विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 16 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 16 मार्च 2019

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 16 मार्च

आज हर गली हर मोड पर कई कंस खडे हैं।
कंस रूपी कलह को मारने के लिए कृष्ण रूपी सत्संग की आवष्यकता हैः पं. श्री देवेन्द्र भार्गवआज मनाई जाएगी फूलों की होली
vidisha news
विदिषाः श्री गोपाल कृष्ण गौषाला मुरादपुर धाम के सहायतार्थ सावरकर बाल विहार में दोपहर 1 बजे से शाम 4 बजे तक चल रही श्रीमद् भागवत कथा महोत्सव के षष्ठम दिवस पर राष्ट्रीय कथा व्यास पंडित श्री देवेन्द्र जी भार्गव ने कहा कि कंस के अत्याचार को मिटाने के लिए भगवान श्रीकृष्ण मथुरा पधारे द्वापर युग में तो एक कंस था लेकिन आज तो हर गली, हर मोड पर कई कंस खडे हुए है। जिनके कारण से हमारी माताएं बहने असुरक्षित है। हमें इन कंषो से लडाई लडना है। उनके विचारों को परिवर्तन करना है क्योंकि विचार ही राक्षस है, नकारात्मक विचार अगर आपके अंदर हैं तो वही राक्षसी परंपरा को जन्म देते हैं। इसलिए हमें राक्षसी विचारों से लडने के लिए सत्संग की आवष्यकता है। अपने बच्चों को व्यस्त रखें, सत्संग में जाने की प्रेरणा दें, घर में ठाकुर जी की प्रतिदिन पूजन करने की प्रेरणा दें, जिससे उनके विचार धार्मिक होगें। आज के आधुनिकीकरण में भी हमें प्राचीन संस्कारों की आवष्यकता है, क्योंकि प्राचीन परंपराएं गलत नहीं है, धार्मिक विचार राम की परंपरा की ओर खींचते है। कंस कलह है घर-घर में किसी न किसी रूप में कंस रूपी कलह को मारने के लिए कृष्ण रूपी सत्संग की आवष्यकता है। हमें प्रतिदिन घर में सुबह शाम सभी परिवार के साथ सत्संग करना चाहिए तब घर में संुदर वातावरण उत्पन्न होगा। कुछ बच्चे नषे की चपेट में है उस नषे के कारण से बच्चे गलत मार्ग पर जा रहें हैं। तंबाकू शराब या कई प्रकार के नषे की चपेट में हमारे युवा इस समय मकडजाल में फंसे हुए हैं। उन्हें निकालने के लिए हमें सत्संग करना चाहिए। महाराज श्री ने कथा को आगे बढाते हुए कहा कि भगवान श्रीकृष्ण ने कंस का उद्धार किया, उद्धव जी महाराज को ज्ञान के साथ में भक्ति का पुट चढाने के लिए मथुरा से वृंदावन गोपियों के मिलन के लिए भेजा। और वहां उद्धव जी महाराज के ज्ञान के साथ भक्ति का रंग चढा। बृज भक्ति का स्वरूप है, इसके पष्चात श्री भार्गव जी ने संुदर कथा रूकमणी विवाह मंगल की गई भगवान श्रीकृष्ण सनातन धर्म को स्थापित करने के लिए आए उन्होंने जो धर्म विरोधी थे उन्हें अपने विचारों से सहमत किया। आज सनातन धर्म संकट में है कुछ पाखंडीयों के कारण हमारे धर्मिक अनुष्ठानों पर, मंदिरों पर, कथाओं पर कुछ हमारे बीच के लोग उंगली उठाते है। लेकिन वो भूल गए सनातन को मिटाने के लिए कई राक्षसी शक्तियां आई और चली गई। सनात जैसा था वैसा ही रहा, हमें अपने धर्म के प्रति निष्ठा सच्ची श्रद्धा के साथ खडा रहना चाहिए। जो इसके विरोधी है, उनको जबाब देना चाहिए। कंस, रावण, हिरण्यकष्यपु, हिरण्याक्ष जैसे कई राक्षस आज हमारे समाज में मौजूद है। वह हमारे धर्म के प्रति दुष्प्रचार कर रहे हैं उनके दुष्प्रचार को रोकने के लिए हमें हमारे युवाओं को आगे लाना चाहिए। गाय, गंगा, गीता यह तीनों आज खतरे में हैं। तीनों की बहुत दुर्दषा है। इन तीनों को बचाने के लिए हमें अधिक से अधिक प्रयास करना चाहिए। पाखंडियों को रोकना चाहिए इनके विचारों से लडना चाहिए। धर्म के नाम पर जो लोग पाखण्ड फैलाते हैं वह किसी जाति, किसी धर्म के नहीं है। सिर्फ उनको अपना स्वार्थ सिद्ध करना है। ऐसे स्वार्थी लोगों से सावधान रहना होगा। कथा में बहुत संुदर भजनों की प्रस्तुति हुई जिस पर श्रद्धालु खूब झूम करके नाचे।  आज सनातन श्री हिन्दु उत्सव समिति, पुजारी महासभा के पदाधिकारीगण, मुस्लिम समुदाय के लोगों ने कथा स्थल पहुॅचकर महाराज श्री का स्वागत किया। कल कथा में सुदामा जी चरित्र और सप्तम दिवस तक जो भागवत कथा सुनाई गई उसका सारांष सुनाया जाएगा। कथा सप्तम दिवस में विराम होगी। सभी नगरवासियों, क्षेत्रवासियों से मुख्य यजमान विदिषा विधायक श्री शषांक भार्गव ने सप्तम दिवस की कथा में पधारकर धर्म लाभ लेने का निवेदन किया है।  

पोषण थाली से संदेश

vidisha news
पोषण पखवाड़ा के अंतर्गत जिले की आंगनबाडी केन्द्रो पर जनजागृति कार्यक्रमों का आयोजन जारी है। शनिवार को विदिशा नगर के रामद्वारा में स्थित आंगनबाडी केन्द्र पर पोषण थाली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था। जिसके माध्यम से पोषण आहार शरीर के लिए क्यों आवश्यक है और कौन-कौन सी खाद्य सामग्री से हम शीघ्र कुपोषण से सुपोषण हो सकते है का प्रदर्शन किया गया है।  आंगनबाडी केन्द्र पर सम्पन्न हुए पोषण थाली में टीएचआर को विभिन्न प्रकार के व्यंजनों का आकार देकर प्रदर्शन किया गया है। आंगनबाडी केन्द्रों में उपस्थित महिलाओं के द्वारा उत्साहपूर्वक भाग लिया गया है। आंगनबाडी केन्द्र की सहायिका एवं कार्यकर्ता के द्वारा पोषण पखवाडा के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई और बच्चे कुपोषित ना हो इसके लिए किन-किन बातों का विशेष ध्यान रखे के साथ-साथ गर्भवती माताओं के लिए पोषण आहार के माध्यम से आवश्यक तत्वों की पूर्ति कैसे होती है की भी जानकारी दी गई। इस अवसर पर माजिदा खाॅन, प्रीति रायकवार, कंचन चैरे, दुर्गेश यादव, सरिता शर्मा ने पोषण पखवाडा आयोजन के उद्वेश्यों पर प्रकाश डाला और उसकी उपयोगिता को रेखांकित किया। 

अंग्रेजी सामान्य विषय में 947 अनुपस्थित

दसवीं बोर्ड परीक्षा का आज अंग्रेजी सामान्य विषय के पेपर में 947 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे है। जिले में एक भी नकल का प्रकरण दर्ज नही किया गया है। जिला शिक्षा अधिकारी श्री अतुल कुमार मोदगिल के द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी के अनुसार दसवीं बोर्ड परीक्षा के लिए कुल 21926 परीक्षार्थी दर्ज है। जिसमें से 20979 ने परीक्षा दी है। 

वाहनों की सघन जांच पड़ताल जारी 

vidisha news
लोकसभा निर्वाचन की तिथियां जारी होने के उपरांत विदिशा जिले में भी वाहनों की सघन जांच पड़ताल कार्य विभिन्न चैराहो पर हर रोज जिला परिवहन अधिकारी श्री गिरजेश वर्मा एवं उनके अन्य सहयोगियों द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है।  शनिवार को तीन जिले क्रमशः रायसेन, सीहोर, विदिशा के परिवहन अधिकारी के साथ-साथ उड़नदस्ता भोपाल के अधिकारियों द्वारा संयुक्त रूप से विदिशा शहर, गुलाबगंज, बासौदा के विभिन्न स्थलों पर वाहनों की सघन जांच पड़ताल की गई है। विदिशा जिला परिवहन अधिकारी श्री वर्मा ने बताया कि कार्यवाही में तीस वाहनों के विरूद्व चालानी कार्यवाही की गई है इनमें से 14 वाहनों से एक लाख 26 हजार पांच सौ दो रूपए का राजस्व वसूल किया गया है जिसमें समन शुल्क 47500 तथा मोटरयान कर 79002 शामिल है इसके अलावा एक बस का बकाया मोटरयान कर 73442 रूपए जमा कराया गया है।  जांच पड़ताल के दौरान चालानी कार्यवाही में 16 अन्य वाहनों के प्रकरण निराकरण की प्रत्यांशा में पुलिस थानो को सुपुर्द किए गए है जिसमें विशेष रूप से दो डम्पर जिनका बकाया मोटरयान क्रमशः तीन लाख 74 हजार तथा दो लाख चालीस हजार है। तीन अन्य डम्पर, जेसीव्ही, चार टेªक्टर, आटो रिक्शा को भी थानो के सुुपुर्द किया गया है। वाहनो की जांच पड़ताल कार्यवाही के दौरान मैसर्स अंकिता कंस्ट्रक्शन, विदिशा के यार्ड में खडे़ 16 वाहनों को यार्ड में ही जप्त किया गया है। इस कार्यवाही के दौरान विशेष रूप से वाहनों के बकाया मोटरयान कर, वाहन मंे नम्बर प्लेट पर नियम विरूद्व पदनाम आदि लिखा होने, नियम विरूद्व सर्चलाइट लगी पाए जाने तथा बिना परमिट संचालित वाहनों के विरूद्व चालानी कार्यवाही की गई है। संयुक्त कार्यवाही में विदिशा जिला परिवहन कार्यालयीन स्टाॅफ के साथ-साथ जिला परिवहन अधिकारी रायसेन श्री रीतेश तिवारी, जिला परिवहन अधिकारी सीहोर श्री अनुराग शुक्ला एवं उड़नदस्ता भेापाल के सहायक उप निरीक्षक श्री अशोक मौर्य मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...