झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 02 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 2 मार्च 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 02 मार्च

28 फरवरी को किसान विजय रथ यात्रा का आगमन झाबुआ में सांसद कार्यालय पर किया भव्य स्वागत 

jhabua news
झाबुआ । किसान कंाग्रेस के अध्यक्ष नंदलाल मेण ने बताया कि किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुर्जर द्वारा भोपाल से नीमच जिले तक आयोजित की जा रहीं 41 दिवसीय किसान विजय रथ यात्रा का आगमन जोबट होते हुए झाबुआ 28 फरवरी शुक्रवार दोपहर 4ः00 बजे झाबुआ में प्रवेश किया । सांसद कांग्रेस कार्यालय पर किसान रथ यात्रा का स्वागत कांग्रेस के पदाधिकारियों द्वारा किया गया । इस अवसर पर किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष श्री दिनेश गुर्जर ने यात्रा उद्देश्य को प्रतिपादित करने हुए कि इस यात्रा के माध्यम से मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ द्वारा किसानों का    2 लाख तक का कर्ज माफ करने के साथ ऋण माफी योजना के अन्तर्गत प्रदेश में व्यापक रूप से किसानों को शासन के माध्यम से  प्रमाण पत्र जारी किये जा रहें हैं, जिससे किसानों में कांग्रेस के प्रति विश्वास की भावना प्रबल हुई है, साथ ही किसानों के हितों को  ध्यान में रखते हुए सरकार ने इस संबंध मे जो भी कदम उठाये हैं, उसकी सम्पूर्ण जानकारी इस यात्रा के माध्यम से किसानों को दी जा रही हैं, साथ ही किसानों की समस्याओं कों करीब से समझने के लिये भी इस यात्रा का आयोजन किया गया हैं, यह यात्रा किसानों के लिये अत्यन्त महत्वपूर्ण होकर किसानों की समस्याओं के समाधान में अपनी अहम भूमिका का निर्वहन   करेगी । इस अवसर पर जिला किसान कांग्रेस के अध्यक्ष नंन्दलाल मेण ने अध्यक्ष जी का अत्मीय स्वागत करते हुए कहां कि झाबुआ जिले के किसान ने मेहनत कश हैं, किन्तु प्राकृतिक आपदाओं के कारण कुछ किसानों की फसले नष्ट हुई थी, जिसका तत्कालिक भाजपा सरकार ने कोई आकलन नहीं किया, जिस कारण किसानों को दोहरी मार झेलनी पडी थी, अब कांग्रेस की सरकार ने किसानों की समस्याओं का गंभीरता से लेकर उसको हल करने मे पूरी तरह जुटी हुई हैं, हमें आशा हैं, कि कांग्रेस की सरकार किसानों के हितों का पुरा ध्यान रखेगी, तथा किसानों की खुशहाली के लिये कोई कसर बाकी नहीं रखेगी । इस अवसर पर वरिष्ठ कांग्रेस नेता रमेश डोशी, जिला कांग्रेस प्रवक्ता, हर्ष भट्ट आचार्य नामदेव, कांग्रेस नेता दिवेश अमलियार, प्रशांत बामनिया, अशीष भूरिया, नितेश डामोर, मानसिंग मेडा, गौरव सक्सेना, सहित किसान कांग्रेस के पदाधिकारी एंव कार्यकर्ता विशेष रूप से उपस्थित थें ।

भारत की युवा पीढ़ी को भटकाव की जगह देष की रक्षा के लिए करना होगा प्रेरित ‘-ः विकास दवे 
इंडोनेषिया में 20 हजार रू. की नोट पर गणेषजी का चित्र, यह हमारे भारत देष की तरक्की का प्रतीक है -ः विकास दवेदो दिवसीय व्याख्यान माला हुई संपन्न
jhabua news
झाबुआ। स्व. दत्ताजी उन्नगावकर स्मृति न्यास की स्मृति में झाबुआ के पैलेस गार्डन पर आयोजित दो दिवसीय चन्द्रषेखर आजाद स्मृति व्याख्यान माला का 28 फरवरी, गुरूवार रात समापन हुआ। व्याख्यान माला में दूसरे दिन रात्रि 8 बजे से ‘‘पुनः विष्व गुरू बनता भारत’’ विषय पर देवपुत्र मासिक पत्रिका के संपादक विकास दवे द्वारा अपने ओजस्वी एवं प्रेरणदायी व्याख्यान दिए गए। उन्होंने व्याख्यान माला मंे मुख्य रूप से कहा कि हमारा भारत पुनः विष्व गुरू बनने की ओर अग्रसर है, बस देष की युवा पीढ़ी को भटकाव की ओर नहीं जाते हुए अपने देष हित में जुटना होगा। अब भारत देष का डंका विदेषों में भी बजाने लगा है, यह हमारी भारत देष की प्रगति और उन्नति का प्रतीक है। दूसरे दिन व्याख्यान माला का शुभारंभ मुख्य वक्ता विकास दवे के साथ व्याख्यान माला आयोजन समिति के अध्यक्ष हरबसिंह डामोर द्वारा भारत माता एवं चन्द्रषेखर आजाद के चित्र पर दीप प्रज्जवलन एवं माल्यार्पण कर किया गया। ज्योर्ति वंदना महिमा राणावत ने प्रस्तुत की। पश्चात् अतिथियों का शाल ओढ़कार एवं श्रीफल भेंटकर सम्मान व्याख्यान माला समिति के उपाध्यक्ष उमंग सक्सेना एवं मोना गिधवानी ने किया। अतिथियों का परिचय मयंक रूनवाल ने दिया। व्यक्तिगत गीत की प्रस्तुति यषपाल ठाकुर ने दी।

युवा पीढ़ी को अपनी जिम्मेदारी समझना होगी
बाद अपने व्याख्यान माला में विकास दवे ने गत दिनों जम्मू कष्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले में 46 शहीद जवानों को नमन करते हुए शुरूआत की कि कौन कहता है कि आज भारत विष्व गुरू बनने की ओर अग्रसर नहीं है। वर्ष 2014 से पुनः भारत विष्व गुरू बनने की ओर अग्रसर है। आज की युवा तरूणाई यदि चाहे तो इस सपने को साकार किया जा सकता है, बर्षत युवा पीढ़ी को भटकाव की ओर अग्रसर नहीं होते हुए अपनी जिम्मेदारियों को समझना होगा। आज युवा जब नेट पर गुगल पर सर्च करता है तो उसे देष की स्थिति का पता चलता है कि देष भ्रष्टाचार, बेरोजगारी में नंबर वन पर है, लेकिन समय के साथ अब इसमें भी कमी आई है। विकास दवे ने आगे कहा कि पूरे विष्व में भारत ही अखंडता और समप्रभुता का एक मात्र देष है। हमारे देष की तरक्की तब दिखाई पड़ती है जब इंडोनेषिया में 20 हजार रू. के नोट पर भगवान श्री गणेषजी का चित्र वहां की सरकार ने प्रकाषन करवाया। यदि इंडोनेषिया के नामों पर प्रकाष डाला जाए, तो हमे पता चलता है कि यह मुस्लिम देष होने के बाद भी यहां के लोगों के नामों में राम-कृष्ण समाहित है, यह हमारे भारत की प्रगति है, जबकि इसके विपरित हमारे देष में पहले लोग भगवान के नाम पर अपना नाम रखते है और आज यह नाम चिंकू, पींकी, बबलू जैसे हो गए है और यह नाम वाले बच्चें आगे चलकर अपने पिताजी के भगवान के रखे नामों का मजाक उड़ाते है।

अर्थव्यवस्था के मामले में भी मजबूत हो रहा भारत देष
श्री दवे ने बताया कि आज हमारा देष अर्थव्यवस्था के मामले में सबसे मजबूत देष बनकर उभर रहा है। रेल्वे के मामले में पूरे विष्व में मुंबई अव्वल है। यह भारत की प्रगति ही कहीं जा सकती है कि जब भारत देष का एक विंग कमांडर पाकिस्तान के कब्जे में आने के बाद आज पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को पाकिस्तान की असंबेली में यह घोषणा करना पड़ रही है कि वह विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान को भारत वापस भेजने को तैयार है, यह हमारे शोर्य और पराक्रम ही है कि भारत जैसे देष में हमारी भारतीय वायु सेना ने पूरे विष्व में रेकार्ड बनाते हुए एक साथ सैकड़ों आंतकवादियों को खत्म करने का इतिहास बनाया। आज इस कारण पूरे विष्व में भारत का नाम गर्व से लिया जा रहा है एवं पाकिस्तान जैसे दोगले देष का पूरा विष्व अब विरोध करने लगा है।

भारत जैसी संस्कृति और सभ्यता पूरे विष्व में नहीं
श्री दवे ने आगे बताया कि भारत जैसी संस्कृति और सभ्यता भी आज पूरे विष्व में नहीं है। आज पूरे विष्व में भारत का ढंका गूंजता है, जिससे यह साफ तौर पर प्रतीत होता है कि भारत एक बार फिर विष्व गुरू बनने की ओर अग्रसर है। उन्होंने इस दौरान मीडिया का खिंचाई करते हुए कहा कि वह स्वयं भी मीडिया जगत से जुड़े होने के साथ भारत की मीडिया हमेषा देष की सकारात्मकता दिखाने की जगह नकरात्मकता अधिक दिखा रहीं है, लेकिन यह गर्व है कि आज आतंकवाद जैसे मुद्दे पर भारत का संपूर्ण मीडिया जगत एकजुट होकर भारत सरकार और भारत की सेना के पराक्रम को लगातार समाचारों के माध्यम से उनका साहस बढ़ाने का काम कर रहा है। श्री दवे द्वारा करीब एक घंटे तक व्याख्यान दिए गए।

वंदे मातरम् गान के साथ हुआ समापन
व्याख्यान माला के समापन पर मुख्य वक्ता विकास दवे का स्मृति चिन्ह के रूप में जिले की आदिवासी संस्कृति भेंटकर सम्मान आयोजन समिति के कोषाध्यक्ष राकेष झरबड़े ने किया। कार्यक्रम का सफल संचालन व्याख्यान माला समिति के सरंक्षक ओम शर्मा ने किया एवं आभार अषोक भावसार ने माना। इस अवसर पर शहर के गणमान्य नागरिक, बुद्धिजीवी, साहित्यकार एवं राजनैतिक पार्टियों से जुड़े लोग तथा मातृ शक्ति बड़ी संख्या में उपस्थित थी। समापन पर गोपाल शर्मा द्वारा संगीतमय वंदे मातरम् का गायन किया गया।

पेंषनरों का प्रांतीय सम्मेलन सम्पन्न, महंगाई राहत केन्द्र के समान दिये जाने की मांग दुहराई

झाबुआ । मध्यप्रदेश पेंशनर एसोसिएशन के प्रान्ताध्यक्ष ओपी बुधोलिया की अध्यक्षता मे ं सम्पन्न हुई प्रदेश स्तरीय कार्यसमिति की बैठक यांत्रिकी भवन भोपाल में संपन्न हुई जिसमें प्रदेश भर के सभी जिलो से प्रतिनिधियों एवं जिलाध्यक्षों ने सह भागिता की । झाबुआ जिले से प्रतिनिधित्व करने गये जिला संगठन के जिलाध्यक्ष रतनसिंह राठौर ने जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश स्तरीय बैठक में पेंशनरों की लंबित मांगों को लेकर गहन  चर्चा की गई तथा शासन से इस बारे मे त्वरित पहल करने का निर्णय लिया गया । पेंशनर एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष रतनसिंह राठौर ने प्रदेशस्तरीय बैठक में यह मुद्दा उठाया कि केन्द्र सरकार की तरह प्रदेश सरकार भी अपने पेंशनरों को 9 प्रतिशत की दर से मंहगाई राहत का भगुतान करें इसके लिये प्रदेश के मुख्यमंत्री से अनुरोध किया जावे कि वे इस बारे में घोषणा करके इसके आदेश जारी करें । चूंकि लोकसभा के निर्वाचन को  देखते हुए  आचार संहिता कभी भी लग्राई जासकती है  अतः मुख्यमंत्री को इसके लिये  प्रांत स्तर पर समिति का गठन किया जाकर सरकार से लिखित आदेश प्रसारित करवायें जावे । श्री राठौर के इस प्रस्ताव का प्रदेशस्तर पर अनुमोदन कर कार्यवाही करने का भरोसा दिलाया जावे । श्री राठौर ने इस अवसर पर सातवे वेतनमान की 27 माह के एरीयर की राशि का भुगतान भी किश्तों में दिये जाने की मांग की । वही उन्होने प्रदेश सरकार से सेना निवृत्तों को 1000 रुपये प्रतिमाह के मान से मेडिकल अलाउंस दिये जाने की मांग का भी प्रदेश बैठक मे अनुमोदन किया गया तथा इसे ज्ञापन के माध्यम से सरकार को भेजने का सर्वानुमति से निर्णय लिया गया ।

शासकीय माध्यमिक विद्यालय डूंगराधन्ना में काव्य संगोष्ठी का हुआ आयोजन, भारत स्काउट-गाइड जिला एसोसिएषन ने किया आयोजन

jhabua news
झाबुआ। देष के वीर शहीद चन्द्रषेखर आजाद के बलिदान दिवस पर भारत स्काउट गाइड जिला एसोसिएषन के तत्वावधान में झाबुआ विकाखंड के शासकीय माध्यमिक विद्यालय डूंगराधन्ना में काव्य संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें अतिथि के रूप में भारत स्काउट गाईड जिला एसोसिएषन के जुड़े जिला पदाधिकारी एवं वरिष्ठ साहित्यकारगण उपस्थित थे। पदाधिकारियों एवं वरिष्ठ साहित्यकारों क डूंगराधन्ना स्कूल में प्रवेष पर अटल दल के स्काउटर बच्चों ने अतिथियों को गार्ड आॅफ आॅनर देकर स्वागत एवं सम्मान किया। पश्चात् सभी ने शहीद चन्द्रष्ेाखर आजाद की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करते हुए आजाद को नमन किया। पश्चात् उपस्थित भारत स्काउट-गाइड एसोसिएषन के जिला उपाध्यक्ष एवं वरिष्ठ साहित्यकार यषवंत भंडारी, डाॅ. केके त्रिवेदी, जयेन्द्र बैरगाी, शरत शास्त्री, हेड क्वार्टर कमिष्नर जय नारायण बैरागी, वरिष्ठ साहित्यकार पं. गणेषप्रसाद उपाध्याय, पीडी रायपुरिया, भेरूसिंह चैहान ‘तरंग’, एमएल फुलपगारे, सुरेष समीर, प्रकाष त्रिवेदी आदि ने अपनी-अपनी कविताओं और रचनाओं के माध्यम से आजाद को याद एवं नमन करते हुए उनके भारत की आजादी में दिए गए सहयोग को प्रतिपादित किया। काव्य संगोष्ठी बाद विद्यालय परिसर में भारत की माटी के सपूत आजाद को श्रद्धांजलि स्वरूप लिखी गई पक्तियों के पोस्टर का स्काउट-गाइड एसोसिएषन के पदाधिकारी एवं वरिष्ठ साहित्यकारों ने सामूहिक रूप से विमोचन किया तथा भारत माता और आजाद अमर रहे .... के जयघोष लगाए। इस अवसर पर भारत स्काउट-गाइड की जिला सचिव श्रीमती शषिकला त्रिवेदी, संयुक्त सचिव प्रदीप पंड्या, जय भीम जागृति समिति से जीएस चित्तोड़िया, आजाद साहित्य परिषद् के प्रवीण सोनी, उमेष गुर्जर, स्कूल की षिक्षिका मीनाक्षी यादव आदि सहित समस्त स्टाॅफ एवं स्कूली विद्यार्थी उपस्थित थे। अंत में सभी के प्रति आभार संस्था प्रधान एवं एसोसिएषन के जिला संगठन आयुक्त ब्रजकिषोरसिंह सिकरवार ने माना।

गायत्री शक्तिपीठ के पास स्फटिक महांकाल मंदिर में 10वां महाषिवरात्रि पर्व विभिन्न धार्मिक अनुष्ठानों के साथ मनाया जाएगा
शाम को महाआरती एवं महाप्रसादी का होगा आयोजन
jhabua news
झाबुआ। शहर के काॅलेज मार्ग स्थित गायत्री शक्तिपीठ के पास स्फटिंक महाकांल मंिदर में इस वर्ष 4 मार्च को 10वां महाषिवरात्रि पर्व धूमधाम से मनाया जाएगा। इस अवसर पर मंदिर में विभिन्न धार्मिक अनुष्ठान संपन्न होंगे। यह जानकारी देते हुए नारी जागरण अभियान की जिला संयोजिका एवं गायत्री शक्तिपीठ की श्रीमती नलिनी बैरागी ने बताया कि बीते 12 वर्षों में पहली बार सोमवार को महाषिवरात्रि पर्व आने का संयोग बन रहा है, इसलिए इस पर्व को स्फटिक महांकाल मंदिर में विभिन्न धार्मिक अनुष्ठानों के साथ मनाया जाएगा। मंदिर में स्फटिक षिवलिंग रत्न समान चमत्कारिक होकर भक्तों द्वारा यहां मांगी गई मन्नते पूरी होने के साथ नियमित षिवलिंग के दर्षन-पूजन से परिवार में सुख-समृद्धि बनी रहती है। गायत्री शक्तिपीठ के पास इस मंदिर की स्थापना 31 जनवरी वर्ष 2009 में बसंती पंचमी के शुभ अवसर पर हुई थी, तब से लगातार महांकाल मंदिर में महाषिवरात्रि पर्व मनाया जा रहा है।

यह होंगे दिनभर आयोजन
श्रीमती नलिनी बैरागी ने बताया कि 4 मार्च को अलसुबह 6 बजे विषेष आरती बाद स्फटिक षिवलिंग का जल-दूध से अभिषेक होगा। सुबह करीब 8 बजे एक कुंडीय यज्ञ प्रारंभ होगा। यज्ञ का लाभ यजमान परिवार द्वारा लिया जाएगा। बाद शाम 6 बजे महाआरती रखी गई है। तत्पष्चात् महाप्रसादी के रूप में सभी भक्तों करीब 1 क्विंटल खिचंड़ी का प्रसाद वितरित किया जाएगा। इसके साथ ही पर्व को लेकर दिनभर मंदिर में श्रद्धालुओं के दर्षन-पूजन का क्रम जारी रहेगा। रात 12 बजे भगवान षिवजी एवं माता पार्वती की विवाहोत्सव आरती होगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...