दिल्ली में 60 प्रतिशत मतदान, 2014 चुनाव से कम - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 12 मई 2019

दिल्ली में 60 प्रतिशत मतदान, 2014 चुनाव से कम

delhi-vote-percent-less-then-last-election
नयी दिल्ली, 12 मई, दिल्ली में रविवार को 60 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया जो कि 2014 के 65 प्रतिशत से कम है। दिल्ली में भाजपा, आप और कांग्रेस के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है। मतदान के दौरान दिल्ली के विभिन्न क्षेत्रों से ईवीएम में खराबी और मतदाताओं के नाम नहीं होने की घटनाएं सामने आयीं। दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी रणबीर सिंह ने कहा कि उनके कार्यालय ने मतदाताओं को मतदान केंद्रों तक लाने के लिए जितना जागरुकता अभियान चलाया था उसे देखते हुए मतदान प्रतिशत उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा। लोकसभा चुनाव के छठे चरण में दिल्ली की सात लोकसभा सीटों के लिए मतदान हुआ। इनमें से चांदनी चौक और उत्तर पूर्व दिल्ली में 62 प्रतिशत से अधिक मतदान जबकि नयी दिल्ली में 56.5 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। पूर्वी दिल्ली में 61.5 प्रतिशत, उत्तर पश्चिम दिल्ली में 59 प्रतिशत, दक्षिण दिल्ली में 58 प्रतिशत और पश्चिम दिल्ली में 60 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया। मतदान शाम छह बजे तक 60 प्रतिशत दर्ज किया गया और यह आंकड़ा थोड़ा ऊपर जा सकता है क्योंकि कई स्थानों पर मतदान समयसीमा से भी आगे चला। सिंह ने कहा, ‘‘शाम छह बजे तक मतदान केंद्रों के बाहर कतारें थीं। दिन के अंत तक मतदान 61 प्रतिशत पार करने की उम्मीद है।’’  दिल्ली में 1.43 करोड़ मतदाता हैं। 164 उम्मीदवारों चुनाव मैदान में हैं जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित, केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन, दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी, पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर और आप की आतिशी शामिल हैं। भाजपा, कांग्रेस और आप ने सभी सात सीटें जीतने का भरोसा जताया है। दिल्ली में मतदान की शुरुआत सुबह धीमी रही लेकिन दिन चढ़ने के साथ ही इसमें तेजी आयी। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू सहित कई गणमान्य हस्तियों ने अपने मताधिकारों का इस्तेमाल किया। नायडू ने अपना वोट वियतनाम की चार दिवसीय यात्रा से लौटने के बाद डाला। रमजान के रोजे और गर्मी के बावजूद बड़ी संख्या में मुस्लिम वोट डालने के लिए पहुंचे। मटिया महल, मालवीय नगर, तिलक नगर, चांदनी चौक और कुछ अन्य स्थानों पर ईवीएम में खराबी की शिकायतें आयीं। दिन में आठ प्रतिशत ईवीएम बदली गईं। सुबह में अभ्यास मतदान के दौरान 778 वीवीपैट, 141 कंट्रोल यूनिट और 228 बैलट यूनिट बदली गईं। मतदान के दौरान 450 वीवीपैट, 61 कंट्रोल यूनिट 77 बैलट यूनिट बदली गईं। शांतिपूर्ण मतदान के लिए होमगार्ड और अर्द्धसैनिक बलों सहित 60 हजार सुरक्षाकर्मियों की तैनाती की गई थी। यद्यपि भाजपा ने आरोप लगाया कि आप के कोंडली विधायक मनोज कुमार ने उसकी पार्टी के कार्यकर्ता को थप्पड़ मारा। आप के दक्षिण दिल्ली उम्मीदवार राघव चड्ढा ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर संगम विहार के एक मतदान केंद्र पर वोट में गड़बड़ी करने का आरोप लगाया। वहीं चुनाव आयोग ने आरोप को खारिज किया है। दिल्ली पुलिस नियंत्रण कक्ष को चुनाव संबंधी 300 से अधिक शिकायतें मिलीं। इससे पहले दिन में राहुल गांधी ने अपना वोट डालने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा और कहा कि उन्होंने चुनाव के दौरान ‘‘नफरत का इस्तेमाल” किया लेकिन कांग्रेस ने “मोहब्बत अपनाई।”  मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करके लोगों से अपील की कि वे उन्हें वोट करें जिन्होंने काम किया है, उन्हें नहीं जिन्होंने ‘‘नफरत’’ फैलायी।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...