2016 से पहले सर्जिकल स्ट्राइक होने का कोई डाटा नहीं : सेना - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 8 मई 2019

2016 से पहले सर्जिकल स्ट्राइक होने का कोई डाटा नहीं : सेना

no-data-on-surgical-strike-before-2016-army
नयी दिल्ली 07 मई, सेना ने मंगलवार को स्पष्ट किया कि उसके पास 29 सितंबर 2016 से पहले सर्जिकल स्ट्राइक होने का कोई डाटा नहीं है। सैन्य संचालन महानिदेशालय (डीजीएमओ) ने सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत इस संबंध में जानकारी मांगे जाने पर कहा “29 सितम्बर 2016 के पहले यदि सर्जिकल स्ट्राइक हुआ है तो उनके बारे में इस विभाग के पास कोई डाटा नहीं है।” डीजीएमओ ने यह भी बताया कि इस सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान भारतीय सेना का कोई भी जवान शहीद नहीं हुआ। जम्मू के आरटीआई कार्यकर्ता रोहित चौधरी द्वारा पूछे गये सवाल के जवाब में डीजीएमओ ने यह जानकारी दी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के पिछली संप्रग सरकार के कार्यकाल में सेना द्वारा छह सर्जिकल स्ट्राइक के पिछले सप्ताह किये गये दावे के परिप्रेक्ष्य में विभाग की यह जानकारी महत्त्वपूर्ण है। उन्होंने कहा था कि उन सर्जिकल स्ट्राइकों के रिकॉर्ड मौजूद हैं। श्री गाँधी के दावे के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संप्रग के सर्जिकल स्ट्राइकों को “वीडियो गेम” कहा था। इस पर कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा था कि वह ऐसा कहकर सेना का अपमान कर रहे हैं। उन्होंने कहा “सेना श्री मोदी की निजी प्रॉपर्टी नहीं है। ये सर्जिकल स्ट्राइक सेना ने किये थे, न कि कांग्रेस पार्टी ने। उन्हें वीडियो गेम बताकर वह सेना का अपमान कर रहे हैं।” इससे पहले वरिष्ठ कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल भी कह चुके थे कि संप्रग सरकार के कार्यकाल में वर्ष 2011 में ‘ऑपरेशन जिंजर’ नाम से सर्जिकल स्ट्राइक हुये थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...