बिहार : विपक्षी दलों ने एकसिरे से नकार दिया सभी 23 मई की ओर टकटकी लगा बैठे - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 21 मई 2019

बिहार : विपक्षी दलों ने एकसिरे से नकार दिया सभी 23 मई की ओर टकटकी लगा बैठे

नागरिक समाज ने मतदाता जागरूकता अभियान ‘नो वोटर लेफ्ट बिहाइंड‘ के बैनर तले जमुई, गया, औरंगाबाद, बांका, नवादा, जहानाबाद, भागलपुर, सारण, वाल्मिकीनगर, सासाराम, पाटलिपुत्र और समस्तीपुर में व्यापक कार्य किया है। इनके प्रभाव को प्रभावहीन करने के लिए प्रधानमंत्री ने मोर्चा संभाल संभाला था।
opposition-refuse-exit-poll-bihar
पटना,20 मई। विभिन्न न्यूज चैनलों के एग्जिट पोल के रूझानों को मानने को तैयार नहीं है लोग। विपक्षी दलों ने एकसिरे से नकार दिया है। सभी 23 मई की ओर टकटकी लगा बैठे हैं। उसी दिन जनादेश 2019 का स्वागत करेंगे। बहरहाल चाय की दुकानों पर चर्चा है कि एनडीए ने 11 अप्रैल से 19 मई तक शानदार ढंग से फिल्डिंग कर परिणाम सामने लाने में सफल हो गया है। वहीं विपक्षी दल के नेताओं एवं कार्यकर्ताओं का कहना है कि 38 दिनों तक काफी परिश्रम किए हैं। उसका लाभ चैनल वालों ने नहीं दिया है। पक्ष और विपक्ष का दलील वृहस्पतिवार को पता चल जाएगा।

बिहार के 10 संसदीय क्षेत्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र दामोदर मोदी ने संबोधित किया:
नागरिक समाज ने मतदाता जागरूकता अभियान ‘नो वोटर लेफ्ट बिहाइंड‘ के बैनर तले जमुई, गया, औरंगाबाद, बांका, नवादा, जहानाबाद, भागलपुर, सारण, वाल्मिकीनगर, सासाराम, पाटलिपुत्र और समस्तीपुर में व्यापक कार्य किया है। इनके प्रभाव को प्रभावहीन करने के लिए प्रधानमंत्री ने मोर्चा संभाल संभाला था। इस बीजेपी के स्टार प्रचारक के रूप में जमुई, गया, भागलपुर, अररिया, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, वाल्मीकिनगर, बक्सर, सासाराम, और पटना संसदीय क्षेत्र में जमकर संबोधित किया। इसका असर सामने दिख रहा है।  अबतक के एग्जिट पोल के रूझान के अनुसार एनडीए को स्पष्ट बहुमत मिलने जा रहा है। इससे साबित हो रहा है कि द्वितीय बार प्रधानमंत्री  नरेन्द्र दामोदर मोदी बनने जा रहे हैं। इनको यानी नरेन्द्र दामोदर मोदी को कोई ताजपोसी होने से रोक नहीं जा सकता है।

 अबतक के प्रधानमंत्रीः
भारत के प्रथम प्रधानमंत्री के रूप में 15 अगस्त,1947 से 27 मई,1964 तक जवाहर लाल नेहरू रहे। गुलजारी लाल नंदा 27 मई, 1964 से 9 जून,1964 तक रहे। लालबहादुर शास्त्री 9 जून,1964 से 11 जनवरी,1966 तक रहे। गुलजारी लाल नंदा 11 जनवरी,1966 से 24 जनवरी,1966 तक रहे। इंन्दिरा गांधी 24 जनवरी,1966 से 24 मार्च,1977 तक रहे। मोरारजी देसाई 24मार्च,1979 तक रहे। चैधरी चरण सिंह 28 जुलाई,1979 से 14 जनवरी,1980 तक रहे। इन्दिरा गांधी 14 जनवरी,1980 से 31 अक्टूबर,1984 तक रहे। राजीव गांधी 31 अक्टूबर,1984 से 2 दिसम्बर,1989 तक रहे। विश्वनाथ प्रताप सिंह 2 दिसम्बर,1989 से 10 नवंबर,1990 तक रहे। चंद्रशेखर 10 नवंबर,1990 से 21 जून,1991 तक रहे। नरसिंह राव 21 जून,1991 से 16 मई,1996 तक रहे। अटल बिहारी वाजपेयी16 मई,1966 से 1 जून,1996 तक रहे। एच डी देवगौड़ा 1जून,1996 से 21 अप्रैल,1997 तक रहे। इंद्रकुमार गुजराल 21 अप्रैल,1997से 19 मार्च,1998 तक रहे। अटल बिहारी वाजपेयी19 मार्च,1998 से 19 अक्टूबर,1999 तक रहे। अटल बिहारी वाजपेयी 19 अक्टूबर,1999 से 22 मई,2004 तक रहे। मनमोहन सिंह 22 मई से 22 मई,2009 तक रहे। मनमोहन सिंह 22 मई, 2009 से 17 मई,2004 तक रहे। नरेन्द्र दामोदर मोदी 26 मई,2014 से 25 मई,2019 तक रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...