बिहार : मांझी के नेतृत्व में अटूट है : हम - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 2 अप्रैल 2019

बिहार : मांझी के नेतृत्व में अटूट है : हम


ham-unite-with-manjhi
पटना 2 अप्रैल 2019 (मंगलवार) हिन्दुस्तानी अवाम मोर्चा में टूट की ख़बरों का पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष बीएल वैश्यन्त्री ने खंडन किया है। वैश्यन्त्री ने कहा कि पार्टी के कुछ नेता दल से टिकट की आस लगाए बैठे थे । परन्तुं जीतन राम माँझी के द्वारा उन सीटों को माँगे जाने के बावजूद वह सीट गठबंधन में शामिल दुसरे दलों को चला गया | जिस कारण इन नेताओं को टिकट नहीं मिला तो पार्टी में टूट की भ्रम की ख़बरें प्रचारित कर रहे हैं लेकिन ऐसा कुछ नहीं है | पार्टी के समर्पित नेता एवं कार्यकर्ता आज भी मांझी जी के प्रति पूरी आस्था के साथ लोकसभा चुनाव में महागठबंधन उम्मीदवारों को जीत दिलाने के लिए काम कर रहे हैं | वैश्यन्त्री ने कहा कि इससे पहले भी पार्टी के एक पूर्व अध्यक्ष जब दूसरे दल में शामिल हुए तो उन्होंने भी घोषणा की थी कि उनके साथ दल के कई पदाधिकारियों ने हम को छोड़ दिया है | परंतु जब दल के नेताओं के द्वारा उक्त सूची का अवलोकन किया गया तो पाया गया कि वह सूची पूरी तरह से फ़र्ज़ी है | आज भी जब महाचंद्र प्रसाद सिंह और अजीत कुमार जी के द्वारा यह कहा गया है कि दल के 22 ज़िलों के जिलाध्यक्षों ने दल का साथ छोड़ दिया जो कि वास्तविकता से परे हैं।   वैश्यन्त्री ने कहा कि दल के तमाम पदाधिकारी और जिला अध्यक्ष पूरी निष्ठा के साथ जीतन राम माँझी जी के साथ खडे हैं। और महागठबंधन के उम्मीदवारों को जिताने के लिए पूरी मेहनत कर रहे हैं। पार्टी छोड़कर गए एक नेता के द्वारा 1 दिन पहले दल के ज्यादातर अध्यक्षों एवं पदाधिकारियों को अपनेसाथ दिखाया गया वहीं दूसरी दिन दल के 2 नेताओं द्वारा 22 जिला अध्यक्ष सहित पार्टी नेताओं को अपने पक्ष में दिखाई जा रही है | इससे साफ स्पष्ट होता है कि दोनों नेताओं द्वारा अपनी राजनीतिक रोटी सेकने के लिए झूठा प्रचार एवं झूठी सूचित दिखाकर सिर्फ भ्रम फैलाने की कोशिश की जा रही है |

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...