पूर्णिया : खुश्कीबाग में जलमीनार का जल गया मोटर, पानी की सप्लाई हुई ठप - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 24 अप्रैल 2019

पूर्णिया : खुश्कीबाग में जलमीनार का जल गया मोटर, पानी की सप्लाई हुई ठप

  • - विद्युत विभाग की लापरवाही से जल गया पांच लाख का वाटर पंप

purniaa-power-water-fail
पूर्णिया : खुश्कीबाग स्टेशन रोड में इन दिनों भीषण गर्मी में भी पानी नसीब नहीं है। लोग बूंद बूंद पानी के लिए तरस रहे हैं और क्षेत्र में हाहाकार की स्थिति उत्पन्न हो गई है। दरअसल स्टेशन रोड में पीएचईडी के द्वारा संचालित जलमीनार करीब एक सप्ताह से बंद है। लोगों के घर तक पानी की सप्लाई नहीं हो पा रही है और लोग पानी के लिए परेशान हैं। पानी की सप्लाई नहीं होने से उपभोक्ताओं का गुस्सा फूट गया और जलमीनार में जाकर जम कर हंगामा किया। पूर्व वार्ड पार्षद राज कुमार यादव ने बताया कि जलमीनार से करीब तीन सौ घरों में पानी की सप्लाई होती है। लेकिन अचानक एक सप्ताह से पानी की सप्लाई बंद है। जिस कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। राजकुमार और स्थानीय लोगों ने पीएचईडी और बिजली विभाग के ऊपर लापरवाही का आरोप लगाया है। वहीं पीएचईडी मैकेनिकल विभाग के कर्मी मौके पर पहुंच कर लोगों को शांत किया और मरम्मत का काम शुरू कर दिया। कर्मियों ने बताया कि यह मोटर और पंप पटना में ही बनेगा और बोरिंग का शॉकेट भी खराब है। दूसरा बोरिंग करने के बाद ही पानी की सप्लाई हो सकती है। कर्मियों ने बताया कि इसके लिए एक सप्ताह का वक्त लग जाएगा। 

...शॉर्ट सर्किट के कारण जल गए पांच लाख के वाटर पंप :
जलमीनार में लगे मोटर और पंप शॉर्ट सर्किट के कारण जल गए। वहीं जमीन के नीचे जल स्तर पर रिसाव भी कम होने से बोरिंग खराब है। बताया जा रहा है कि मोटर व पंप की कीमत करीब पांच लाख रूपए है। वहीं शॉर्ट सर्किट होने के कारण ट्रांसफॉर्मर से पंप घर तक गए बिजली के नंगे तार पर पेड़ की टहनी टूट कर गिर गई। जिस कारण बिजली सप्लाई बाधित है। बिजली का तार लीची पेड़ के बीच से गुजरा है जिस कारण आए दिन शॉर्ट सर्किट की समस्या होती रहती है। जब लोगों ने खुश्कीबाग के बिजली विभाग के अधिकारी को तार बदलने की सूचना दी तो अधिकारी ने तार बदलने से साफ इंकार कर दिया। लोगों ने बताया कि बिजली विभाग की लापरवाही के कारण अक्सर समस्या उत्पन्न होती है। लोगों ने बिजली विभाग पर आरोप लगाते हुए कहा कि बगल में कई मोबाइल के टाॅवर हँ जो निजी स्तर पर संचालित हैं। लेकिन बिजली विभाग द्वारा सरकारी संसाधन से तार टॉवर तक पहुंचाया है। जब खुश्कीबाग के सहायक विद्युत अभियंता को फोन किया गया तो संपर्क नहीं हो पाया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...