बालाकोट पर सरकार को ‘और तथ्य’ देने चाहिए, प्रधानमंत्री की प्रतिक्रिया समझ से परे : पित्रोदा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 22 मार्च 2019

बालाकोट पर सरकार को ‘और तथ्य’ देने चाहिए, प्रधानमंत्री की प्रतिक्रिया समझ से परे : पित्रोदा

sam-pitroda-ask-question-to-pm
नयी दिल्ली, 22 मार्च, इंडियन ओवरसीज कांग्रेस के प्रमुख सैम पित्रोदा ने शुक्रवार को कहा कि सरकार को बालाकोट में वायुसेना की कार्रवाई के संदर्भ में ‘और तथ्यों’ के साथ सामने आना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि उनके एक कथित बयान पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रतिक्रिया समझ से परे है। पित्रोदा ने कहा, ‘‘मैंने सिर्फ यही कहा है कि क्या हमें और तथ्य मिल सकते हैं। मुझे नहीं समझ रहा है कि इतना भ्रम क्यों बना हुआ है। लोकतंत्र में आपको सवाल पूछने का हक है। बहस, चर्चा, संवाद और विमर्श करना अच्छा होता है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘मेरे सवाल पूछने से जिस तरह की प्रतिक्रिया हुई है वो नहीं होनी चाहिए थी। यहां तक की प्रधानमंत्री के स्तर से प्रतिक्रिया नहीं होनी चाहिए थी। मेरी समझ से परे है।’’  दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बालाकोट एयर स्ट्राइक पर पित्रोदा द्वारा कथित तौर पर सवाल किए जाने के बाद निशाना साधते हुए कहा कि सुरक्षाबलों को नीचा दिखाना विपक्ष की आदत है। खबरों के मुताबिक पित्रोदा ने कहा था कि क्या हमने सच में हमला किया था? क्या सच में 300 आतंकी मारे गए थे?  बाद में पित्रोदा ने सफाई देते हुए कहा कि उन्होंने एक नागरिक की हैसियत से सवाल किया था। उन्होंने कहा, 'मैंने सिर्फ एक नागरिक के रूप में कहा कि मैं यह जानने का हकदार हूं कि क्या हुआ। मैं पार्टी की तरफ से नहीं, सिर्फ एक नागरिक के रूप में बोल रहा हूं। मुझे यह जानने का अधिकार है और इसमें क्या गलत है?' 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...