बिहार : शराबबंदी के बावजूद भी दीघा थाना क्षेत्र में शराब बन रही है - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 11 अप्रैल 2019

बिहार : शराबबंदी के बावजूद भी दीघा थाना क्षेत्र में शराब बन रही है

alcohal-ban-factory-on-digha
पटना,10 अप्रैल। महादलित रामकली देवी परेशान हैं।उसका पति विफन मांझी जेल में बंद है एक माह से।उनपर आरोप है कि वह शराब बेचते हैं। उनके पास से 45 लीटर महुआ दारू बरामद हुई है।  रद्दी चुनने वाली रामकली देवी कहती हैं कि हमदोनों यानी पति-पत्नी रद्दी कागज चुनते हैं।दिनभर चुनने के  बाद रद्दी बाजार में ले जाकर बेच देते हैं। ऐसा करके हम दोनों दो जून की रोटी जुगाड़ करते हैं।बेटी पार्वती देवी भी साथ देती हैं। आज चैती छठ है। महापर्व होने पर भी रद्दी चुनने गयी। इस पर छठ पर्व का असर नहीं पड़ा । अर्जुन की तरह ही कार्य कर रही हैं रामकली देवी ।अर्जुन को मछली की आंख पर नजर तो रामकली को पति को कैद से मुक्त कराने पर है। एक-एक पैसा जमा करके रामकली ने पांच हजार रूपए जमा कर रखी थीं।वह वकील साहब की झोली में डालकर आ गयी है।इतने से गिरफ्तार विफन मांझी को आदर्श कारा, बेऊर से मुक्त करवाना काफी नहीं है। वह दस हजार मांग कर रहा है। आज रद्दी कागज चुनकर और बेचकर घर जा रही थीं। पटना-दीघा मुख्य मार्ग पर स्थित आई. टी. आई.  छात्रावास के सामने मौके पर रामकली देवी वजब बताती हैं कि कुछ दिन पूर्व दीघा पुलिस दीघा मुसहरी में शराब विरोधी मुहिम के तहत छापामारी करने आयी थी। इस दौरान विफन मांझी को गिरफ्तार कर लिया गया। आगे कहती हैं कि हमदोनों रद्दी कागज चुनकर आए थे। कुछ पैसा था तो थकावट दूर करने के नाम पर कुछ शराब पी रखा था। वह सोने ही जा रहा था कि दीघा पुलिस आ धमकी। उसे पकड़ लिया गया। अभी वह आदर्श कारा बेऊर में कैद हैं।  रामकली देवी कहती हैं कि दीघा पुलिस ने मनमौजी ढंग से मेरे पति विफन मांझी पर आरोप गढ़ दी है। आरोप पत्र में एक नहीं पूरे  40 लीटर शराब बरामद लिखकर जेल भेज दिया है। इससे परेशान है विफन मांझी की पत्नी रामकली देवी। वह कहती है दीघा मुसहरी में एक शख्स में है जो मजे से महुआ दारू बनवाता है और महादलितों से बिक्री करवाता है।आजतक कभी भी वह शख्स गिरफ्तार नहीं किया गया है। आगे कहती है कि वकीव साहब को पांच हजार दिए हैं।पांच हजार कवारी खरीदने वाले से मांग की है।तब जाकर जमानत हो जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...