शिक्षकों के लिए दो सौ अंक के रोस्टर पर अध्यादेश लाएगी सरकार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 8 मार्च 2019

शिक्षकों के लिए दो सौ अंक के रोस्टर पर अध्यादेश लाएगी सरकार

cabinet-approves-ordinance-for-restoring-200-point-roster-system
नयी दिल्ली, 07 मार्च, सरकार ने केन्द्रीय विश्वविद्यालयों और काॅलेजों में शिक्षकों के आरक्षण के लिए 200 अंक के रोस्टर को लागू करने की खातिर अंततः अध्यादेश लाने का फैसला किया है। इस फैसले से पिछड़े वर्ग तथा दलित एवं आदिवासी शिक्षकों की नियुक्ति में आरक्षण सुनिश्चित हो सकेगा। इसके अलावा सरकार ने 50 नये केन्द्रीय विद्यालय खोलने का भी निर्णय लिया है । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में मंत्रिमंडल की गुरुवार को हुई बैठक में रोस्टर लागू करने के लिए अध्यादेश लाने तथा 50 नये केन्द्रीय विद्यालय खोलने के प्रस्तावों को मंजूरी दी गयी।  बैठक के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने पत्रकारों को बताया कि इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले के कारण विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने जो अधिसूचना जारी की थी उससे पिछड़े तथा दलित और आदिवासी शिक्षकों के आरक्षण में विसंगतियां आ गयी थीं और उन्हें कम प्रतिनिधित्व मिल रहा था या बिल्कुल ही नहीं मिल रहा था,इसलिए सरकार ने विश्वविद्यालय को इकाई मानते हुए दो सौ अंको वाला रोस्टर लागू करने का फैसला किया और इसके लिए अध्यादेश लाने फैसला किया गया। उन्होंने बताया कि मंत्रिमंडल ने 50 नये केन्द्रीय विद्यालयों की स्थापना को सिद्धांत: मंज़ूरी दे दी है। ये अर्ध सैनिक क्षेत्रों तथा उन इलाकों में खोले जायेंगे जहाँ रेलवे के कर्मचारी है और जहाँ केन्द्रीय स्कूल नही हैं। ये स्कूल नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी खोले जायेंगे। उन्होंने बताया कि देश में 12 हज़ार दो केन्द्रीय स्कूल हैं और तीन विदेशों में हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...