विशेष : बेशर्म आजम को नहीं आया मां बहनों का ख्याल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 15 अप्रैल 2019

विशेष : बेशर्म आजम को नहीं आया मां बहनों का ख्याल

azam-khan-statement-against-jaya-prada
 लोकसभा चुनाव में जुबानी जंग और अमर्यादित टिप्पणियां देखने को मिल रहींं हैं। इसी जुबानी जंग की तहत रामपुर सपा नेता और प्रत्याशी आजम खां ने अपनी बेशर्मी का परिचय दे दिया। आजम खान ने जयाप्रदा पर अमर्यादित टिप्पणी करते हुए कहा कि आपको 17 साल लग गए उनको पहचानने में मुझे(आजम खान)  17 दिन लगे कि उनके अंडरवेअर का रंग खाकी है। बेशर्मी की हद तो देखो जिस समय आजम ने यह बयान दिया था उस वक्त सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी मौजूद थे। जयाप्रदा पर लेकर आजम की यह टिप्पणी निंदनीय के साथ अशोभनीय है। आजम खान को ऐसी टिप्पणी करने से पहले क्या अपने घर की महिलाओं का ख्याल नहीं आया? एक महिला पर इस तरह की टिप्पणी करने के बाद अपने घर की महिलाओं को क्या मुंह दिखाएंगें? 

यह वही समाजवादी पार्टी है जो महिला सशक्तिकरण की बात तो करती है लेकिन महिलाओं पर अभद्र टिप्पणी करने में कोई कसर नहीं छोड़ती। रेप पर मुलायम सिंह यादव ने भी बयान दिया था कि लड़कों से गलतियां हो जाती हैं। सपा मुखिया अखिलेश यादव महिला सशक्तिकरण की दुहाई देते हैं लेकिन इस पूरे मामले में चुप्पी साधे बैठे हुए हैं। आजम खान अपने आप को मुसलमानों का नेता कहते हैं। मुसलमानों का नेतृत्व करते हैं। अपने आप को पढ़ा लिखा कहते हैं। जयाप्रदा पर इस तरह की अभद्र टिप्पणी कर अपनी मानसिकता जाहिर करते हुए जाहिलों वाला परिचय दिया है। चुनावी कुंठा उनके चेहरे पर साफ झलकती है। भरी सभा में किसी महिला को इस तरह से बेइज्जत करने के बयान पर तालियां बजा रहे लोगों जरा सोचोंं अगर कोई तुम्हारी घर की महिलाओं पर ऐसी टिप्पणी करें तो कैसा लगेगा ? इस बयान पर तालियां तो मिली आजम खान को लेकिन महिलाओं के प्रति कितना सम्मान हैं इसमें अपनी इज्ज़त गंवा बैठे। महिला आयोग ने नोटिस भेजकर आजम को तलब कर दिया है, जयाप्रदा ने आजम पर निशाना साधते हुए कहा कि क्या उन्हें अपनी मां बहनों का ख्याल भी नहीं आया था।  आजम की हर तरफ थूं थूं हो रही है उनकी इज़्जतों की धज्जियां उड़ रहीं हैं लेकिन जब आदमी बेशर्म  हो तो उसकी इज्ज़त कहाँ होती है। अपनी सफाई में आजम ने कहा कि बिना नाम लिए मैने कहा था यह जयाप्रदा पर नहीं किसी दूसरे पर था जो 150 रायफल लेकर मुझे ( आजम खान) को.मारने रामपुर आया था। आजकल उनका स्वास्थ्य ख़राब चल रहा है। ऐसी अशोभनीय टिप्पणी कर अपनी जाहिल भरी सोच का परिचय जिह तरह से आजम ने दिया है उससे डर इस बात का है कि बढ़ती हुई इस कुंठा और लोकसभा चुनाव में आजम अंडरवेअर से भी आगे न बढ़ जाए। 


रवि श्रीवास्तव

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...