पूर्णिया : अचानक तेज धमाका के साथ विद्यालय के बरामदे का एक हिस्सा टूटकर जमीन पर गिरा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 1 मई 2019

पूर्णिया : अचानक तेज धमाका के साथ विद्यालय के बरामदे का एक हिस्सा टूटकर जमीन पर गिरा

school-building-colapsed-purnia
पूर्णिया (आर्यावर्त संवाददाता) : जिले के डगरुआ प्रखंड क्षेत्र के बेलगच्छी पंचायत अंतर्गत रईसा प्राथमिक विद्यालय गंडवास हरिजन टोला में विद्यालय के बरामदे की छत वाली दीवार बीम सहित अचानक धराशायी हो गई। संयोग से उस वक्त भवन का छज्जा बीम सहित धराशायी हुआ जब विद्यालय बंद था। अन्यथा कई मासूमों की जाने जा सकती थी। अब भी भवन की छत कई जगहों पर क्रैक है। इससे बच्चे तो खौफजदा हैं ही उनके अभिभावकों की चिंता बढ़ गई है। बच्चों को विद्यालय भेजने से अब वे डरने लगे हैं। ग्रामीणों ने प्रधानाध्यापक के प्रति आक्रोश जताते हुए कहा कि पूर्व से विद्यालय का भवन जर्जर हालत में है। जिस पर कई बार प्रधानाध्यापक को भवन को दुरुस्त करवाने का आग्रह भी किया गया लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिस कारण बड़ा हादसा होते होते टल गया। यह तो गनीमत रही कि उस वक्त विद्यालय में कोई बच्चे नहीं थे जबकि इस विद्यालय में करीब एक सौ बच्चे नामांकित हैं। ग्रामीणों का कहना है प्रधानाध्यापक विगत लगभग 13 वर्षों से इस विद्यालय में पदस्थापित हैं।  विद्यालय की जर्जर स्थिति जानते हुए भी घोर लापरवाही कर रहे हैं। ग्रामीणों द्वारा कुछ भी सलाह दिए जाने पर भी वे कोई तवज्जो नहीं देते हैं। ग्रामीणों ने कहा कि उक्त विद्यालय के भवन निर्माण कार्य को इन्होंने ही करवाया था। जिसमें बरती गई अनियमितता के चलते आज भवन की यह स्थिति है। भवन निर्माण के बाद आज तक इसकी स्थिति को झांकने तक कोई नहीं आया। भवन निर्माण की उच्च स्तरीय जांच की मांंग ग्रामीणों ने की है। इस संबंध में प्रधानाध्यापक सुरेश कुमार ने कहा कि हमने विद्यालय भवन का निर्माण नहीं किया। भवन भूकंप में जर्जर हो गया था। इस पर हमने अपने स्तर से विभाग को लिखित रूप से शिकायत भी की थी जिसपर कोई अमल नहीं हुआ। प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी विनायक त्रिपाठी ने कहा कि इस संबंध में हमें जानकारी नहीं है और न ही किसी प्रकार का कोई आवेदन हमें प्राप्त हुआ है।

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...