बिहार : संयम से काम निकालने का आग्रह - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 5 मई 2019

बिहार : संयम से काम निकालने का आग्रह

  • दो नौजवानों ने उक्त शांतिपूर्ण माहौल को शीशायुक्त मां मरियम के ग्रोटों में सीमेंटयुक्त पत्थर मारकर माहौल को बिगाड़ा

चुहड़ी पल्ली के शानदार 250 साल का इतिहास है। यहां पर पहली बार ईसाइयों के ग्रोटों पर हुआ है आक्रमण। वक्त की मांग है कि पूर्व की तरह ही शांति बनाए रखे। यह कयास लगाया जा रहा है कि चुनावी फायदा लेने के लिए हरकत की गयी है। यह तो कयास मात्र है। वास्तव में वह तो विस्तृत जांच के बाद ही पता चल पाएंगा। अभी तक असामाजिक तत्व की कार्रवाई ही समझा जा सकता है इसकी निंदा की जानी चाहिए। उनके मनफिराव के लिए प्रार्थना करें। प्रतिशोध करने की गुंजाइश नहीं। अब उन पर कानूनी कार्रवाई  होगी। उस पर ही भरोसा रखना चाहिए।
attcack-on-church-betiya
बेतिया (आर्यावर्त संवाददाता)। प0 चंपारण जिला में है चुहड़ी पल्ली। 250 साल आॅल्ड है चुहड़ी पल्ली। इस पल्ली का खुद का शानदार इतिहास रहा है। कई बिशप, फादर और सिस्टर दिए हैं। यहां से देश के कौने-कौने में लोग बिखड़े पड़े हैं। दूर रहकर भी पैतृक स्थल चुहड़ी पल्ली को याद करते रहते हैं। इनलोगों के प्रयास से ही ईसाई और गैर ईसाई लोग मिलकर रहते हैं। इस मिलन का इजहार क्रिसमस, गणतंत्र दिवस होली, ईस्टर, ईद, स्वतंत्र दिवस आदि को देखने में बनता है। इस तरह के त्योहारी समा रहने से ही सदैव शांति कामय रहा है। अबतक किसी ने हिम्मत नहीं किया था कि इस तरह के अटूट शांतिपूर्ण माहौल को बिगाड़ सके। मगर 25 से 30 वर्ष के दो नौजवानों ने उक्त शांतिपूर्ण माहौल को शीशायुक्त मां मरियम के ग्रोटों में सीमेंटयुक्त पत्थर मारकर माहौल को बिगाड़ दिया है।   चुहड़ी पल्ली के पल्ली पुरोहित फादर तोबियास ने मोबाइल से जानकारी दिया कि कुछ लोग फादर के साथ बातचीत कर रहे थे। इस बीच दो नौजवान को देखा गया। जो पल्ली के मुख्य गेट से प्रवेश किए थे। उनकी उम्र करीब 25 से 30 साल का होगा। एक नौजवान लाल शर्ट पहने हुआ था। दोनों ने मिलकर करीब पौने छह बजे शाम में शांतिपूर्ण माहौल को शीशायुक्त मां मरियम के ग्रोटों में सीमेंटयुक्त पत्थर मारकर शीशा और दिल तोड़ दिया। एक पत्थर ने 250 साल के दोस्ती को तार-तार करके सिस्टर लोगों के गेट से टहलते निकल गए। उस वक्त एक बुजुर्ग रोककर पकड़ने का प्रयास किया परन्तु वह सफल नहीं हो सका। इसकी जानकारी चनपटिया थाना में दी गयी। चनपटिया थाने के पुलिस आकर मौके पर मुआयना कर रहे हैं। डीएसपी साहब भी पहुंचे हैं। कल सुबह लिखित आवेदन चनपटिया थाना में दिया जाएगा। इस बीच बीजेपी के अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश मंत्री राजन क्लेमेंट साह ने आर्यावर्त लाइव को पटना में बताया कि भारतीय ईसाई अभी श्रीलंका के कोलंबो में स्थित विभिन्न चर्चों में आतंकवादी हमले के सदमे से उभर नहीं पाएं थे कि चुहड़ी पल्ली के मां मरियम के शीशायुक्त ग्रोटों में सीमेंटयुक्त पत्थर मारकर ईसाई समुदाय को बेहाल कर दिए। पश्चिम चम्पारण में 12 मई को चुनाव है। इस कायरतापूर्ण कार्रवाई करने से ईसाई समुदाय सकते में है। उन्होंने कहा कि प्रभु येसु ख्रीस्त की मां है मरियम। जो ईसाई समुदाय की भी मां हैं। इसके आलोक में कलीसिया माता ने मां मरियम को ‘मई‘ माह समर्पित कर दी है। हालांकि सालों भर मां मरियम के ग्रोटों के समक्ष भक्तगण प्रार्थना करते हैं। मगर ‘मई‘ माह विशेष तौर पर प्रार्थना करते हैं। प्रार्थना सुबह और शाम की जाती है। फादर बट्टी पौल ने कहा कि असामाजिक तत्वों द्वारा सीमेंटयुक्त पत्थर मारने से शीशायुक्त ग्रोटों का नुकसान हुआ है। वहीं मां मरियम की गोदी में बालक येसु की तीन अंगुली टूट गयी है। जो ईसाई समुदाय के लिए असहनीय बात है। बीजेपी के अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रदेश मंत्री राजन क्लेमेंट साह ने पश्चिम चम्पारण के डीएम से आग्रह किया है कि असामाजिक तत्र्वों को जल्द से जल्द गिरफ्रफतार करें। ईसाई समुदाय का पीड़ा कम करने का प्रयास हो।  पटना महाधर्मप्रांत के महाधर्माध्यक्ष विलियम डिसूजा, महाधर्माध्यक्ष के कोऐजेटर सेवास्टियन कल्लूपुरा, बेतिया धर्मप्रांत के विशप पीटर गोवियस, चखनी पल्ली के फादर बट्टी, चनपटिया पल्ली के पुरोहित फादर विंसेंट, चुहड़ी पल्ली के फादर पकिया राज, फादर फिनटन, बेतिया पल्ली के पुरोहित फादर अमित, रामनगर के पल्ली पुरोहित  आदि ने जमकर आलोचना की है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...