जेट एयरवेज मामले में स्वामी ने जेटली, सिन्हा पर लगाया साजिश का आरोप - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 26 अप्रैल 2019

जेट एयरवेज मामले में स्वामी ने जेटली, सिन्हा पर लगाया साजिश का आरोप

swamy-charged-conspiracy-on-jaitley-sinha-in-jet-airways-case
नयी दिल्ली, 25 अप्रैल, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सांसद सुब्रमण्यम् स्वामी ने वित्त मंत्री अरुण जेटली और नागरिक उड्डयन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा पर जेट एयरवेज को स्पाइसजेट के हाथों कौड़ियों के दाम बेचने की साजिश का आरोप लगाया है। श्री स्वामी ने गुरुवार को एक ट्वीट में लिखा, “मैं नमो (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी) से अपील करता हूँ कि वे श्री जेटली और श्री जयंत सिन्हा को जेट एयरवेज को स्पाइसजेट के हाथों बेचने के प्रयासों से बाज आने की हिदायत दें। इस मामले में पक्षपात और सरकारी पद के दुरुपयोग की बू आ रही है जिससे भाजपा की प्रतिष्ठा को नुकसान होगा।” इससे पहले बुधवार रात श्री स्वामी ने नागरिक उड्डयन मंत्री सुरेश प्रभु को इस संदर्भ में एक पत्र लिखा था। उसमें उन्होंने श्री जेटली या श्री सिन्हा का नाम लिये बिना लिखा “स्पाइसजेट और विस्तारा जैसी निजी विमान सेवा कंपनियों द्वारा जेट एयरवेज की उड़ानें बंद होने का फायदा उठाने का प्रयास किया जा रहा है। इसमें उन्हें मंत्रिमंडल में आपके कुछ साथियों और अधिकारियों का भी समर्थन मिल रहा है जिनके नाम मैं आपको व्यक्तिगत मुलाकात में बता सकता हूँ।” इस पत्र में उन्होंने जेट एयरवेज का सरकारी विमान सेवा कंपनी एयर इंडिया में विलय करने की सलाह दी है। उन्होंने श्री प्रभु से आग्रह किया है कि वे इसके लिए मंत्रिमंडल में अनुशंसा करें। उल्लेखनीय है कि वित्तीय संकट से जूझ रही निजी विमान सेवा कंपनी जेट एयरवेज ने गत 17 मार्च की रात से अपनी सभी उड़ानें बंद करने की घोषणा की थी। उसके स्लॉट अस्थायी रूप से दूसरी एयरलाइंस को दिये जा रहे हैं। वेतन नहीं मिलने के कारण उसके कई पायलट, अभियंता और अन्य कर्मचारी दूसरी विमान सेवा कंपनियों में जा रहे हैं। जेट एयरवेज की बाजार हिस्सेदारी पर कब्जा करने की इस होड़ में किफायती विमान सेवा कंपनी स्पाइसजेट सबसे आगे है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...