झारखंड : पीएम मोदी व अमित साह रंगा-बिल्ला की तरहः सुबोधकांत सहाय - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 12 मई 2019

झारखंड : पीएम मोदी व अमित साह रंगा-बिल्ला की तरहः सुबोधकांत सहाय

subodh-knt-attack-modi-shah
राजनैतिक दिवालियेपन के षिकार हो चुके हैं मोदी। देष को गुमराह करना चाहते हैं, उन्मादी बनाना चाहते हैं। स्व0 राजीव गाँधी को भी उन्होंने नहीं छोड़ा। पीएम मोदी और तड़ीपार भाजपा अध्यक्ष अमित साह रंगा-बिल्ला की तरह हैं। जुमले में सभी वायदे खत्म कर दिये। जिला काॅग्रेस कमिटी, दुमका के दफतर में महागठबंधन के प्रत्याषी षिबू सोरेन के पक्ष में प्रचार के लिये दुमका पहुँचे काॅग्रेसी नेता सुबोध कांत सहाय ने उपरोक्त बातें कही। उन्होंने कहा 5 वर्षो तक सहयोगियों को दुत्कारते रहने वाले मोदी अब पैर पकड़कर क्षमा मांगते हुए देखे जा रहे। मोदी मदाड़ी और जम्हूरा रघुवर ने सारी हदें पार रखी है। श्री सहाय ने कहा दिल्ली की सरकार बदलेगी तो यहाँ की सरकार को लात मारकर बदल देंगे। काॅग्रेस नेता तारिक अनवर ने कहा कि काठ की हांडी बार-बार नहीं चढ़ायी जा सकती। बदलाव होना चाहिए। लोग नतीजे पर पहुँचें। गइबंधन में हर प्रकार का समन्वय बना रहे इसके लिये एकजुटता के साथ मोदी व रघुवर के विरोध में खड़े रहना होगा। उन्होंने कहा काॅग्रेस वर्ष 2004 के परफाॅरमेंस की दिषा में आगे बढ़ रही है। इस गठबंधन में कई नये चेहरे हैं। उन्होंने कहा 5 वर्षों में एक भी उपलब्धी इस सरकार की नहीं रही। चुनाव देष की एकता व अखंडता के लिये काफी महत्वपूर्ण हैं। झामुमों के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि एक सुनियोजित साजिष के तहत झारखण्ड के संताल परगना में सबसे अंतिम मतदान की तिथि रखी गईं छठा चरण मतदान का खत्म हो चुका है। अंतिम चरण बचा हैं महागठबंधन वर्ष 2004 की स्थिति को दुहराएगा। जिन मुद्दों पर एनडीए मैदान में है, वर्ष 2014 के मुद्दे लोगों को याद हैं। जनता के साथ वादाखिलाफी का जबाव जनता मतदान के माध्यम से देेगी। इस अवसर पर श्यामल सिंह, डाॅ0 अंजुला मुर्मू व अरबी खातुन मौजूद थीं। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Loading...