नीरव मोदी प्रत्यर्पण प्रक्रिया: सीबीआई-ईडी टीम लंदन रवाना होगी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 27 मार्च 2019

नीरव मोदी प्रत्यर्पण प्रक्रिया: सीबीआई-ईडी टीम लंदन रवाना होगी

cbi-ed-team-will-go-to-london-for-nirav-modis-extradition
यी दिल्ली, 27 मार्च, सीबीआई-ईडी की एक संयुक्त टीम भगोड़े हीरा कारोबारी नीरव मोदी के ब्रिटेन से प्रत्यर्पण मामले में स्थानीय अधिकारियों की सहायता के लिए शीघ्र लंदन रवाना होगी। लंदन की एक अदालत में कारोबारी की जमानत याचिका पर शुक्रवार को सुनवाई होगी। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। अधिकारियों ने बताया कि केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के संयुक्त निदेशक स्तर के अधिकारी को जरूरी दस्तावेजों के साथ लंदन रवाना होने की जिम्मेदारी बुधवार को सौंपी गई। प्रवर्तन निदेशालय के अधिकारी अपने साथ एजेंसी द्वारा हाल ही में नीरव मोदी की पत्नी एमी के खिलाफ दायर किए गए आरोप पत्र और इस मामले में हाल में की गई कुर्की से जुड़े दस्तावेज सहित अन्य जरूरी दस्तावेज अपने साथ ले जाएंगे। भारतीय अधिकारी ब्रिटेन के क्राउन प्रोसिक्यूशन सर्विस (सीपीएस) के अधिकारियों सहित अन्य अधिकारियों से मिलेंगे और उन्हें नीरव मोदी, उनके परिवार और अन्य के खिलाफ आरोपों और इस मामले के ताजा सबूतों की जानकारी देंगे। इस 48 वर्षीय हीरा कारोबारी और उसके मामा मेहुल चोकसी पर पंजाब नेशनल बैंक के साथ दो अरब डॉलर की धोखाधड़ी करने का आरोप है। ब्रिटेन के एक अखबार ‘द टेलीग्राफ’ ने मोदी को लंदन के एक पॉश इलाके में देखा था। इसके बाद नीरव मोदी को भारत के प्रत्यर्पण के आग्रह पर गिरफ्तार किया गया था। मोदी को वेस्टमिन्स्टर मजिस्ट्रेट अदालत में पिछले सप्ताह पेश किया गया था, जहां उसने भारत में उसे प्रत्यर्पित किए जाने का विरोध किया। जिला न्यायाधीश मैरी मैलन ने नीरव मोदी को जमानत नहीं देते हुए उसे 29 मार्च तक के लिए हिरासत में भेज दिया था। अदालत ने कहा कि इस बात को मानने के मजबूत आधार हैं कि अगर उसे जमानत दी गई तो वह आत्मसमर्पण नहीं करेगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...