कांग्रेस का भाजपा की विचारधारा को हराने का संकल्प - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 13 मार्च 2019

कांग्रेस का भाजपा की विचारधारा को हराने का संकल्प

congress-s-determination-to-defeat-ideology-of-bjp
अहमदाबाद, 12 मार्च, कांग्रेस ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ तथा भारतीय जनता पार्टी की “विभाजनकारी, नफरत और घृणा फैलाने वाली विचारधारा” को हराने का संकल्प लिया है और कहा है कि इसके लिए कोई भी त्याग बड़ा नहीं होगा। इसके साथ ही पार्टी ने देश की जनता से आम चुनाव में सुशासन तथा जवाबदेही सुनिश्चित करने और देश की अर्थव्यवस्था को ठीक करने तथा सामाजिक न्याय और सौहार्द्र को कायम करने के लिए कांग्रेस को जनादेश देने का अनुरोध किया है। ऐतिहासिक दांडी मार्च की 150वीं वर्ष गांठ पर कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारक इकाई कार्य समिति की मंगलावर को यहां हुई बैठक में पारित प्रस्ताव में पार्टी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दों का राजनीतिक लाभ लेने का प्रयास करने, अपनी विफलताओं से ध्यान भटकाने, फर्जी दावे करने और लगातार झूठ बोलने का आरोप लगाया है। प्रस्ताव में समान विचारधारा के सभी राजनीतिक दलों से एकजुट होकर भाजपा की विचारधरा को हराने का आह्वान किया गया है। कार्य समिति की बैठक गुजरात में 58 साल बाद हुई है। संकल्प में पुलवामा के आतंकवादी हमले में सीआरपीएफ के 40 से ज्यादा जवानों के शहीद होने तथा आतंकवादी हमलों की कड़ी निंदा करते हुए कहा गया है कि पुलवामा की घटना आतंकवाद खत्म करने के लिए देशवासियों के संकल्प को बार बार याद दिलाती रहेगी। पार्टी ने आतंकवादी घटनाओं की कड़ी निंदा की और कहा कि कांग्रेस देश के जवानों के साथ खड़ी है। संकल्प में यह भी कहा गया है कि कांग्रेस पार्टी राष्ट्रीय संकट के समय देश की सरकार के हर निर्णय के साथ खड़ी है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कार्य समिति की बैठक के बाद ट्वीट किया “गांधीजी के ऐतिहासिक दांडी मार्च की वर्षगांठ के मौके पर हुई कार्यसमिति की बैठक में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ /भारतीय जनता पार्टी की फासीवादी, घृणा, गुस्सा और विभाजन वाली विचारधारा को हराने का संकल्प लिया गया। इसके लिए कोई भी बलिदान बहुत बड़ा नहीं होगा और कोई भी प्रयास बहुत छोटा नहीं होगा। यह लडाई जरूर जीती जायेगी।” 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...