बिहार : बापू जी के सात सामाजिक पाप से बचना चाहिए : नीतीश कुमार - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 3 मार्च 2019

बिहार : बापू जी के सात सामाजिक पाप से बचना चाहिए : नीतीश कुमार

अपने कार्यकाल की उपलब्धि को विस्तार से बताया, कुछ लोगों को सेवा में रूचि नहीं है केवल मेवा खाना में रूचि रखते हैं
nitish-in-gandhi-maidan-sankalp-rally
पटना,03 मार्च। एन.डी.ए. द्वारा आयोजित संकल्प रैली। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ऐतिहासिक गांधी मैदान में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी के सात बातों को सात सामाजिक पाप कहा है। इन सात सामाजिक पापों को विपक्षी पर कटाक्ष करने के उद्धेश्य से पेश किया। वहीं बी.जे.पी.के साथ रहने के बावजूद भी संविधान के तहत चलने पर बल दिया। सभी धर्मों को धर्म पालन करने का अधिकार है। इसमें रूकावट न डालने की वकालत किए। ये हैैं सात सामाजिक पाप।1. सिद्धांत के बिना राजनीति ,2. काम के बिना धन,3. विवेक के बिना सुख,4. चरित्र के बिना ज्ञान,5. नैतिकता के बिना व्यापार,6. मानवता के बिना विकास और 7.त्याग के बिना पूजा। इसी संकल्प पर चलने का मुख्यमंत्री ने आह्वान किया।सीएम ने कहा कि नवम्बर 2005 में सत्ता में आए। उस समय 700 मेगावाट ही बिजली उत्पादन होता था। जो अभी बढ़कर 52 सौ मेगावाट हो गया है। अब तो हर घर में बिजली पहुंचा दी गयी है। उन्होंने कहा कि लालटेन व ढीबड़ी युग में बच्चों को बाहर जाने को माता मना करती थीं। मत जा बाहर भूत है। उस काली रात को हटाने में कामयाब हुए हैं। अब घर से लालटेन और ढीबड़ी गायब है। अपना बिहार में किसी के साथ कोई भेदभाव नहीं हो रहा है। अपने दिल से धर्म मानने वाले स्वतंत्र रूप से धर्मपालन करें। यहां पर किसी को रूकावट नहीं है।  महिलाओं को भी वही अधिकार प्राप्त हो जो पुरुषों के हैैं। इस पर पालन कर रहे हैं। सरकारी नौकरी और नगर निकाय में 35 प्रतिशत आरक्षण महिलाओं को दिया गया है। उनको पहले ही त्रिस्तरीय ग्राम पंचायत में 50 प्रतिशत आरक्षण दिया गया है। हम मिलकर ऐसा बिहार बनाएंगे जहां सभी स्वस्थ और खुशहाल हों। इस दिशा में काफी काम हो रहा है। मुख्यमंत्री वृद्ध योजना लागू है। 60 वर्ष से लेकर वृद्धों को पेंशन देंगे। 1 मार्च से रजिस्ट्रेशन चालू है। 1 अप्रैल से पेंशन मिलना शुरू हो जाएगा। इससे वृद्धों को परिवार में सम्मान मिलना शुरू हो जाएगा। सूखा फसल सहायता योजना संचालित है। 534 प्रखंडों में 280 प्रखंडों में लागू है। इससे किसानों को लाभ मिलेगा। हम कृतसंकल्प है कि हम सब मिलकर भारत को बापू के सपनों का भारत बनाएंगे। हम स्वच्छता के प्रति सजग रहेंगे। न हम गंदगी करेंगे और ना ही किसी को करने देंगे। हम बिहार को 2019 तक खुले में शौच से मुक्त बनाएंगे। जोरदार ढंग से सात निश्चय के बारे में बताया। नल का जल दिया जा रहा है। पक्की गली और नाली निर्माण हो रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...