एक लाख 10 हजार करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं को मंजूरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 8 मार्च 2019

एक लाख 10 हजार करोड़ रुपये से अधिक की परियोजनाओं को मंजूरी

approval-of-projects-worth-more-than-one-lakh-10-thousand-crores
नयी दिल्ली 07 मार्च, मोदी सरकार ने आम चुनाव की घोषणा किये जाने से पहले ताबड़तोड़ किये जा रहे शिलान्यास और उद्घाटनाें के बीच गुरूवार को मंत्रिमंडल की बैठक में एक लाख 10 हजार करोड़ रुपये से अधिक की लागत से 12 विभिन्न परियोजनाओं और आर्थिक सहायता को मंजूरी प्रदान की।  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल और उसकी आर्थिक मामलों की समिति की बैठक में इन परियोजनाओं को मंजूरी प्रदान की गयी जिनमें मुंबई में परिवहन को सुगम एवं सुरक्षित बनाने के लिए 33,690 करोड़ रुपये की लागत वाली मुंबई शहरी परिवहन परियोजना फेज तीन ए , 24948.65 करोड़ रुपये की लागत वाले दिल्ली मेट्रो नेटवर्क के विस्तार का चौथा चरण, पश्चिम बंगाल के नारायणगढ़ और ओडिशा के भद्रक के बीच 1866.31 करोड़ रुपये की लागत वाली 155 किलोमीटर लम्बी तीसरी रेलवे लाइन निर्माण परियोजना शामिल है।  चीनी मिलों को एथनॉल उत्पादन संयंत्र स्थापित करने के लिए दिए गये रिण पर ब्याज सहायता के वास्ते 2790 करोड़ रुपये भी मंजूर किये गये हैं। इसके अलावा 4500 करोड़ रुपये की लागत से देश में बंद पड़े 50 हवाई अड्डाें एवं एयर स्ट्रिप के विकास, बिहार के बक्सर में 10439.09 करोड़ रुपये की लागत से 1320 मेगावाट का ताप विद्युत संयंत्र परियोजना भी शामिल है।  देश में संक्रामक रोग एड्स की रोकथाम में मिली सफलता को देखते हुए एड्स नियंत्रण कार्यक्रम को 2020 तक जारी रखने तथा इसके लिए 6434 करोड़ रुपये व्यय करने का निर्णय लिया गया है। उत्तर प्रदेश में बुलंदशहर जिले के खुर्जा में 11089.42 करोड़ रुपये की लागत से सुपर क्रिटिकल प्रौद्योगिकी आधारित 660- 660 मेगावाट क्षमता की दो बिजली उत्पादन इकाइयां स्थापित की जायेंगी। इस संयंत्र तथा मध्यप्रदेश के सिंगरौली जिले में अमेलिया काेयला खदान के लिए 11,089.42 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की जायेगी। देश में बाढ़ की रोकथाम के उपाय करने के लिए बाढ़ प्रबंधन और सीमा क्षेत्र कार्यक्रम (एफएमबीएपी) को मंजूरी दी गयी है जिसपर 3342 करोड़ रुपये की लागत आयेगी। जम्मू कश्मीर में चेनाब नदी पर 624 मेगावाट की किरु पनबिजली परियोजना निर्माण को मंजूरी दी गयी है जिस पर 4287 करोड़ 59 लाख रुपये का खर्च होने का अनुमान है। स्कूली स्तर पर मिली सफलता को देखते हुये एक हजार करोड़ रुपये की लागत से 10 हजार स्कूलों में अटल टिकरिंग लैब स्थापित करने के लिए अटल नवाचर मिशन को वर्ष 2019-10 तक जारी रखने को अनुमोदित किया गया है। इसके अतिरिक्त सिक्किम में लैंको तीस्ता हाईड्रो पावर लिमिटेड के अधिग्रहण एवं तीस्ता स्टेज छह एचई परियोजना को एनएचपीसी द्वारा पूरा किये जाने को भी मंजूरी प्रदान की गयी। इस पर कुल 5748.04 करोड़ रुपये की लागत आयेगी। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...