बेगूसराय : जिलाधिकारी राहुल कुमार की कार्यशैली से हुआ जिले का नाम रौशन - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 2 मार्च 2019

बेगूसराय : जिलाधिकारी राहुल कुमार की कार्यशैली से हुआ जिले का नाम रौशन

begusaray-dm-work-hard-for-district
अरुण कुमार (आर्यावर्त्त) जिलाधिकारी राहुल कुमार ने अपने कार्यशैली के बदौलत बेगूसराय ही नहीं बिहार का भी नाम रोशन किया है।नीति आयोग ने देश के 117 जिलों को आकांंक्षित जिला (Aspirational distric) घोषित किया है।इनमें असम के 09 जिले शामिल नहीं हो रहे हैं।शेष 108 जिलों के बीच काम के आधार पर आयोग delta जारी करती है।जून 18 में जारी रेंकिंग में बेगूसराय 107वें स्थान पर थी। यहाँ के तेज तर्रार युवा जिलाधिकारी को यह नागवार गुजरा।उन्होंने रेंकिंग सुधारने के लिए कमर कस ली।दिसम्बर 18 के आधार पर जब रेंकिंग आयी तो बेगूसराय 67वां स्थान पर आया।इससे उनके हौसले बुलंद हुए और काम में तेजी लाने को लेकर स्वयं कमान थामे रहे।इसका नतीजा यह हुआ कि बेगूसराय 04थे स्थान को पा लिया।अब उनकी नजर जिले को नंबर वन बनाने पर टिकी हुई है।चौथे स्थान हासिल करने के बाद केंद्र सरकार जिले को 5 करोड़ रुपये देकर सम्मानित करेगी। जिलाधिकारी राहुल कुमार 06 मार्च को यह पुरस्कार ग्रहण करेंगे।आगे आपकी बताते चलें कि नीति आयोग ने आकांक्षित जिलों में शामिल 05 क्षेत्र में विकास को लेकर अंक प्रदान करती है।जिसके आधार पर रेंकिंग की जाती है।ये 5 क्षेत्र हैं :- Health & Nutrition, Education, Agriculture & Water Resources, Besic Infrastructure and Financial Inclusion & Skill Devlopment. शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए डीएम राहुल कुमार ने बताया कि हेल्थ एंड न्यूट्रिशन में जिले में अत्यधिक काम किया गया है।अतः 21 अतिरिक्त पीएचसी को हेल्थ एंड विलनेस केंद्र में तब्दील किया गया।इसको लेकर चिकित्सक व पारा मेडिकल की नियुक्ति की गई है।वहीं शिक्षा के क्षेत्र में 1022 सरकारी स्कूलों में कम्युनिटी लाइब्रेरी,सभी स्कूलों में शौचालय एवं पीने का पानी,बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर,अटल टिंकरिग लैब के तहत 5 स्कूलों का चयन मुख्य रूप से शामिल हैं। शुक्रवार को पत्रकारों से बातचीत करते हुए डीएम राहुल ने बताया कि हेल्थ एंड न्यूट्रिशन में जिले में अत्यधिक काम किया गया है।21 अतिरिक्त पीएचसी को हेल्थ एंड विलनेस केंद्र में तब्दील किया गया।इसको लेकर चिकित्सक व पारा मेडिकल की नियुक्ति की गई है. वहीं शिक्षा के क्षेत्र में 1022 सरकारी स्कूलों में कम्युनिटी लाइब्रेरी,सभी स्कूलों में शौचालय एवं पीने का पानी, बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर,अटल टिंकरिग लैब के तहत 5 स्कूलों का चयन मुख्य रूप से शामिल हैं। 268 स्कूलों को Demo के रूप में चयन किया गया है।जबकि एग्रीकल्चर एंड वाटर रिसोर्स में कृषि कल्याण अभियान के तहत कृषकों को प्रशिक्षण,soil health card, 1000 किसानों को मिनी किट का वितरण आदि उल्लेखनीय है।इसी तरह फाइनेंशियल इनक्लूजन एंड स्किल डेवलपमेंट के तहत जनधन योजना के रूप में 2,21,180 खाता खोला गया है जिसमें 86 प्रतिशत आधार से जुड़े हैं।वहीं अटल पेंशन के तहत 20998, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति के तहत 17,245, प्रधानमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत 47,667 तथा मुद्रा योजना के तहत 14,827 खाता खोला गया है. इसी तरह कौशल विकास में भी उल्लेखनीय कार्य किये गए हैं।इस मौके पर डीडीसी जे।प्रियदर्शिनी, सिविल सर्जन डा. ब्रजनंदन सिंह, डीपीआरओ आशीष आनंद भी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...