मधुबनी : मनरेगा से जल संचयण के तहत चयनित योजनाओं के क्रियान्व्यन हेतु बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 19 मई 2019

मधुबनी : मनरेगा से जल संचयण के तहत चयनित योजनाओं के क्रियान्व्यन हेतु बैठक


---जिले में जलस्तर में हो रहे गिरावट के कारण उत्पन्न पेयजल संकट की समस्या को लेकर विचार-विमर्श
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) : श्री शीर्षत कपिल अशोक, जिला पदाधिकारी, मधुबनी की अध्यक्षता में रविवार को स्थानीय डी0आर0डी0ए0 सभागार, मधुबनी में जिले में लगातार जलस्तर में हो रहे गिरावट के कारण उत्पन्न पेयजल संकट की समस्या पर विचार-विमर्श एवं मनरेगा के तहत जल संचयण के तहत चयनित योजनाओं के क्रियान्व्यन हेतु बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में अपर समाहत्र्ता, मधुबनी, श्री दुर्गानंद झा, उप विकास आयुक्त, मधुबनी, श्री अजय कुमार सिंह, प्रभारी, जिला पंचायती राज पदाधिकारी, मधुबनी, श्री अवधेश कुमार आनंद, श्री सुनील कुमार, विशेष कार्य पदाधिकारी, मधुबनी, श्री बुद्धप्रकाश, डी0सी0एल0आर0, सदर मधुबनी समेत सभी प्रखंडों के मनरेगा के कार्यक्रम पदाधिकारीगण उपस्थित थे। बैठक में जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा प्रखंडवार मनरेगा के तहत जल संचय योजना द्वारा चयनित योजनाओं की समीक्षा की गयी। समीक्षा के क्रम में सभी कार्यक्रम पदाधिकारी के द्वारा अपने-अपने प्रखंड में संचालित/चयनित योजनाओं के बारे में जानकारी दी गयी। जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा सभी कार्यक्रम पदाधिकारी को प्रत्येक पंचायत में दो-दो बड़े सार्वजनिक तालाबों की उड़ाही कराने, कैनाल की उड़ाही, पईन/नहर की उड़ाही हेतु चयनित कर दिनांक 23.05.2019 के पष्चात शीघ्र कार्य प्रारंभ कराने का निदेश दिया। एवं संबंधित योजना को 8-10 दिनों में पूर्ण करने का भी निदेश दिया गया।  उन्होंने सभी कार्यक्रम पदाधिकारी,मनरेगा को सभी चयनित तालाबों/योजनाओं की प्रखंडवार सूची दो दिनों के अंदर उपलब्ध कराने का निदेश दिया। साथ ही अधवारा समूह की वैसी नदी जो मृतप्रायः अवस्था में हो गयी है,उसके भी उड़ाही से संबंधित कार्य योजना तैयार कर कार्य प्रारंभ करने का निदेश दिया। कार्यक्रम पदाधिकारी, बिस्फी के द्वारा सिमरी पंचायत में में सार्वजनिक तालाब की उड़ाही हेतु विशेष रूप से जिला पदाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराया गया। जिला पदाधिकारी, मधुबनी द्वारा उक्त तालाब के उड़ाही कार्य को प्राथमिकता के आधार पर लेते हुए उड़ाही कार्य को शीघ्र पूर्ण कराने का निदेश दिया गया। तत्पश्चात जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा नगर परिषद क्षेत्र में व्याप्त जलसंकट की स्थिति पर किये जा रहे कार्यो की समीक्षा की गयी। समीक्षा के क्रम में कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद, मधुबनी के द्वारा बताया गया नगर परिषद क्षेत्र में 40 खराब पड़े चापाकलों के मरम्मति का कार्य कराया गया है। शेष खराब पड़ें चापाकल को पी0एच0ई0डी0 विभाग से समन्वय स्थापित कर शीघ्र सूची तैयार कर मरम्मति का कार्य किया जायेगा।  जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद, मधुबनी एवं कार्यपालक पदाधिकारी, पी0एच0ई0डी0,मधुबनी को नगर परिषद क्षेत्र में खराब पड़ें चापाकलों को तीन दिनों के अंदर मरम्मति कराने का निदेश दिया गया। साथ ही वैसे चापाकल जा मरम्मति के लायक नहीं है,वहां दूसरा नया चापाकल के अधिष्ठापन का निदेश दिया गया। उन्होंने पेयजल समस्या को दूर करने हेतु लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग, मधुबनी द्वारा संचालित जिला नियंत्रण कक्ष को पूरी मुस्तैदी के साथ कार्य करने का निदेश दिया। लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग, मधुबनी के जिला नियंत्रण कक्ष का दूरभाष संख्या-06276-222008 है। इस पर सभी आम लोग सरकारी चापाकल के मरम्मति हेतु सूचित कर सकते है।  जिला पदाधिकारी, मधुबनी के द्वारा कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद, मधुबनी को बरसात से पूर्व सभी बड़े कैनालों की उड़ाही एवं सभी नालों की नियमित सफाई का निदेश दिया। ताकि बरसात में शहर में जल-जमाव की समस्या का सामना नहीं करना पड़ें। उन्होंने नगर परिषद क्षेत्र के विभिन्न वाडों में नल-जल योजना के तहत कार्यस्थल के आस-पास अस्थायी डायरेक्ट स्टैंप पोस्ट में नल लगाकर जलापूर्ति करने का निदेश दिया गया। ताकि लोगो को शीघ्र पेयजल की सुविधा उपलब्ध करायी जा सकें।साथ ही कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद, मधुबनी एवं कार्यपालक अभियंता, पी0एच0ई0डी0,मधुबनी को पांच-पांच वाटर टैंकर की व्यवस्था कर प्रत्येक वार्ड में प्राथमिकता के आधार जलापूर्ति की व्यवस्था तत्काल उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...