दुमका : गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस के हत्थे चढ़े चार साइबर अपराधी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 8 अप्रैल 2019

दुमका : गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस के हत्थे चढ़े चार साइबर अपराधी

एक बड़े गैंग के उद्भेदन की चल रही है तैयारी : एस पी वाई एस रमेश 
4-cyber-criminal-arrested-dumka
दुमका (अमरेन्द्र सुमन) साइबर अपराध पर अंकुश लगाने के लिए दुमका पुलिस लगातार तत्पर है। इसके लिए टीम नेटवर्क की तरह काम को भी अंजाम दिया जा रहा है। इसी के तहत  संदिग्ध हालत में साइबर अपराध को अंजाम दे रहे कुल चार अपराधियों को जरमुण्डी पुलिस ने दिन रविवार को धर दबोचा। एस पी दुमका वाई एस रमेश ने प्रेसवार्ता आयोजित कर सोमवार की सुबह उपरोक्त की जानकारी दी। जानकारी देते हुए एस पी दुमका वाई एस रमेश ने कहा कि जरमुण्डी - तालझारी मार्ग पर जोगिया मोड़ के समीप ग्राम हथनामा में अताउल अंसारी के घर के पिछवाड़े साइबर अपराध में लिप्त अपराधियों की गुप्त सूचना पुलिस को प्राप्त हुई थी।  सूचना के आधार पर अ. नि. राज बल्लभ सिंह के नेतृत्व में  एएसआई विजय कुमार दूबे, चन्द्रिका राय, प्रदीप कुमार मिश्रा, योगेश्वर उरांव, हवलदार रोबिन मरांडी तथा आरक्षी लक्ष्मण भगत, मनोज कुमार पाठक, जीतेन्द्र कुमार व खिरोत प्रधान की टीम के  घटनास्थल पर पहुंचे ही अपराधी भागने लगे जिन्हें खदेड़ कर पकड़ लिया गया। पुलिस के हत्थे चढ़े तीन सायबर अपराधी अताउल अंसारी (उम्र 26) निजामुद्दीन अंसारी (उम्र 34) व अकरम अंसारी (उम्र 24) सभी शाकिन हथनामा (जरमुण्डी) व चौथा   मुख्तार अंसारी ग्राम लकड़ा खोन्दा ( सारठ, देवघर) का रहने वाला है।  एस पी ने कहा कि जरमुण्डी थाना कांड संख्या 15/19 दिनांक 8.4.2019 के अन्तर्गत व धारा 467/ 468/ 471/ 419/ 420/ 120 (बी)  भादवि एवं 66 (सी) 66 (डी) आईटी एक्ट के तहत कांड दर्ज कर अनुसंधान प्रारंभ कर दिया गया है। उपरोक्त सायबर अपराधियों के बीच से 9 अलग-अलग तरह के एण्ड्रायड व सिंपल फोन, कई सीम, पासबुक व एटीएम कार्ड बरामद किया गया। इस अवसर पर सायबर डीएसपी भी मौजूद थे। एस पी दुमका ने कहा कि इन अपराधियों के लिंक वाले एरिया के पुलिस अधीक्षकों से संपर्क स्थापित कर पूरे तह तक जाने का प्रयास जारी है ताकि यह पता लगाया जा सके कि इनका नेटवर्क कितना बड़ा और मजबूत है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...