विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 14 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 14 मार्च 2019

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 14 मार्च

विश्व उपभोक्ता संरक्षण दिवस आज

हर वर्ष विश्व उपभोक्ता संरक्षण दिवस 15 मार्च को आयोजित किया जाता है। इस वर्ष उक्त कार्यक्रम नवीन कलेक्टेªट के सभागार कक्ष मेें आयोजित किया गया है। कार्यक्रम के परिपेक्ष्य में जिला स्तर पर की जाने वाली तैयारियों के संबंध में जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती नुजहत बानो बकई ने बताया कि दोपहर 12 बजे से ततसंबंधी कार्यक्रम शुरू होगा।  जिला आपूर्ति अधिकारी श्री नुजहत बानो बकई ने बताया कि कार्यक्रम के दौरान उपभोक्ताओं को जागरूक करने पर विशेष बल देने के उद्वेश्य से छाया चित्र प्रदर्शनी का आयोजन किया गया है। सेमीनार में डिजीटल बाजार संबंधी मुद्दो खासकर आॅन लाइन खरीदी के संबंध में बरती जाने वाली सावधानियों से अवगत कराया जाएगा। उपभोक्ताओं को जागरूक करने के ततसंबंधी कार्यक्रम में नापतौल, आईल कंपनी, खाद्य औषधी प्रशासन, विद्युत, बैंक एवं खाद्य विभाग की सहभागिता सुनिश्चित की गई है। 

अग्रिम कर का भुगतान 15 तक करें

मध्यप्रदेश एवं छत्तीसगढ़ राज्य के प्रधान मुख्य कर आयुक्त के द्वारा जारी अग्रिम कर भुगतान के संबंध में दिशा निर्देशों का हवाला देतेे हुए विदिशा के आयकर अधिकारी श्री सुरेश बी ने बताया कि अग्रिम कर का भुगतान गणना के उपरांत 15 मार्च तक जमा करा सकते है। जिससे की सभी आयकर दाताओं को अधिनियम की धारा 234बी एवं 234सी के अतिरिक्त ब्याज से एवं आयकर अधिनियम के अंतर्गत आने वाले अन्य प्रावधानों से बच सकें।  आयकर अधिकारी श्री सुरेश बी ने बताया कि कर भुगतान करने वाले सभी निर्धारितों के हितों को ध्यान में रखते हुए अग्रिम कर के भुगतान के संबंध में प्रधान मुख्य आयकर आयुक्त द्वारा अपील की गई है। कई बार समुचित जानकारियों के अभाव में बहुत सी निर्धारिती अग्रिम कर भुगतान के बदले स्वनिर्धारण कर द्वारा अपना भुगतान आयकर विभाग को करते है। ऐसे करदाताओं पर आयकर विभाग की कड़ी नजर रहती है। आयकर अधिनियम के प्रावधानों के तहत जिन निर्धारितों कर दस हजार रूपए के ऊपर आता है उन्हें अपने सही गणना उपरांत अग्रिम कर 15 मार्च तक भुगतान कर अन्य प्रावधानो से बच सकते है।

सुविधा एप पर होगी नामांकन पत्रों की एंट्री

निर्वाचन आयोग द्वारा तैयार किए गए सुविधा एप्लीकेशन में जोड़े गए नामिनेशन के माॅड्यूल में लोकसभा का चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थियों द्वारा भरे गए नाम निर्देशन पत्रों की एंट्री भी की जाएगी। इस माॅडयूल से रिटर्निंग अधिकारियों को अतिरिक्त सहूलियत होगी। रिटर्निंग अधिकारी उम्मीदवारों से प्राप्त नामांकन पत्रों में दर्ज प्रत्येक जानकारी को सुविधा एप में दर्ज करेंगे। सुविधा एप्लीकेशन के माॅडयूल को कुछ इस तरह बनाया गया है कि यदि नामांकन पत्र में कोई कमी रह जाती है या ऐसी कोई जानकारी जो नामांकन पत्र में दी जाना अनिवार्य है लेकिन अभ्यर्थी द्वारा उसे नहीं भरा गया है तो यह उस नामांकन पत्र को स्वीकार ही नही करेंगा। ऐसी स्थिति में उम्मीदवार को रिटर्निंग अधिकारी द्वारा लिखित में सूचना देकर नामांकन पत्र की कमियों की समय रहते पूर्ति करने के लिए कहा जाएगा। ताकि सिर्फ लिपिकीयत्रुटि के कारण संवीक्षा के दौरान नामांकन पत्रों को निरस्त होने की स्थिति से बचा जा सकेगा।

धार्मिक, सांप्रदायिक अथवा जातीय भावनों का उपयोग, आदर्श आचरण संहिता का उल्लघंन

जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने लोकसभा निर्वाचन 2019 के दृष्टिगत राजनैतिक दलों एवं अभ्यर्थियों को निर्वाचन घोषणा उपरांत आदर्श आचरण संहिता का पालन करने के लिए कहा है। आपने बताया कि किसी भी राजनैतिक दल या अभ्यर्थी को ऐसा कोई कार्य नहीं करना चाहिए कि जिससे किसी धर्म, संप्रदाय या जाति के लोगो की भावनाओं को ठेस पहुंचे या उनमें द्वेष अथवा तनाव पैदा हो। जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर श्री सिंह ने अभ्यर्थियों को समझाईश दी है कि मत प्राप्त करने के लिए धार्मिक, सांप्रदायिक अथवा जातीय भावनाओं का सहारा न लें। पूजा के किसी स्थल मंदिर, मस्जिद, गिरजाघर, गुरूद्वारा आदि का प्रयोग चुनाव के लिए किया जाना वर्जित है। निर्वाचन आयोग द्वारा निर्वाचन कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही आदर्श आचरण संहिता के प्रावधान लागू हो चुके है। यह प्रावधान परिणामों की घोषणा तक प्रभावशील रहेंगे। 

प्रगतिरत शासकीय कार्यो के अलावा अन्य कोई नवीन कार्य प्रारंभ नही होंगे

कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने समस्त जिलाधिकारियोें को निर्देशित किया है कि वे सभी निर्माण कार्य जो आदर्श आचरण संहिता लागू होने के पूर्व प्रारंभ किए जाकर प्रगतिरत है कि सूची जिला निर्वाचन कार्यालय में अनिवार्यतः प्रेषित करना सुनिश्चित करें साथ ही उन्होंने निर्देशित किया है कि जिले की किसी भी बेवसाइट/एप्प पर किसी राजनैतिक व्यक्ति का फोटो हो तो उसे तत्काल हटाने के साथ ही संपत्ति विरूपण अधिनियम तथा आदर्श आचरण संहिता के प्रावधनो का पालन सुनिश्चित कराएं। 

सोशल मीडिया में राजनैतिक प्रचार का व्यय निर्वाचन खर्चे में जोड़ा जाएगा

सोशल मीडिया के बढ़ते हुए प्रभाव को देखते हुए निर्वाचन प्रक्रिया में सोशल मीडिया की गतिविधियों पर भी नजर रखी जाएगी निर्वाचन आयोग के निर्देशानुुसार अभ्यर्थी को नाम निर्देशन पत्र में अपने सोशल मीडिया एकाउंटस की जानकारी भी देनी होगी।  निर्वाचन आयोग ने स्पष्ट किया है कि सोशल मीडिया भी इलेक्ट्राॅनिक मीडिया की परिभाषा अंतर्गत आता है अतएव राजनैतिक विज्ञापनों का बिना सक्षम एमसीएमसी समिति के पूर्व प्रमाणन के सोशल मीडिया में प्रयोग नहीं किया जा सकेगा। अभ्यर्थी एवं राजनैतिक दलों से अपेक्षित है कि निर्वाचन व्यय में सोशल मीडिया में प्रचार का खर्च भी आवश्यक रूप से जोडे़। सोशल मीडिया में राजनैतिक प्रचार में उपगत व्यय में इंटरनेट कंपनी, बेवसाइट को राजनैतिक विज्ञापनों को स्थान देते हेतु किए गए व्यय, कंटैंट डिजाइन हेतु व्यय, सोशल मीडिया अकाउंट हेतु नियुक्त किए गए कर्मचारी अथवा समूह को किया गया व्यय अन्य संबंधित व्ययों समेत शामिल करना होगा। आदर्श आचरण संहिता के प्रावधान एवं अपेक्षित आचरण सोशल मीडिया गतिविधियों पर भी प्रभावी होंगे। 

जिला बदर के आदेश जारी

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने पुलिस अधीक्षक के पालन प्रतिवेदन पर एक प्रकरण मंे जिला बदर के आदेश जारी कर दिए है।  जारी आदेश मंे उल्लेख है कि थाना मुगलसराय के विभिन्न अपराधों में लिप्त अनावेदक कमलू पुत्र तुलाराम अहिरवार निवासी ग्राम मूडराधर्मू के विरूद्व मध्यप्रदेश राज्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत जिला बदर की कार्यवाही एक वर्ष के लिए की गई है। उक्त अवधि में विदिशा जिला एवं सीमावर्ती जिला रायसेन, भोपाल, गुना, अशोेकनगर, सागर, राजगढ़ की राजस्व सीमा से एक वर्ष की कालावधि के लिए उसे निष्कासित किया गया है। 

मानव भगवान बनना चाहता है पर अच्छा इंसान नहीं बनना चाहताः पं. देवेन्द्र भार्गव

vidisha news
विदिषाः नंद के आनंद भयो जय कन्हैयालाल की सावरकर बाल विहार में चल रही भागवत में आज चतुर्थ दिवस पर इन नारों से गूंज उठा पांडाल। कथा व्यास पं. श्री देवेन्द्र भार्गव जी के मुखारबिंद से स्थानीय सावरकर बाल विहार में दोपहर 1 बजे से शाम 4 बजे तक श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन चल रहा है। कथा के चतुर्थ दिवस आज श्री गजेन्द्र मोक्ष, श्री वामन अबतार, श्री राम जन्म एवं श्रीकृष्ण जन्मोत्सव का वृतांत सुनाया। कथा के क्रम को आगे बढाते हुए महाराज श्री ने कहा सुखिया मालिन ने भगवान के चरणों में समस्त फल अर्पित कर दिये अपने जीवन के कर्म फल ठाकुर जी के चरणों में अर्पित कर दिये भगवान ने उसकी झोली रतनों से भर दी। जीव परमात्मा को अपने किए गये कर्म फल समर्पित कर देता है तो परमात्मा उसके जीवन को संुदर बना देता है। भगवान श्री राम का अबतार सुनाते हुए कथा व्यास पं. श्री भार्गव जी ने कहा कि भगवान श्री राम ने विषुद्ध रूप से मानव को मानवीय जीवन जीने की कला सिखलाई है। भगवान श्री राम एक अच्छे पति, एक आज्ञाकारी पुत्र, एक मार्गदर्षक भाई, एक निर्भिक मित्र और न्याय प्रिय राजा हुए। श्री रामचरित्र मानस के माध्यम से मानव को परिवार में कैसे रहा जाता है, समाज में कैसे रहा जाता है यह बताया है। आजकल थोडा सा भजन कर लिया, थोडा सा धर्म कर लिया, इंसान भगवान बन बैठा। मानव भगवान बनना चाहता है पर अच्छा इंसान नहीं बनना चाहता। हम पहले अच्छे इंसान बने बाद में भगवान बनने का विचार करें। महाराज श्री ने कथा के क्रम को आगे बढाते हुए कहा कि जब भी भक्तों पर संकट आया तब-तब किसी न किसी रूप में ईष्वर ने आकर भक्तों के कष्टों का हरण किया। चाहे स्वामी महावीर के रूप में हो, चाहे गौतम बुद्ध के रूप में हो, चाहे गुरूनानक के रूप में हो इसी तरह द्वापर युग में भगवान श्री कृष्ण ने अबतार लेकर धर्म की स्थापना की अत्याचार का अंत किया। कथा के मुख्य यजमान विदिषा विधायक शषांक भार्गव ने सपरिवार व्यास गादी की आरती उतारी। कथा का सीधा प्रसारण दिषा टी.व्ही चैनल पर सम्पूर्ण भारत में किया जा रहा है। गौमाता के सहयोग के लिए यह श्रीमद् भागवत महोत्सव मनाया जा रहा है। दूर-दराज ग्रामीण क्षेत्रों से एवं समस्त विदिषा नगरवासी इस कथा के श्रवण से लाभांवित हो रहे है। आज श्रीकृष्ण जन्मोत्सव की लीला देखने कथा में भारी भीड उमडी, कथा में दिल्ली से आये हुए कलाकारों के नृत्य का भी भक्त आनंद उठा रहें है। आज सुमधुर भजनों पर श्रद्धालु भक्त नाज उठे खूब गुलाल उडा, खूब रंग उडा बहुत ही दिव्य और भव्य बाल श्रीकृष्ण भगवान का जन्मोत्सव मनाया गया। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...