मधुबनी : बद्री पूर्वे हैं महागठबंधन के उम्‍मीदवार, रहें सावधान : प्रेमचंद मिश्रा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 4 मई 2019

मधुबनी : बद्री पूर्वे हैं महागठबंधन के उम्‍मीदवार, रहें सावधान : प्रेमचंद मिश्रा


देश और संविधान की रक्षा के लिए है यह चुनाव  : जीतन राम मांझीमहागठबंधन की जीत के बाद बदलेगी मधुबनी की तस्‍वीर : मुकेश सहनी
badri-purve-congress-candidate-prem-chandra-mishra
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) । लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में होने वाले मतदान के लिए चुनाव प्रचार के अंतिम दिन आज महागठबंधन के नेताओं ने मधुबनी संसदीय क्षेत्र के केवटी प्रखंड के खिरमा पथरा मैदान, जाले प्रखंड के काजी अहमद इंटर कॉलेज मैदान, बेनीपट्टी प्रखंड के हाई स्कूल मैदान अरेर और बिस्फी प्रखंड के हाई स्कूल मैदान शिबेले में तूफानी जनसभाएं की। इस दौरान पूर्व मुख्‍यमंत्री सह हम प्रमुख जीतन राम मांझी, विकासशील इंसान पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष मुकेश सहनी और एमएलसी प्रेमचंद मिश्रा ने महागठबंधन के उम्‍मीदवार बद्री कुमार पूर्वे को चुनाव चिन्‍ह आदमी व पाल युक्‍त नाव पर बटन दबा कर भारी मतों से विजयी बनाने की अपील की।

election-to-save-democracy-jitan-ram
जीतन राम मांझी ने कहा कि लोकसभा चुनाव 2019 के अब तक हुए चार चरणों में जनता ने महागठबंधन आगे है। अब बारी मधुबनी की है। यह चुनाव देश और संविधान की रक्षा के लिए है। यह सही मौका है संविधान में दिये गरीबों और पिछड़ों के अधिकार के साथ खेलने वालों को सबक सिखाने का। इसलिए वोट के जरिये दलित विरोधी एनडीए सरकार पर चोट करिये और महागठंबधन के उम्‍मीदवार बद्री कुमार पूर्वे को भारी मतों से विजयी बनाईये। उन्‍होंने कहा कि एनडीए के लोगों ने सेना को अपनी जागीर समझ रखा है। उनके पास कोई मुद्दे नहीं हैं। यही वजह है कि आज कल जनसभाओं में पीएम मोदी समेत एनडीए के सभी नेताओं का चेहरा उतरा रहता है। उन्‍हें पता है कि मोदी सरकार ने पांच साल में अपने किए एक भी वादे पूर नहीं किये। इसलिए वे अब सेना, राष्‍ट्रवाद और धार्मिक बयानबाजी का सहरा लेकर लोगों में भ्रम पैदा कर हैं। लेकिन देश के लोगों के लिए उनके इस चाल से सावधान होकर महागठबंधन को चुनाव में जीतना समय की मांग बन गई है।

विधान पार्षद सह कांग्रेस नेता प्रेमचंद मिश्रा ने बद्री कुमार पूर्वे को कांग्रेस का उम्‍मीदवार बताते हुए जनता से उन्‍हें वोट करने की अपील की। उन्‍होंने कहा कि कुछ लोग कांग्रेस के नाम पर आपको गुमराह करेंगे, लेकिन कांग्रेस और महागठबंधन के उम्‍मीदवार बद्री कुमार पूर्वे हैं। इसलिए आप पूर्वे को ही वोट कर संसद में भेजने का काम करिये। उन्‍हें कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने अपना समर्थन और जीतने का आशीर्वाद दिया है। प्रेमचंद मिश्रा ने मोदी सरकार पर भी हमला बोला और कहा कि सूट बूट की सरकार ने देश को कर्जदार बना दिया है। 70 सालों में देश पर 53 लाख करोड़ का कर्ज था, जबकि मोदी सरकार के मात्र 5 साल में 30 लाख करोड़ का कर्ज लिया गया। आखिर ये कर्ज किसके लिए लिया गया? इसका जवाब एनडीए को जनता के बीच जाकर देना चाहिए। एनडीए की सरकार ने महज पांच सालों में देश की अर्थव्यवस्था का भी बंटाधार कर दिया है। इसलिए देश को अब नरेंद्र मोदी और अमित शाह पर भरोसा नहीं है।

वहीं, विकासशील इंसान पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष मुकेश सहनी ने कहा कि जिन लोगों को मधुबनी की जनता ने अपना प्रतिनिधि बनाया, उन्‍होंने मधुबनी को अपने हाल पर ही छोड़ने का काम किया है। इस वजह से जल जमाव यहां की प्रमुख समस्‍या बन गई है। यहां न अस्‍पातल है, न ढंग का कोई स्‍कूल है और न युवाओं के रोजगार के लिए कोई साधन। ऐसे में राहुल गांधी जी के नेतृत्‍व में महागठबंधन न्‍याय योजना लागू कर सबों का विकास करने काम काम करेगी। इसलिए अगर महागठबंधन की सरकार बनती है, तब मधुबनी की तस्‍वीर बदल जायेगी। मधुबनी में केंद्रीय विद्यालय की स्‍थापना, अत्‍याधुनिक बस अड्डे का निर्माण और इंजीनियरिंग कॉलेज का निर्माण, एक केंद्रीयकृत जल - निकासी योजना के द्वारा शहर के सभी नालों का जोड़ने का काम होगा। यहां कौशल आधारित शिक्षा के लिए स्किल इंस्‍टीच्‍यूट, बिस्‍फी में विद्यापति की जन्‍मस्‍थली का सौंदर्यीकरण व टूरिस्‍ट हब का विकास, मिथिला विकास परिषद की स्‍थापना, प्राथमिक शिक्षा में मैथिली को शामिल करना, मत्‍स्‍य, मखान और पान अनुसंधान केंद्र की स्‍थापना, कोल्‍ड स्‍टोरेज की स्‍थापना, वैश्‍य आयोग का गठन, मदर डेयरी की स्‍थापना और यहां से पलायन रोकने के लिए नये उद्योग - धंधे की स्‍थापना करना भी हमारा लक्ष्‍य है। इसलिए मधुबनी की जनता अब भक्‍तों को नहीं, सेवक को वोट करेगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...