बिहार : आवासहीन महादलितों ने जानना चाहा कि आवेदन पर क्या हुआ अंचल पदाधिकारी महोदय - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 10 मार्च 2019

बिहार : आवासहीन महादलितों ने जानना चाहा कि आवेदन पर क्या हुआ अंचल पदाधिकारी महोदय

2018-19 में समेली अंचल में 451 आवासीय भूमिहीनों ने आवेदन दिया हैहुजूरेवाला अंचल पदाधिकारी 3 डिसमिल जमीन देने की प्रक्रिया तेज हो13 सीबीओ के लोगों ने मिलकर प्रखंड स्तरीय समिति बनायी है। इसके अध्यक्ष- बहादुर ऋषि,सचिव- राकेष ऋषि और कोषाध्यक्ष- पेरिया खातुन हैं। 
mahadalit-ask-where-is-land-saheb
डूमर,10 मार्च। कटिहार जिले में है समेली प्रखंड। इस प्रखंड में अनेक मुसहरी है। इसमें बकिया मुसहरी भी है। यह डूमर ग्राम पंचायत में है। डूमर पंचायत के वार्ड नम्बर-12 में पड़ता है बकिया मुसहरी। इस वार्ड में महादलित मुसहर समुदाय का दबदबा है। इसके कारण महादलित ही वार्ड सदस्य बनते हैं। जब रामलाल ऋषि नामक महादलित वार्ड सदस्य थे तो उनके ही कार्यकाल में 12 महादलितों को 3 डिसमिल आवासीय भूमि मिली थी। दुर्भाग्य से भूमि मालिक और अंचल पदाधिकारी महादलितों को अंधकार में रखकर रजिस्ट्री कर दिए। वह भूमि गड्ढे में है। उस भूमि पर हमेशा जलजमाव रहता है। उस भूमि पर आवास बनाना तो महादलितों को आकाश से तारा तोड़ लायक है। 

इस समय वार्ड नम्बर-12 के वार्ड सदस्य हैं बहादुर ऋषि। समेली प्रखंड के दस गांवों में इंडो ग्लोबल सोशल सर्विस सोसायटी के सहयोग से प्रगति ग्रामीण विकास समिति के द्वारा कार्य किया जाता है। यहां की समस्या के आलोक में जिला संयोजक ने बकिया मुसहरी पश्चिमी टोला में रहने वाले महादलितों के सहयोग से सी.बी.ओ. बनाया है। सीबीओ का नाम है। सीमांकन करो मोर्चा। इसका अध्यक्ष बहादुर ऋषि हैं। इनके अलावे सचिव झबरी देवी और कोषाध्यक्ष चंचल देवी हैं। एक हस्ताक्षरयुक्त आवेदन समेली अंचल में देकर 12 महादलितों ने उक्त जमीन का सीमांकन करवाने का आग्रह किए। सीमांकन करने में विलम्ब होने पर सूचना के अधिकार के तहत जानकारी मांगी गयी। तब बताया गया कि 25 फरवरी 2019 को सीमांकन होगा। परन्तु अभी तक सीमांकन नहीं होने की खबर है। अंचल कार्यालय में कर्मियों की संख्या कम होने से कार्य में प्रभाव पर रहा है। अंचल पदाधिकारी भी दो अंचल के प्रभार में हैं। 

समेली प्रखंड में 13 सीबीओ बनाया गया है। जो आजीविका और भूमि अधिकार से संबंधित है। इस प्रखंड के आवासीय भूमिहीनों ने मिलकर आवेदन लिखकर 3 डिसमिल जमीन देने का आग्रह अंचल पदाधिकारी से किया है। अबतक कुल 451 आवासीय भूमिहीनों आवेदन अंचल कार्यालय में प्रेषित है। इस पर बारम्बार फोलोअप किया जाता है। इसके अलावे 14 परिवार के लोगों ने रोजगार करने के लिए साधन उपलब्ध करवाने का आवेदन प्रखंड में दिया है। इन लोगों ने प्रगति बचत समूह निर्माण किया है। इनका नाम है शैररूण खातून, पेरिया खातून पतित्यागता, मुस्मात हसीना, सफीना खातून, मोनी देवी, कारी खातून, पूनम देवी, हरदा देवी, मैरूण खातून, गुलशन खातून, मदिना खातून, रविना खातून, उमेश मंडल और रूखसत खातून। समिति के व्यक्तिगत प्रयास से 4 महिलाओं को लक्ष्मीबाई सामाजिक सुरक्षा पेंशन स्वीकृत है। इसके अलावे दर्जनों को मिलने की संभावना है। इसमें कम्प्यूटर आॅपरेटर राजन का सहयोग मिला है। 13 सीबीओ के लोगों ने मिलकर प्रखंड स्तरीय समिति बनायी है। इसके अध्यक्ष- बहादुर ऋषि,सचिव- राकेष ऋषि और कोषाध्यक्ष- पेरिया खातुन हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...