबिक यदि पांच साल के भीतर उस जमीन का इस्तेमाल नहीं किया गया, चाहे वह बड़ी से बड़ी कंपनी हो अगर कारखाना नहीं लगाया गया तो वह जमीन किसानों को वापस लौटायी जाएगी । हमने इस कानून को लागू करने का वादा किया था। जो वादा किया था उसे पूरा किया गया है । खुशी हो रही है कि बस्तर में यह ऐतिहासिक काम किया गया है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘जब मैं जनसभाओं में पूछता था कि धान की क्या कीमत मिल रही है तब कहा जाता था 14 सौ 15 सौ रूपए, अब पूछ रहा हूं तो कह रहे हैं कि 25 सौ रूपए मिल रहा है। राज्य में जब रमन सिंह की सरकार थी तब उनसे तेंदूपत्ता का सही दाम, धान का सही दाम देने और किसानों का कर्ज माफ करने की मांग करते थे तब वह कहते थे कि पैसे नहीं है। लेकिन अब पैसा कहां से आ गया ।’’ उन्होंने कहा, ‘‘यह कैसे हो सकता है कि जब भाजपा की सरकार छत्तीसगढ़ में थी तब किसानों को देने के लिए पैसे नहीं थे, जैसे ही कांग्रेस की सरकार आई किसानों को 25 सौ रूपए धान के लिए मिलने शुरू हो गए। भाजपा के पास, आरएसएस के पास और रमन सिंह जी के पास पैसे की कोई कमी नहीं है। आपका पैसा आपसे छीन कर या तो अपने जेब में डाल लेते हैं या अपने 15 उद्योगपति मित्रों की जेब में डालते हैं।’’ राहुल गांधी ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 लोगों का साढ़े तीन लाख करोड़ रुपए का कर्जा माफ किया। हमने कहा था कि यदि चौकीदार चोरों का कर्जा माफ कर सकता है तब कांग्रेस पार्टी छत्तीसगढ़ में किसानों का कर्ज माफ करके दिखा देगी। हमने कहा था कि 10 दिन के भीतर कर्ज माफ करेंगे लेकिन छह घंटे में ही माफ करके दिखा दिया ।’’ कांग्रेस अध्यक्ष ने इस दौरान टाटा इस्पात संयंत्र के लिए अधिग्रहित भूमि के प्रभावित 1707 किसानों को अधिग्रहित 4359 एकड़ भूमि के दस्तावेज सौंपे । इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनके मंत्रिमंडल के अन्य सदस्य भी मौजूद थे।  इससे पहले कांग्रेस नेता ने जगदलपुर में कहा, ‘‘सभी लोगों के खाते में 15-15 लाख रूपये डालने और हर साल दो करोड़ लोगों को रोजगार देने के (मोदी के) चुनावी वादे धरे रह गये। ’’ 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...