देश को 21वीं सदी में नई ऊंचाई पर पहुंचाने का लक्ष्य : मोदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 4 मार्च 2019

देश को 21वीं सदी में नई ऊंचाई पर पहुंचाने का लक्ष्य : मोदी

goal-of-bringing-the-india-to-new-heights-in-the-21st-century-modi
पटना 03 मार्च,  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि केन्द्र की राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन(राजग) सरकार का लक्ष्य वर्ष 2014 से लेकर अब तक का समय देश की बुनियादी आवश्यकताओं को पूरा करने का था और वर्ष 2019 के बाद आगे का समय देश को 21वीं सदी में नई ऊंचाई पर पहुंचाने का है। श्री मोदी ने यहां ऐतिहासिक गांधी मैदान में राजग की ‘संकल्प रैली’ से अप्रैल-मई में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए प्रचार अभियान की शुरुआत करते हुए कहा कि केन्द्र की राजग सरकार का लक्ष्य वर्ष 2014 से लेकर अब तक का समय देश की बुनियादी आवश्यकताओं को पूरा करने का था और वर्ष 2019 के बाद आगे का समय देश को 21वीं सदी में नई ऊंचाई पर पहुंचाने का है। उन्होंने कहा कि पिछले पांच वर्षों में नए भारत की एक मजबूत नींव राजग ने मिलकर तैयार की है। अब समय आ गया है कि इस मजबूत नींव पर सशक्त, समृद्ध और नए भारत का निर्माण हो।  प्रधानमंत्री ने कांग्रेस और उसके सहयोगी दलों के महागठबंधन की ओर इशारा करते हुए कहा कि वर्ष 2014 में यदि देश में ‘महा मिलावट’ वाली सरकार बन जाती तो न निर्भीक और निर्णायक फैसले होते और न ही गरीबों का कल्याण होता। उन्होंने कहा, “महा मिलावट के घटक दल अपने स्वार्थ के लिए जीते हैं। उन्हें देश की कोई परवाह नहीं है। यही सीख उनके इतिहास और वर्तमान से मिली है। इस बात के आप भी साक्षी हैं।”

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...