मोदी ने ममता को ‘‘स्टीकर दीदी’’ कहा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 24 अप्रैल 2019

मोदी ने ममता को ‘‘स्टीकर दीदी’’ कहा

mamta-didi-sticker-didi-modi
रानाघाट (पश्चिम बंगाल), 24 अप्रैल, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने बुधवार को तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी पर तंज कसते हुए उन्हें ‘‘स्टीकर दीदी’’ करार दिया और कहा कि केंद्र सरकार की कल्याणकारी योजनाओं पर वह अपनी सरकार का लेबल चस्पा कर देती हैं। मोदी ने यहां एक चुनावी रैली में कहा कि मतदाताओं ने जिन कारणों से पश्चिम बंगाल में वामपंथ को हटाकर उनकी पार्टी का समर्थन किया उसे उन्होंने पूरा नहीं किया। उन्होंने दावा किया कि तृणमूल ने ‘‘गुंडागर्दी, सिंडिकेट और उगाही’’ के माध्यम से राज्य के लोगों की दुर्दशा कर रखी है। उन्होंने कहा, ‘‘स्पीडब्रेकर दीदी स्टीकर दीदी भी हैं। वह लोगों के लिए मुफ्त बिजली या राशन जैसी केंद्र सरकार की योजनाओं पर स्टीकर लगाकर दावा करती हैं कि ये लाभ राज्य सरकार द्वारा दिए जा रहे हैं।’’  मोदी ने पहले इससे पहले राज्य में केंद्रीय योजनाओं को लागू करने में बाधा डालने के लिए बनर्जी को ‘‘स्पीडब्रेकर दीदी’’ बताया था। मोदी ने कहा कि बनर्जी ने बंगाल के लोगों से धोखा किया है ‘‘जिन्होंने उन पर इतना भरोसा किया और उनका सम्मान किया’’ और जिन कारणों से मतदाताओं ने वामपंथ को सत्ता से बाहर किया उन्हें अभी तक पूरा नहीं किया गया है। पश्चिम बंगाल में भाजपा को धमकी देने का प्रयास करने का बनर्जी और उनकी पार्टी पर आरोप लगाते हुए मोदी ने कहा कि भाजपा धमकी और हिंसा से डरने वाली नहीं है। उन्होंने कहा, ‘‘अगर ऐसा है तो भाजपा देश में सत्ता में नहीं आती और केवल दो सांसदों के साथ शुरुआत करने के बाद दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी नहीं बनती।’’  उन्होंने दावा किया कि संसद में ममता आंसू बहाती थीं कि अवैध प्रवासियों को देश से बाहर भगाया जाए और अब वह उनकी सबसे बड़ी संरक्षक बन गई हैं। उन्होंने कहा कि नागरिकता (संशोधन) विधेयक संसद में लाया जाएगा और सभी अवैध प्रवासियों को देश से बाहर निकाला जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...