बदसलूकी के कारण छोड़ी कांग्रेस : प्रियंका चतुर्वेदी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 20 अप्रैल 2019

बदसलूकी के कारण छोड़ी कांग्रेस : प्रियंका चतुर्वेदी

congress-abandoned-due-to-mistreatment-priyanka-chaturvedi
मुम्बई, 19 अप्रैल, लोकसभा का टिकट नहीं मिलने और पार्टी में उनसे बदसलूकी करने वालों को संरक्षण दिए जाने से नाराज श्रीमती प्रियंका चतुर्वेदी ने कांग्रेस छोड़ने के बाद शुक्रवार को शिव सेना का दामन थाम लिया। श्रीमती चतुर्वेदी ने कांग्रेस प्रवक्ता एवं संचार विभाग के संयोजक पद के साथ-साथ पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से कल अपना इस्तीफा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भेज दिया था। उन्होंनेे आज यहां शिव सेना प्रमुख उद्धव ठाकरे की मौजूदगी में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में शिव सेना की सदस्यता ग्रहण की। उन्होंने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि वह 10 साल से कांग्रेस की निस्वार्थभाव से सेवा कर रहीं थी और उन्होंने हमेशा महिलाओं के सम्मान के लिए काम किया। उन्होंने कहा कि जब एक महिला के साथ दुर्व्यवहार होता है और उसको लेकर सुध नहीं ली गयी तो इससे वह आहत हुई। कांग्रेस हाईकमान को भी उन्होंने अपनी पीड़ा बताई लेकिन बदसलूकी करने वालों को बाहर का रास्ता दिखाने की बजाय फिर पार्टी में लाया गया। यह एक महिला का अपमान है और महिलाओं के सम्मान के लिए ही उन्होंने कांग्रेस छोड़ी है। उन्होंने माना कि वह कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा का चुनाव लड़ना चाहती थी लेकिन कहा कि उन्होंने टिकट नहीं मिलने के कारण पार्टी नहीं छोडी है। एक सवाल पर उन्होंने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश के मथुरा से उन्हें लगाव है लेकिन इस सीट से उन्होंने टिकट की मांग नहीं की। श्रीमती चतुर्वेदी ने कहा कि वह सोच-समझकर और महिलाओं के प्रति अपनी जिम्मेदारी को अच्छी तरह से समझते हुए शिव सेना में शामिल हो रही हैं। उन्होंने कहा कि वह मंबई में पली पढ़ी हैं और वह जानती हैं कि मुंबई में रहने वाले लोगों के दिलों पर शिव सेना राज करती है। शिव सेना के लिए उनके मन में विशेष सम्मान रहा है। पार्टी के युवा नेतृत्व और उनकी सोच को देखते हुए वह शिव सेना में शामिल हो रही हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...