झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 31 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 31 मई 2019

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 31 मई

मुख्य डाक घर के पोस्टमैन की लापरवाही से नर्सीगं ट्रेनिंग के प्रमाण पत्र गायब

झाबुआ । झाबुआ मुख्यालय स्थित डाकघर मैं कार्यरत कर्मचारियों अधिकारियों की एक बड़ी लापरवाही सामने आई है बताया जाता है कि श्रीमती पिं्रसला सोलंकी एवं श्रीमती इंदू बाला चैहान के महाकौशल नर्सेज रजिस्ट्रेशन काउंसिल भोपाल से इन दोनों नर्सेज के प्रमाण पत्र डाकघर के माध्यम से उन्होंने प्रेषित किए थे बताया जाता है कि पोस्टमैन की लापरवाही के चलते इन दोनों नर्सेज को अपने ट्रेनिंग के प्रमाण पत्र प्राप्त नहीं हुएउधर पोस्टमैन का कहना है कि हमारे पास प्रमाण पत्र आए थे और हमने संवेदी तो को प्रेषित का रास्ता प्राप्त कर ली है पोस्टमैन की सत्यता जानने के लिए जहां हमारे प्रतिनिधि ने संबंधित दोनों नर्सेज से संपर्क कर जानकारी ली तो चैंकाने वाला तथ्य सामने आया बताया जाता है कि दोनों नर्सेज को पोस्टमैन द्वारा प्रमाण पत्र प्रेषित नहीं किए गए बल्कि किसी अन्य व्यक्ति को प्रेषित कर उनके फर्जी हस्ताक्षर करवा लिए हैं इस बात से रुष्ट होकर दोनों नर्सेज ने मुख्य डाकघर वे शिकायत कर एहसास है का पत्र दिया उसके बाद भी डाकघर के मुख्य अधिकारी द्वारा कोई एक्शन नहीं लेना इनकी गौर लापरवाही की ओर इंगित करता है हताश और निराश दोनों नर्सेज द्वारा अंतत उक्त प्रकरण की एक लिखित शिकायत झाबुआ थाने में जाकर किए औरत पोस्टमैन की जांच की मांग करते हुए उसके विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है बताया जाता है कि दोनों नर्सेज द्वारा भोपाल से स्पीड पोस्ट से उनके आय प्रमाण पत्र उन्हें नहीं मिलने के शिकायत लिखित में पोस्टमैन को भी की तो वह बदल गया कि मैंने डाक प्रेषित कर 14 प्राप्त कर ली है दिनांक दिनांक गल्र्स 12 अट्ठारह को पर शिकायत की गई जिसका निराकरण समाचार लिखे जाने तक नहीं किया गया वही उक्त आशय का और पोस्टमैन के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की आशय से दोनों नर्सेज द्वारा थाने में शिकायत कर उचित कार्रवाई की मांग किए ताकि उन्हें उनका भोपाल से तैयारी नर्सेज ट्रेनिंग का प्रमाण पत्र मिल सके उक्त जानकारी दोनों पीड़िता श्रीमती सोलंकी एम चैहान द्वारा हमारे प्रतिनिधियों को लिखित में दिए गए।

31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस मनाया जाएगा
       
झाबुआ । प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस का आयोजन किया जाएगा। इसका उद्देष्य युवाओं, छात्र-छात्राओं एवं जनसामान्य में तंबाकू सेवन, धूम्रपान सेवन की बढ़ती प्रवृत्ति को रोकने के लिए तंबाकू, बीड़ी, सिगरेट के दुष्परिणामों से अवगत कराना है, ताकि युवा एवं जनसामान्य में कैंसर, टीवी, हृदयघात जैसी बीमारियों से बचाया जा सके।

दस्तक अभियान हेतु एक दिवसीय जिला स्तरीय कार्यषाला संपन्न

jhabua news
झाबुआ । दस्तक अभियान हेतु एक दिवसीय कार्यषाला का आयोजन आज कलेक्ट्रेट सभागृह झाबुआ में आयोजित की गई। बैठक में दस्तक अभियान का प्रथम चरण का आयोजन 10 जून से 20 जुलाई तक किया जायेगा। इस संबंध में जानकारी दी गई। बैठक में सिविल सर्जन डाॅ. प्रभाकर, जिला टीकाकरण अधिकारी डाॅ राहूल गणावा सहित षासकीय सेवक उपस्थित थे ।

खनिज अधिकारी देविका परमार को खनिज साधन विभाग मंत्री श्री प्रदीप जयसवाल, एवं प्रमुख सचिव श्री नीरज मण्डलाई ने राजस्व प्रषंसा पत्र प्रदान किया

jhabua news
झाबुआ । मध्यप्रदेष षासन खनिज साधन विभाग मंत्री प्रदीप जयसवाल, एवं प्रमुख सचिव श्री नीरज मण्डलाई ने श्रीमती देविका परमार सहायक खनिज अधिकारी जिला झाबुआ ने राज्य षासन द्वारा वित्तीय वर्ष 2018-19 में जिले के लिये निर्धारित खनिज राजस्व लक्ष्य रूपये 6.26 करोड के विरूद्ध रूपये 9.11 करोड का राजस्व प्राप्त किया, जो कि निर्धारित लक्ष्य का 146 प्रतिषत है। वर्ष 2018-2019 में राजस्व संग्रहण में किये गये कार्य के लिये खनिज साधन विभाग मंत्री श्री प्रदीप जयसवाल, एवं प्रमुख सचिव श्री नीरज मण्डलाई ने प्रषंसनीय पत्र प्रदान किया है।

जिले में सोयाबीन कृषको के लिये उपयोगी सलाह जिले के किसान भाईयों के लिये सोयाबीन फसल कें लिये उपयोगी सलाह

झाबुआ । उत्पादन में स्थिरता की दृष्टि सें 2 से 3 वर्ष में खेत की गहरी जुताई करना लाभप्रद होता है। जिन किसान भाईयों ने खेत की गहरी जुताई नही की हो अवष्य करें। उसके बाद बख्खर /कल्टीवेेटर एवं पाटा चलाकर खेत को तैयार करे। खेत अंतिम बखरनी से पुर्व अनुषंसित गोबर की खाद 10 टन/हे. या मुर्गी की खाद 2.5 टन/हे. की दर से डालकर खेत में फैला दें। अपने क्षैत्र के लिये अनुषंसित सोयाबीन किस्मों में से उपयुक्त किस्म का चयन कर बीज की उपलब्धता सुनिष्चित करें। उपलब्ध सोयाबीन बीज का अंकुरण परीक्षण न्युनतम 70 प्रतिषत सुनिष्चित करें। बौवनी के समय आवष्यक आदान जैसे उर्वरक, खरपतवारनाषक, फफुंदनाषक, जैविक कल्चर आदि का क्रय कर उपलब्धता सुनिष्चित करें। किसान भाई कृषि आदान सामग्री का कृय पंजीक्रत/अधिक्रत विक्रेताओं से खरीदे एवं पक्का बील अवष्य प्राप्त करे। पीला मोजाईक बीमारी की रोकथाम हेतु अनुषंसित कीटनाषक थायोमिथाक्सम 30 एफ.एस. 10 एम एल /कि.ग्रा.बीज या इमिडाक्लोप्रिड 48 एफ.एस. 1.2 मि.ली./कि.ग्रा.बीज से बीज उपचार करने हेतु क्रय/उपलब्धता सुनिष्चित करें। सामग्री वर्षा के आगमन पष्चात, सोयाबीन की बौवनी हेतु मध्य जून से जुलाई के प्रथम सप्ताह का उपयुक्त समय है।

‘‘ मुख्यमंत्री प्याज कृषक प्रोत्साहन योेजना‘‘ के लिये पंजीयन 31 मई तक

 झाबुआ । राज्य षासन द्वारा मध्यप्रदेष के किसानों को प्याज का उचित मूल्य दिलाने हेतु उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग द्वारा ’’मुख्यमंत्री प्याज कृषक प्रोत्साहन योजना’’ लागू की गई है।  इस योजना में प्रदेष की प्याज हेतु अधिसूचित मंडियों में प्याज का मोडल विक्रय दर रबी प्याज की फसल हेतु निर्धारित अवधि में रू. 800/-प्रति क्विंटल से कम रहता है तब उक्त स्थिति में अधिसूचित मंडियों में क्रय मूल्य एवं समर्थन मूल्य ( रू. 800/- प्रति क्विंटल) के अंतर की राषि ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीकृत किसानों के द्वारा विक्रय करने वाले किसानों के बैक खातों में सीधे अंतरित की जायेगी। योजनान्तर्गत 31 मई 2019 तक ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीयन कराने वाले कृषकों को योजना का लाभ दिया जावेगा। पंजीकृत किसानांे के प्याज स्कंध ( ैजवबा ) का भौतिक सत्यापन राजस्व एवं उद्यानिकी विभाग द्वारा संयुक्त रूप से किया जावेगा।  पंजीकृत किसानों को 01 जून से 30 जून तक पूरे प्रदेष की अधिसूचित मंडियों में रूपये 800/- प्रति क्विंटल से कम विक्रय मूल्य प्राप्त होने पर योजनान्तर्गत प्रोत्साहन राषि निर्धारित की जायेगी। प्याज का राज्य द्वारा घोषित समर्थन मूल्य वर्ष 2019-20 के लिये 800/- प्रति क्विंटल होगा। कृषकों को ई-उपार्जन पोर्टल पर पंजीयन कराने हेतु निम्न दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। 1. खाता खसरा नकल। 2. बैंक पास बुक की छायाप्रति। 3. आधार कार्ड  4. मोबाईल नंबर 5. समग्र आय.डी.   अतः जिले के किसान भाईयों से अनुरोध है कि निर्धारित दिनांक 31 मई 2019 तक अधिसूचित मंडीयों पेटलावद एवं थांदला में अपना पंजीयन निर्धारित समय सीमा में कराकर योजना का लाभ प्राप्त करे। अधिक जानकारी के लिये कार्यालय सहायक संचालक उद्यानिकी से सम्पर्क कर सकते है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...